Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

हैदराबाद के खिलाफ पंजाब को जीत नहीं दिलाने से काफी निराश हैं मनन वोहरा

ANALYST
Modified 21 Sep 2018, 20:44 IST
Advertisement
मनन वोहरा की उम्र सिर्फ 23 वर्ष है और वह पांच साल से किंग्स इलेवन पंजाब टीम का हिस्सा हैं। अच्छे बल्लेबाज माने जाने वाले वोहरा हालांकि खुद स्वीकार करते रहे कि वह अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में तब्दील करने में नाकाम रहे। मगर सोमवार को सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ वोहरा एक परिपक्व बल्लेबाज नजर आए। उन्होंने बहुत ही तेजी से रन बनाए और ऐसी बल्लेबाजी की, जैसे कोई विश्व प्रसिद्ध क्रिकेटर बल्लेबाजी कर रहा हो। वोहरा ने 50 गेंदों में 95 रन की धुआंधार पारी खेली और पंजाब के लिए जीत की उम्मीदें बढ़ा दी। हालांकि, 19वें ओवर में उनका आउट होना सनराइजर्स हैदराबाद के लिए बहुत बड़ी ख़ुशी रही और पंजाब को 5 रन से शिकस्त झेलना पड़ी। 82 रन पर 6 विकेट के स्थिति से 160 रन के लक्ष्य के करीब पहुंचाने के बावजूद भी वोहरा काफी निराश हैं। मैच के बाद दाएं हाथ के ओपनर ने कहा, 'हम हैदराबाद को 160 रन के भीतर रोकने में कामयाब रहे। मेरे ख्याल से वो बड़ी उपलब्धि रही क्योंकि पिच बल्लेबाजों के लिए मददगार नजर आ रही थी। फिर हमारी पारी भी लड़खड़ाई, लेकिन मैंने भगवान से मैच नजदीक ले जाने की प्रार्थना की। मुझे मैच ख़त्म करने का सुनहरा अवसर मिला, लेकिन ऐसा नहीं कर सका, इसलिए काफी निराश हूं।' यह भी पढ़ें : सनराइजर्स हैदराबाद की रोमांचक जीत के बाद क्रिकेट जगत की प्रतिक्रियाएं मनन ने आगे कहा, 'जब मैं 30 रन पर खेल रहा था, तब अधिक ध्यान लगा रहा था क्योंकि आईपीएल में यह मेरा पांचवां वर्ष है और मैंने कभी अपने स्कोर को बड़ी पारी में तब्दील नहीं किया था। मैं सिर्फ 14-15 ओवरों तक बल्लेबाजी करने के बारे में सोच रहा था। मुझे पता था कि इतनी देर टिकने के बाद मैं बड़े शॉट्स भी खेल सकूंगा और हमारी टीम जीत के करीब पहुंच जाएगी।' 15वें और 16वें ओवर में कुल 41 रन जोड़ने वाली पंजाब को अंतिम दो ओवरों में जीत के लिए 16 रन की दरकार थी जबकि उसके तीन विकेट शेष थे। भुवनेश्वर कुमार ने ओवर की पहली गेंद पर केसी करियप्पा को और फिर तीसरी गेंद पर मनन वोहरा को अपना शिकार बनाकर मैच हैदराबाद की झोली में डाल दिया। वोहरा ने बताया कि उन्हें भुवी का पूरा ओवर खेलने का संदेश भेजा गया था। उन्होंने कहा, 'ड्रेसिंग रूम से स्पष्ट संदेश मिला था कि भुवी का ओवर निकाल दे और फिर आखिरी ओवर में रनों बना ले। मैंने योजना बनाई कि भुवनेश्वर कुमार की गेंद पर एक रन लूंगा, लेकिन दुर्भाग्यवश मैं गेंद पर बल्ले का संपर्क बनाने में नाकाम रहा जो सीधे पेड पर जाकर लगी।' Published 18 Apr 2017, 18:14 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit