Create
Notifications

मंदीप सिंह ने खुद में जागे आत्मविश्वास का श्रेय राहुल द्रविड़ को दिया

सोहैल आब्दी

इंडिया-ए ने हाल ही में ऑस्ट्रेलिया-ए को फाइनल मुकाबले में मात देकर कप अपने नाम किया है। ऐसा कारनामा कर इस टीम ने सभी भारतीय समर्थकों को काफी खुश कर दिया है। इस पूरी श्रृंखला के दौरान सभी खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया है, पर एक खिलाड़ी ऐसा भी है जिसने इस जीत में अहम भूमिका निभाई है। पंजाब के धुंवाधार बल्लेबाज़ मंदीप सिंह ने इस दौरे पर बेहतरीन बल्लेबाज़ी की और आखिरी दो मैचों में 56 और 95 रनों की लाजवाब पारी खेलते हुए टीम को जीत दिलाई। ऑस्ट्रेलिया-ए के विरुद्ध फाइनल में खेली गई उनकी 95 रनों की शानदारी बल्लेबाज़ के बदौलत इंडिया-ए की टीम जीत हासिल करने में सफल रही। मैके में खेले गए इस फाइनल में इंडिया-ए ने मेज़बान को करारी शिकस्त दी। जीत के हीरो रहे मंदीप सिंह को उनके इस शानदार प्रदर्शन की वजह से दुनिया भर से तारीफें मिली और इस युवा खिलाड़ी ने बड़े प्यार से उसे स्वीकार भी किया। लेकिन उसके बाद इस खिलाड़ी ने उस व्यक्ति की जमकर सराहना की जिसकी वजह से वो ये शानदार प्रदर्शन कर पाया। एक इंटरव्यू के दौरान मंदीप सिंह ने इंडिया-ए के कोच राहुल द्रविड़ की जमकर प्रशंसा की। मंजीत के मुताबिक़ राहुल द्रविड़ ही वो शख्स हैं जिन्होंने उनके अंदर इतना आत्मविश्वास दिखाया। “ये मेरे लिए काफी गर्व की बात है कि एक इतने अनुभवी और बेहतरीन बल्लेबाज़ ने मुझे समर्थन दिया और मेरी बल्लेबाज़ी तकनीक को सुधारने में मेरी मादा की। करीब चार से पांच दिन लगातार वो मेरे साथ नेट्स में जुड़े रहे और मुझे बल्लेबाज़ी के अलग अलग गुण सिखाते रहे जिससे मुझमें आत्मविश्वास के साथ-साथ बेहतर बल्लेबाज़ी करने का हौसला भी मिला”: मंदीप सिंह मंदीप ने ये भी कहा कि अगर एक ऐसा खिलाड़ी आपको बल्लेबाज़ी के गुण सिखाये जो बल्लेबाज़ी की तकनीक का माहिर हो तो आपके अंदर तो आत्मविश्वास आना ही था। मंदीप के अलावा इससे पहले भारतीय युवा ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने भी राहुल द्रविड़ की जमकर तारीफ की थी। “उन्होंने मुझमे काफी आत्मविश्वास भी जगाया, मुझे कई सारी बातें सिखाई। वो मुझसे हमेशा कहते हैं कि लोग तुम्हे बड़े शॉट्स के लिए जानते हैं पर तुम उससे कहीं ज्यादा अच्छे बल्लेबाज़ हो और बहुत कुछ कर सकते हो। उनके अनुसार मेरे पास लम्बी पारी खेलने की तकनीक भी है”: पांड्या


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...