Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

'विराट कोहली की कप्तानी को एक सीरीज के आधार पर ना आंका जाए'

EXPERT COLUMNIST
Modified 11 Oct 2018
Advertisement

1982 वर्ल्ड कप विनिंग टीम के पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव को लगता है कि हम सबको विराट कोहली की कप्तानी पर कोई भी राय देने से पहले, उन्हें थोड़ा समय देना चाहिए। अगर हम उन्हें एक सीरीज के प्रदर्शन पर उनकी समीक्षा करेंगे, तो उनके लिए यह अनुचित होगा। कोहली इस समय क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में जबर्दस्त फॉर्म में है और उन्होंने मौजूदा सीरीज में पहले ही टेस्ट मैच में वेस्ट इंडीज के खिलाफ अपनी पहली डबल सेंचुरी भी लगाई। कपिल देव को लगता है कि कोहली और लोकेश राहुल दोनों ही टैलेंटिड बल्लेबाज़ हैं, लेकिन इन दोनों आगे बढने के लिए लगातार इस प्रदर्शन को दोहराना होगा।

टाइम्स ऑफ इंडिया ने कपिल देव के हवाले से लिखा, "विराट को कप्तान के रूप में परखने के लिए हमे उन्हें थोड़ा और समय देना चाहिए। हम एक सीरीज में उनके प्रदर्शन के आधार पर उन्हें नहीं आंक सकते।" उन्होंने जोड़ते हुए कहा, "हम किसी भी खिलाड़ी को इंडियन प्रीमियर लीग के एक सीजन या फिर सिर्फ एक टेस्ट सीरीज के आधार पर नहीं आंक सकते, विश्व के महानतम ऑल राउंडर में से एक कपिल देव का मानना है कि युवा खिलड़ियों ने टीम में सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़, सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण की कमी नहीं खलने दी हैं। उन्होंने रविचंद्रन अश्विन के प्रदर्शन की भी तारीफ की और उन्हें टीम में अनिल कुंबले का उतराधिकारी बताया। लेजेंड ऑल राउंडर ने यह भी कहा, "युवा खिलाड़ियों ने टीम में पिछले जनरेशन के खिलाड़ियों की भरपाई की हैं। कोहली और अश्विन ने अपने कंधों पर टीम की अतिरिख्त ज़िम्मेदारी उठाई हुई हैं। विराट कोहली टेस्ट में इंडिया के कप्तान 2014 में बने थे, जब लिमिटिड ओवर्स टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टेस्ट क्रिकेट से सन्यास का फ़ैसला ले लिया था। उस सीरीज में उन्होंने लगभाग टीम को पहले मैच जीता दिया था, लेकिन अंत में वो मैच हार गए। विराट कोहली को अब तक कप्तान के रूप में जितने भी मौके मिले है, उन्होंने उसमें सबको काफी प्रभावित किया है, हालांकि उनकी असली परीक्षा इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, साउथ अफ्रीका और न्यूज़ीलैंड जसी देशों में जाकर होगी। उन्हीं की कप्तानी में इंडिया ने 22 साल बाद श्रीलंका में कोई टेस्ट सीरीज जीती और इंडिया में साउथ अफ्रीका को 3-0 से टेस्ट में हराया। इस बात में कोई शक नहीं है कि आने वाले समय में वो वर्ल्ड के महानतम बल्लेबाज़ बनेंगे, लेकिन एक महानतम कप्तान बनेंगे या नहीं यह तो वक़्त ही बताएगा।
Published 03 Aug 2016, 12:19 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now