श्रीलंका के तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा पर छह महीने निलंबन और 50 प्रतिशत जुर्माना लगा

श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) ने मंगलवार को घोषणा की है कि तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा पर टूर कांट्रेक्ट के उल्लंघन करने के कारण अनुशासनात्मक कार्यवाही की गई है। श्रीलंका क्रिकेट के मानद सचिव मोहन डी सिल्वा, श्रीलंका क्रिकेट के सीईओ एश्ले डी सिल्वा और अनुशासनात्मक समिति के चेयरमैन असेल रेकवा आल वाली विशेष जांच पैनल ने मलिंगा को कांट्रेक्ट के उल्लंघन का दोषी पाया। दोपहर के समय श्रीलंका हेडक्वार्टर पर जांच समिति के सामने मलिंगा ने गलती स्वीकार की और औपचारिक माफ़ी मांगी। समिति ने मलिंगा के एक साल के निलंबन की सजा को छह महीने का कर दिया था। (जिससे सजा 6 महीने की अवधि के भीतर एक समान उल्लंघन की स्थिति में लगाई जाएगी)। साथ ही मलिंगा को अपने अगले एकदिवसीय मैच फीस का 50% जुर्माने के रूप में देना होगा। हालांकि मलिंगा आगामी जिम्बाव्बे सीरीज के लिए टीम में चयन के लिए मौजूद रहेंगे। 30 जुलाई से शुरू हो रहे इस दौरे में श्रीलंका को पांच वन-डे और एक टेस्ट खेलना है। चैंपियंस ट्रॉफी में हार के बाद श्रीलंका के लिए ये दूसरा तगड़ा झटका है। मलिंगा उनके प्रमुख गेंदबाजों में से एक हैं और उनके टीम में ना रहने से गेंदबाजी क्रम कमजोर हो जाएगा। बता दें कि मलिंगा ने आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017 से लौटने के बाद दो बार समझौते की शर्तों का उल्लंघन किया। इन शर्तों के मुताबिक क्रिकेटर एसएलसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी से पहले मंजूरी लिए बगैर मीडिया में कोई बयान नहीं दे सकता। चैंपियंस ट्रॉफी में जल्दी बाहर होने के बाद श्रीलंका के खेल मंत्री जयसेकरा की फिटनेस पर सवाल किया था। उन्होंने कहा था कि भविष्य में क्रिकेटरों का चयन फिटनेस पर निर्भर करेगा। यॉर्कर डालने में माहिर मलिंगा ने खेल मंत्री का मजाक बनाते हुए उन्हें क्लीन बोल्ड कर दिया। मलिंगा ने कहा कि किसी भी मैच में कैच छूट सकते हैं। जब श्रीलंका ने लीग चरण में भारत को हराया था तो किसी ने भी फिटनेस का मसला नहीं उठाया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, खेलमंत्री जयसेकरा की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए 33 वर्षीय मलिंगा ने कहा था कि उन्हें ऐसे लोगों की आलोचनाओं से कोई फर्क नहीं पड़ता जो केवल बैठकर अपनी कुर्सियां गर्म कर रहे हैं। बकौल मलिंगा, 'एक बंदर को तोते के घोंसले के बारे में क्या पता होगा? ऐसा लग रहा है कि एक बंदर तोते के घोंसले में ही बैठकर उसी घोंसले के बारे में बोल रहा हो।' मलिंगा के इस जवाब के बाद जयासेकारा ने कहा था, 'मैंने टीम के खिलाड़ियों की फिटनेस को लेकर की गई आलोचना में मलिंगा का नाम नहीं लिया था, लेकिन उन्होंने सार्वजनिक रूप से मेरा अपमान किया।'

Edited by Staff Editor