Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

भारत की तरफ से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में हैट्रिक लेने वाले गेंदबाज

ऋषि
ANALYST
Modified 25 Sep 2017
Advertisement

  कोलकाता में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे एकदिवसीय मैच के दौरान युवा चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने हैट्रिक लेकर मैच का रुख भारत की तरफ मोड़ दिया। मैच में कई खिलाड़ियों ने उम्दा प्रदर्शन किया लेकिन कुलदीप यादव के हैट्रिक ने सभी को पीछे छोड़ दिया। ऑस्ट्रेलियाई पारी के 33 ओवर में कुलदीप ने मैथ्यू वेड, एस्टन एगर और पैट कमिंस का विकेट झटक कर यह कारनामा किया। 22 साल का ये स्पिन गेंदबाज एकदिवसीय मैचों में हैट्रिक लेने वाला तीसरा भारतीय गेंदबाज है और दुनिया में 43वां। इसके साथ ही कुलदीप मात्र 5वें ऐसे गेंदबाज है जिसने सभी विकेट अलग-अलग तरीके से लिए है, जिसमें बोल्ड, एलबीडबल्यू और कैच शामिल है। कुलदीप के अलावा जिन 4 अन्य गेंदबाजों ने ऐसा किया है उनमें चमिंडा वास, परवेज महरूफ, कगिसो रबाडा और जेम्स फॉकनर शामिल हैं। इसके साथ ही ईडन गार्डन कोलकाता के मैदान पर यह तीसरा हैट्रिक है। कुलदीप को मिलाकर कुल 5 भारतीय गेंदबाजों ने अन्तर्राष्ट्रीय मैचों में यह कारनामा किया है, आज हम आपको उन्हीं के बारे में बतायेंगे #1 चेतन शर्मा बनाम न्यूजीलैंड, 1987 विश्वकप CHETAN   1986 विश्व कप के दौरान चेतन शर्मा से भारतीय क्रिकेट प्रेमी नाराज थे। इसका कारण ये था कि शारजाह में ऑस्ट्रल-एशिया कप के फाइनल मुकाबले के दौरान पाकिस्तान को भारत के खिलाफ जीत के लिए अंतिम गेंद पर 4 रन चाहिए थे।चेतन शर्मा की उस आखिरी गेंद पर जावेद मियादाद ने छक्का जड़कर पाकिस्तानी टीम को यादगार जीत दिलाई थी। उसके बाद चेतन शर्मा ने अपने उम्दा प्रदर्शन से प्रशंसकों के दिल में फिर घर बना लिया। पहले उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ उन्हीं की सरजमीं पर 16 विकेट झटक कर भारत को सीरीज 2-0 से जीतने में मदद की और उसके बाद चेतन शर्मा ने जो किया वह इतिहास बन गया। 1987 विश्वकप के अंतिम लीग मैच में भारत का मुकाबला न्यूजीलैंड से नागपुर में था। पहले बल्लेबाजी करते हुए न्यूजीलैंड की टीम एक समय 181/5 के स्कोर पर थी। उनकी तरफ से दीपक पटेल ने 40 और जॉन राइट ने 35 रन बनाये थे। इसके अलावा केन रुदरफोर्ट और क्राउन भाईयों ने भी अपना योगदान दिया था।  इसी समय चेतन शर्मा गेंदबाजी करने आये और उन्होंने रुदरफोर्ट, लेन स्मिथ और एवान चैटफील्ड को  लगातार गेंदों पर आउट कर हैट्रिक विकेट लिया। उस समय हैट्रिक विकेट लेने वाले वो पहले भारतीय गेंदबाज थे और विश्व के तीसरे गेंदबाज थे।चेतन शर्मा का वह हैट्रिक विश्वकप में किसी भी गेंदबाज द्वारा लिया गया पहला हैट्रिक था।

  न्यूजीलैंड की टीम इस झटके से नहीं उभर पाई और भारत को जीत के लिए 222 रनों का लक्ष्य मिला,  जिसे बल्लेबाजों ने आसानी से हासिल कर लिया। बल्लेबाजी में सुनील गावस्कर ने 88 गेंदों पर 103 और के श्रीकांत ने 58 गेंदों पर 75 रनों की पारी खेलकर भारत को जीत तक पहुंचा दिया। इस जीत के साथ ही भारतीय टीम अपने ग्रुप में सबसे ऊपर रही। चेतन शर्मा और सुनील गवास्कर दोनों को ही मैन ऑफ़ दी मैच चुना गया।
1 / 5 NEXT
Published 25 Sep 2017, 15:22 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now