Create

"WBBL में आठ भारतीय खिलाड़ी खेल रही हैं, इससे पता चलता है कि देश में कितनी प्रतिभा है" जेमिमा का बयान

जेमिमा रॉड्रिग्‍ज ने द हंड्रेड और फिर महिलाओं के बिग बैश लीग में दमदार प्रदर्शन किया
जेमिमा रॉड्रिग्‍ज ने द हंड्रेड और फिर महिलाओं के बिग बैश लीग में दमदार प्रदर्शन किया

मध्‍यक्रम की महिला बल्‍लेबाज जेमिमा रॉड्रिग्‍ज (Jemimah Rodrigues) ने बुधवार को कहा कि हाल ही में संपन्‍न महिलाओं की बिग बैश लीग (Women's Big Bash League) में भारत (India Women Cricket team) की आठ खिलाड़ी खेली, जिससे साबित होता है कि देश में कितनी प्रतिभा है।

जेमिमा ने हाल ही में संपन्‍न डब्‍ल्‍यूबीबीएल में मेलबर्न रेनेगेड्स का प्रतिनिधित्‍व किया था। दाएं हाथ की महिला बल्‍लेबाज अच्‍छी फॉर्म में थीं। उन्‍होंने द हंड्रेड के बाद ऑस्‍ट्रेलिया की घरेलू टी20 लीग में भी शानदार प्रदर्शन किया।

जेमिमा ने एएनआई से बातचीत में कहा, 'हां, निश्चित ही मैं अपना अच्‍छा फॉर्म बरकरार रखना चाहूंगी। कोई भी ऐसा करना पसंद करेगा। भारत की जर्सी में यह करना ज्‍यादा उत्‍साहजनक लगता ह और यही मेरा लक्ष्‍य है कि मुझे जो भी भूमिका दी जाए, मैं उसे निभाते हुए टीम की जीत में योगदान दे सकूं। मैं इस ओर ध्‍यान दे रही हूं। बहुत उत्‍साहित हूं और अगले साल पर ध्‍यान दे रही हूं, जो काफी व्‍यस्‍त रहने वाला है।'

जेमिमा ने आगे कहा, 'मेरे ख्‍याल से यह हम सभी के लिए आशीर्वाद रहा। हम लंबे समय तक ऑस्‍ट्रेलिया में रहे। इस अनुभव ने हमें अच्‍छी जगह रखा। आठ भारतीय डब्‍ल्‍यूबीबीएल में खेली और इससे पता चलता है कि हमारे देश में कितनी प्रतिभा है। मेरे ख्‍याल से यह हम सभी के लिए उत्‍साहजनक था और हम भारत के लिए दोबारा खेलने का इंतजार नहीं कर सकते।'

स्‍मृति मंधना ने शानदार पारी खेली थी: जेमिमा रॉड्रिग्‍ज

इतने सालों में जेमिमा रॉड्रिग्‍ज ने ओपनर स्‍मृति मंधाना के साथ मजबूत रिश्‍ता बनाया। ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ डे/नाइट टेस्‍ट में स्‍मृति मंधाना के शतक को काफी ऊंचा रेट किया और उनकी जमकर तारीफ की।

जेमिमा ने कहा, 'मेरे ख्‍याल से स्‍मृति मंधना वनडे में भी 80 करीब रन बनाए थे। वो शानदार बल्‍लेबाजी कर रही थीं। डे/नाइट टेस्‍ट में उन पर 80 को शतक में तब्‍दील करने में दोहरा दबाव था। जब वो 80 रन पर खेल रही थी तो काफी घबराई हुई थी। स्‍मृति मंधना को बल्‍लेबाजी करते देख बहुत अच्‍छा लगा। वो उनकी करियर की सर्वश्रेष्‍ठ पारियों में से एक है। मैं उनको बल्‍लेबाजी करते देख बहुत खुश थी।'

21 साल की जेमिमा ने आगे कहा, 'आप जो भी करो, आपसे उम्‍मीद होगी। मेरे लिए यह सीखने वाली प्रक्रिया रही। मुझे खेल से प्‍यार है और इसलिए मैं खेलती हूं। मैं बस क्रीज पर जाती हूं और वो करती हूं, जो करती आई हूं।'

Quick Links

Edited by Vivek Goel
Be the first one to comment