Create
Notifications

जावेद मियांदाद ने भारत के साथ द्विपक्षीय सीरीज नहीं होने पर दिया विवादित बयान

Naveen Sharma

क्रिकेट के मैदान से लेकर बाहर तक विवादों में घिरे रहने वाले पूर्व पाक खिलाड़ी जावेद मियांदाद ने एक बार फिर बड़बोला बयान दिया है। उन्होंने भारत के साथ द्विपक्षीय सीरीज नहीं होने को लेकर कहा कि पाकिस्तान को बीसीसीआई से भीख नहीं मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हमें भारत के साथ सीरीज भूलकर आगे बढ़ना चाहिए।

कराची में एक कार्यक्रम के दौरान मियांदाद ने कहा कि पाकिस्तान को अपने देश में क्रिकेट में ढांचागत सुधार करने की जरूरत है। आगे उनका कहना था कि भारत हमसे नहीं खेलेगा तो हमारा क्रिकेट समाप्त नहीं होगा। हमें इसे भूलकर आगे बढ़ना चाहिए और द्विपक्षीय मैचों के लिए पीसीबी को बीसीसीआई से भीख नहीं मांगनी चाहिए।

मियांदाद यहीं नहीं रुके और कहा कि पिछले 10 वर्ष से हमारे साथ वे नहीं खेले तो क्या हमारा क्रिकेट नीचे गया है, हमने चैंपियंस ट्रॉफी जीती है, यह हमारे आगे बढने का प्रमाण है। पाकिस्तान में 2009 के बाद अन्तरराष्ट्रीय मैच नहीं हुआ लेकिन प्रदर्शन पर असर नहीं पड़ा है।

गौरतलब है कि भारत में पाकिस्तान प्रायोजित आतंकी हमलों के चलते दोनों देशों के क्रिकेट सम्बन्धों पर भी असर पड़ा है और खेल नहीं हो रहा है। आईसीसी द्वारा होने वाले टूर्नामेंटों के अलावा अन्य किसी भी तरह की क्रिकेट दोनों देशों के बीच नहीं हो रही है। इस तनाव के चलते 2016 में हुए अंडर 19 एशिया कप को भारत से मलेशिया स्थानांतरित कर दिया गया था।

भारत सरकार ने भी स्पष्ट किया है कि आतंकवाद और क्रिकेट एक साथ नहीं चल सकते। हाल ही में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने यह बात कही थी। इससे पहले सत्ताधारी दल के अध्यक्ष अमित शाह ने भी कहा था कि आईसीसी द्वारा आयोजित टूर्नामेंटों के अलावा भारत कोई द्विपक्षीय सीरीज पाक के साथ नहीं खेलेगा।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने कई बार सीरीज नहीं खेलने को लेकर कोर्ट और आईसीसी के लीगल फॉर्म में बीसीसीआई को घसीटने की धमकियां भी दी है।


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...