झूलन गोस्वामी को कंधों पर बैठाकर मैदान का चक्कर लगाया गया, भारतीय टीम ने दी शानदार विदाई

झूलन गोस्वामी ने बेहतरीन गेंदबाजी का प्रदर्शन किया
झूलन गोस्वामी ने बेहतरीन गेंदबाजी का प्रदर्शन किया

झूलन गोस्वामी (Jhulan Goswami) ने इंग्लैंड के खिलाफ अंतिम वनडे मुकाबले के साथ ही अपने करियर को अलविदा कह दिया। टीम इंडिया ने इस मैच को 16 रनों से जीतते हुए मेजबान टीम को क्लीन स्वीप किया। झूलन गोस्वामी के लिए इस मैच में कई यादगार पल रहे। इसमें एक यह भी रहा कि उनको कंधों पर बैठाकर मैदान का चक्कर लगवाया गया।

इंग्लैंड के खिलाफ मुकाबले में जीत के बाद झूलन गोस्वामी ने टीम की अन्य खिलाड़ियों के साथ तिरंगा हाथ में लेकर दर्शकों का अभिवादन स्वीकार किया। उन्होंने मैदान का चक्कर लगाया। इसके बाद उनको साथी खिलाड़ियों ने कंधों पर बैठाते हुए मैदान का चक्कर लगाया। यह कुछ ऐसा ही था जैसे सचिन तेंदुलकर के साथ साल 2011 के वर्ल्ड कप में जीत के समय हुआ था। उस समय तेंदुलकर को कंधों पर बैठाकर खिलाड़ियों ने मैदान का चक्कर लगाया था।

अपने यादगार मुकाबले में गोस्वामी का स्पेल भी यादगार ही रहा। उन्होंने अपने 10 ओवरों में 3 मेडन डाले और 30 रन देकर 2 विकेट झटके। वनडे करियर में उन्होंने कुल 255 विकेट अपने नाम किये। इस तरह इस दिग्गज ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर को विराम दे दिया।

मैच से पहले हरमनप्रीत कौर ने झूलन गोस्वामी को टॉस के समय मैदान पर बुलाया। दोनों साथ में गईं और झूलन ने ही हेड्स और टेल्स के बारे में बताया। इससे पहले झूलन ने हरमनप्रीत कौर को गले भी लगाया और हरमनप्रीत कौर की आँखों में आंसू आ गए। इस तरह टीम इंडिया ने अपनी इस लीजेंड को शानदार विदाई दी।

झूलन गोस्वामी का इंग्लिश टीम ने भी सम्मान किया। वह बैटिंग के लिए आईं, तो मेजबान टीम ने गार्ड ऑफ़ ऑनर दिया। हालांकि वह गोल्डन डक पर आउट हो गईं। भारतीय टीम ने सीरीज में इंग्लैंड को 3-0 से हरा दिया।

Quick Links

Edited by Naveen Sharma