मोहम्मद कैफ की तूफानी पारी गई बेकार, गौतम गंभीर की टीम जीत के साथ तालिका में टॉप पर

मोहम्मद कैफ ने बेहतरीन अर्धशतक जमाया
मोहम्मद कैफ ने बेहतरीन अर्धशतक जमाया

इंडिया कैपिटल्स ने हैमिल्टन मसाकाद्जा (नाबाद 68) की बेहतरीन पारी के दम पर बाराबाती स्टेडियम में गुरुवार को खेले गए लीजेंड्स लीग क्रिकेट 2022 के अपने अंतिम लीग मैच में मणिपाल टाइगर्स को 7 विकेट से हरा दिया।

टाइगर्स द्वारा दिए गए 162 रनों के लक्ष्य को इंडिया कैपिटल्स ने आसानी से 17.2 ओवरों में तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया। यह इंडिया कैपिटल्स की पांच मैचों में तीसरी जीत है। उसके सात अंक हो गए हैं और वह अंक तालिका में सबसे ऊपर विराजमान है। टाइगर्स की यह पांच मैचों में तीसरी हार है।

इससे पहले, मणिपाल टाइगर्स ने टास हारने के बाद पहले बैटिंग करते हुए 20 ओवरों में पांच विकेट पर 161 रन बनाए। इसमें जेसी राइडर के 79 और मोहम्मद कैफ के तेज 67 रन शामिल हैं। इन दोनों के अलावा टाइगर्स का कोई और बल्लेबाज दहाई तक नहीं पहुंच सका।

30 रन के कुल योग पर तातेंदा ताएबू (5) का विकेट गिरने के बाद राइडर औऱ कैफ ने दूसरे विकेट के लिए 126 रनों की साझेदारी की। राइडर 156 रनों के कुल योग पर लियाम प्लंकेट का शिकार हुए। राइडर ने 56 गेंदों की पारी में पांच चौके और पांच छक्के लगाए।

कैफ भी कुल योग में एक रन जुड़ने के बाद ही आउट हो गए। कैफ ने 48 गेंदों की पारी में 9 शानदार चौके और एक छक्का लगाया। कप्तान हरभजन सिंह 1 रन पर नाबाद लौटे जबकि कोरी एंडरसन (4) और प्रदीप साहू (0) ने निराश किया।

इंडिया कैपिटल्स की ओर से रजत भाटिया औऱ प्लंकेट ने दो-दो विकेट लिए जबकि मिचेल जॉनसन को एक सफलता मिली।

जवाब में खेलने उतरी इंडिया कैपिटल्स टीम ने 23 रनों के कुल योग पर अपने कप्तान गौतम गंभीर (15) का विकेट गंवा दिया। गंभीर अच्छी लय में दिख रहे थे और 9 गेंदों पर तीन चौके लगा चुके थे लेकिन तीसरे ओवर में क्रिस्टोफर मोफू ने उन्हें अपने जाल में फंसा लिया।

इसी तरह सोलोमन मीरे भी अच्छी लय में दिख रहे थे लेकिन वह भी बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे। छठे ओवर में उनको दिलहारा फर्नांडो ने अपना शिकार बनाया। मीरे ने 19 गेदों पर तीन चौकों और एक छक्के की मदद से 28 रन बनाए।

इसके बाद हालांकि हैमिल्टन मासाकाद्जा और रॉस टेलर ने बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए न सिर्फ टीम को 100 के पार पहुंचाया बल्कि जीत की स्थिति में लाकर खड़ा कर दिया। अंतिम 8 ओवरों में इंडिया कैपिटल्स को जीत के लिए 43 रनों की जरूरत थी।

इसी बीच सुपर सब मुथैया मुरलीधरन ने अपनी कलाई का जादू दिखाते हुए टेलर को चलता कर दिया। टेलर का विकेट 137 के कुल योग पर गिरा। मसाकाद्जा के साथ मैच विनिंग 86 रनों की साझेदारी करने वाले टेलर ने 27 गेंदों पर एक चौके और दो छक्कों की मदद से 29 रन बनाए।

अब मसाकाद्जा का साथ देने एश्ले नर्स आए, जो कैपिटल्स के लिए शतक लगा चुके हैं। अंतिम चार ओवर में कैपिटल्स को सिर्फ 16 रन बनाने थे और जीत बिल्कुल करीब थी। इसका पूरा श्रेय मसाकाद्जा को जाता है, जिन्होंने न सिर्फ तेज पारी खेली बल्कि अपना विकेट भी बचाए रखा। नर्स ने हालांकि मसाकाद्जा पर से दबाव कम करते हुए सिर्फ 11 गेदों पर तीन छक्कों की मदद से नाबाद 21 रन बनाकर इंडिया कैपिटल्स की जीत पक्की कर दी।

Edited by Naveen Sharma
Be the first one to comment