युसूफ पठान की तूफानी पारी गई बेकार, टीम को अंत में मिली करीबी हार

युसूफ पठान ने अपनी टीम को जीत दिलाने का प्रयास किया
युसूफ पठान ने अपनी टीम को जीत दिलाने का प्रयास किया

लीजेंड्स लीग क्रिकेट (LLC) में हरभजन सिंह की कप्तानी वाली मणिपाल टाइगर्स ने कटक के बाराबाती स्टेडियम में सोमवार को खेले गए एक रोमांचक मुकाबले में भीलवाड़ा किंग्स को 3 रनों से हराकर आगे जाने की अपनी संभावनाओं को ज़िंदा रखा है। यह टाइगर्स की टूर्नामेंट में पहली जीत है।

टाइगर्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 8 विकेट पर 175 रन बनाए। जवाब में इरफान पठान की कप्तानी वाली किंग्स टीम 20 ओवरों में 9 विकेट पर 172 रन ही बना सकी। टाइगर्स के लिए दिलहारा फर्नांडो ने 31 रन देकर चार विकेट झटके। इसके साथ टाइगर्स ने किंग्स से पिछले मैच में मिली हार का हिसाब भी बराबर कर लिया। किंग्स की यह चार मैचों में दूसरी हार है।

इससे पहले, टास हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए मणिपाल टाइगर्स ने 20 ओवर में 8 विकेट पर 175 रन बनाए। इसमें जेसी राइडर के 47, तातेंदा तैबू के 54, कोरी एंडरसन के 24 और मोहम्मद कैफ के 28 रन शामिल हैं।

राइडर औऱ तैबू ने बेहतरीन शुरुआत करते हुए 64 गेंदों पर 109 रनों की साझेदारी। राइडर 35 गेंदों पर 6 चौके और दो छक्के लगाने के बाद आउट हुए। उनका विकेट यूसुफ पठान ने लिया। कुल योग मे एक रन ही जुड़ा था कि पठान ने तैबू को भी चलता कर दिया। तैबू ने 30 गेंदों का सामना कर पांच चौके और चार छक्के लगाए।

इसके बाद जेसल कारिया ने प्रदीप साहू (0) को आउट कर टाइगर्स को तीसरा झटका दिया। इसके बाद कोरी और कैफ ने चौथे विकेट के लिए अर्धशतकीय साझेदारी करते हुए टीम को मजबूत स्थिति में पहुंचाया। कोरी 168 और कैफ 170 के कुल स्कोर पर आउट हुए। इस बीच टाइगर्स ने 170 के कुल योग पर ही दो और विकेट गंवाए।

भीलवाड़ा किंग्स की ओर से टिनो बेस्ट ने अच्छा प्रदर्शन करते हुए तीन विकेट चटकाए जबकि युसूफ को दो सफलता मिली। फिडेल एडवर्ड्स और कारिया ने एक-एक विकेट लिया।

जवाब में किंग्स की शुरुआत अच्छी नहीं रही। किंग्स ने चार रन के कुल योग पर ही मोर्ने वान विक (4) का विकेट गंवा दिया। इसके बाद विलियम पोर्टरफील्ड (28) ने मैट प्रायर (17) के साथ दूसरे विकेट के लिए 43 रनों की साझेदारी की। पोर्टरफील्ड 23 गेंदों पर तीन चौके और दो छक्के लगाकर आउट हुए।

मैट प्रायर भी अधिक देर विकेट पर नहीं टिक सके। उनका विकेट 55 के कुल योग पर गिरा। इसके बाद तन्मय श्रीवास्तव (26 रन, 24 गेंद, 2 चौके) ने जेसल कारिया (14) के साथ स्कोर को 82 तक पहुंचाया लेकिन वह भी चलते बने। उनका स्थान युसूफ (42 रन, 21 गेंद, 2 चौके, 4 छक्का) ने लिया।

उस समय तक किंग्स को 38 गेंदों पर 71 रनों की जरूरत थी। युसूफ को हालांकि अधिक देर तक तन्मय का साथ नहीं मिला क्योंकि वह 112 के कुल योग पर आउट हुए। अब यूसुफ ने अपने छोटे भाई और कप्तान इरफान (23 रन, 14 गेंद, 2 चौके, 2 छक्के) के साथ कमान संभाली। दोनों ने तेजी से रन बनाते हुए स्कोर को 140 तक पहुंचाया। अंतिम 18 गेंदों पर किंग्स को 36 रनों की जरूरत थी।

रयान साइडबॉटम के ओवर में 19 रन लेने के बाद यूसुफ ने दिलहारा द्वारा फेंके जा रहे 18वें ओवर की पहली गेंद पर छक्का लगाया। फिर इरफान ने चौथी गेंद पर एक और छक्का लगाया। अब 14 गेंदों पर 23 रनों की जरूरत थी। पांचवीं गेंद पर हालांकि वह लपक लिए गए। युसूफ और राजेश बिश्नोई (7) ने परविंदर अवाना द्वारा फेंके गए 19वें ओवर में 13 रन बटोरे लेकिन अवाना ने अंतिम गेंद पर युसूफ को कैफ के हाथों कैच करा दिया।

अंतिम ओवर में किंग्स को जीत के लिए 9 रनों की जरूरत थी। फर्नांडो ने पहली ही गेंद पर बिश्नोई को कैफ के हाथों कैच करा दिया। अब टिनो बेस्ट और टिम ब्रेस्नन विकेट पर थे। बेस्ट ने तीसरी गेंद पर बाहरी किनारे की मदद से दो रन लिए। अब तीन गेंदों पर 6 रन चाहिए थे। फर्नांडो ने बेस्ट को बोल्ड कर इसकी संभावना लगभग खत्म कर अपनी टीम की पहली जीत सुनिश्चित की।

Edited by Naveen Sharma
App download animated image Get the free App now