ज़िम्बाब्वे दौरे के लिए महेंद्र सिंह धोनी का फैसला आना अभी बाकी

जून में होने वाले ज़िम्बाब्वे दौरे के लिए भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को चयनकर्ताओं ने ये पूछा है कि वो टीम के साथ जाना चाहते हैं या नही? हालाँकि इस बात की उम्मीद थी कि तीन एकदिवसीय और तीन टी20 वाले इस छोटे दौरे के लिए सीनियर खिलाड़ियों को आराम दिया जा सकता है लेकिन अब संदीप पाटिल ने धोनी से ये जवाब माँगा है कि क्या वो टीम के साथ ज़िम्बाब्वे जाना चाहते हैं और जल्द ही इसके बारे में चयन समिति को जानकारी दें। चयनकर्ता धोनी को इस टीम में इसलिए भी शामिल करना चाहते हैं क्योंकि भारतीय टीम को ज़िम्बाब्वे दौरे के बाद लगातार टेस्ट ही खेलने हैं और धोनी ने टेस्ट से संन्यास ले लिया है। ऐसे में धोनी अगर टीम के साथ गए तो उनका अनुभव भी काम आएगा। विराट कोहली, शिखर धवन और रोहित शर्मा को इस दौरे की टीम में शामिल नही किया जाएगा और उन्हें आराम दिया जा रहा है। अगर धोनी टीम के साथ जाने के लिए हाँ करते हैं तो फिर वही टीम की कमान संभालेंगे और अगर वो नही गए तो उनकी जगह पिछले साल की तरह एक बार फिर अजिंक्य रहाणे को कप्तानी का मौका दिया जा सकता है। पूर्व भारतीय चयनकर्ता किरण मोरे का कहना है कि अगर धोनी नन्ही गए तो उनकी जगह नियमित विकेटकीपर को भेजना चाहिए और ऐसे में नमन ओझा का दावा सबसे मजबूत है। संजू सैमसन भी अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हैं लेकिन उन्हें विकेटकीपिंग में अभी बहुत ज्यादा सुधार करने की जरूरत है।

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment