क्रिकेट

Syed Mushtaq Ali Trophy 2018: 2 रन की वजह से हुआ विवाद, अगला मैच 13-13 ओवर का कराना पड़ा

टीम के स्कोर में बाद में 2 रन जोड़ने की वजह से हैदराबाद को 1 रन से हार का सामना करना पड़ा

विशाखापट्नम में खेले जा रहे सैयद मुश्ताक अली टी -20 टूर्नामेंट में कर्नाटक और हैदराबाद के बीच मैच में अंपायर की छोटी से गलती की वज़ह से मैदान पर बवाल हो गया।गुरुवार को हुए इस मैच में हैदराबाद के कप्तान अम्बाती रायडू ने टॉस जीत कर पहले गेंदबाज़ी करने का फैसला लिया। मामला तब हुआ जब कर्नाटक के ओपनर करुण नायर ने मोहम्मद सिराज की गेंद को मिड विकेट की ओर खेला, गेंद को पकड़ते वक़्त क्षेत्ररक्षक मेहंदी हसन का पैर बाउंड्री लाइन पर लग गया था।  अंपायर उल्हास गांधी ने इस गेंद पर 2 रन दे दिए थे, लेकिन वीडियो रीप्ले के बाद कर्नाटक के खिलाड़ियों ने थर्ड अंपायर को सूचित किया पर थर्ड अंपायर और अंपायर के बीच तालमेल न होने के कारण अंपायर ने 2 रन ही दिए।

अंपायर ने मैच के बाद कुल स्कोर में 2 और रन जोड़ दिए थे जिससे कर्नाटक का स्कोर 205 रन हो गया, जवाबी खेल में हैदराबाद ने 203 रन बना लिए थे। अब असल बवाल यहीं से शुरू हुआ, पहले के स्कोर के हिसाब से हैदराबाद मैच टाई करा चुका था। लेकिन अंपायर के द्वारा बाद में दो रन जोड़े जाने की वजह से हैदराबाद को 1 रन से हार मिली। इसी पर हैदराबाद के कप्तान रायडू ने आपत्ति जताई और उन्होंने अंपायर से सुपर ओवर करवाने की मांग की। रायडू ने कहा की उन्हें भी नियमों की जानकारी है, अगर अंपायर किसी को आउट देते हैं और वो मैदान के बाहर चला जाता है और उसके बाहर जाने के बाद पता चलता है कि बल्लेबाज़ को गलत आउट दिया गया है, तो क्या उसे वापस बल्लेबाज़ी के लिए बुलाया जाता है?


काफ़ी देर तक बहस चलती रही, जिसकी वजह से अगला मुक़ाबला देर से शुरू हुआ और उसे 20-20 ओवर से घटाकर 13-13 ओवर का करना पड़ा। कर्नाटक की पारी के बाद भी मुक़ाबला इसी बात पर रुका रहा था, और क़रीब 9 मिनट की देरी से हैदराबाद की पारी शुरू हुई थी।

मैदान पर हुए इस विवाद के बाद बीसीसीआई ने कहा की वो मैच रेफ़री द्वारा भेजी गयी आधिकारिक रिपोर्ट आने पर ही बीसीसीआई आचार संहिता के अंतर्गत कुछ फैसला करेंगे। इससे पहले कर्नाटक के कप्तान विनय कुमार हैदराबाद की पारी शुरू होने से पहले अंपायर के पास गए और अंपायर को 2 रन जोड़ने को कहा जिससे टारगेट 204 से बढ़कर 206 हो गया। मैच ख़त्म होने के बाद रायडू का कहना है कि वो अंपायर के पास गए थे और उन्होंने कहा कि सर आप मैच के दौरान टारगेट बदल नहीं सकते लेकिन पता नहीं कुछ उलझन हो गयी|