कई साल से बाहर चल रहे भारतीय खिलाड़ी ने लिया संन्यास, 2015 में खेला था आखिरी मुकाबला

Australia
मनोज तिवारी का करियर ज्यादा लंबा नहीं चल पाया

भारतीय टीम से कई साल से बाहर चल रहे दिग्गज क्रिकेटर मनोज तिवारी (Manoj Tiwary) ने संन्यास का ऐलान कर दिया है। मनोज तिवारी ने 2015 में आखिरी बार टीम इंडिया के लिए कोई इंटरनेशनल मुकाबला खेला था और इसके बाद से ही वो लगातार टीम से बाहर चल रहे हैं और कभी भी वापसी नहीं कर पाए। अब उन्होंने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले लिया है।

मनोज तिवारी ने अपने संन्यास को लेकर ट्विटर पर कोई बड़ा स्टेटमेंट नहीं दिया। उन्होंने एक ट्वीट किया और उसमें थैंक्यू लिखा। हालांकि इंस्टाग्राम पर जरूर उन्होंने अपने संन्यास को लेकर प्रतिक्रिया दी है।

वहीं मनोज तिवारी ने इंस्टाग्राम पर अपने संन्यास का ऐलान करते हुए बड़ी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा,

इस गेम ने मुझे सबकुछ दिया। मैंने जिस चीज का सपना भी नहीं देखा था वो मुझे इस गेम की वजह से मिला। जब मेरे जीवन में काफी सारी चुनौतियां थीं तब से लेकर अभी तक इस गेम की वजह से काफी कुछ हासिल किया। मैं इस गेम और भगवान का हमेशा आभारी रहुंगा जो मेरे साथ हमेशा रहे।

मनोज तिवारी ने 2008 में किया था अपना डेब्यू

मनोज तिवारी की अगर बात करें तो उन्होंने भारत के लिए अपना डेब्यू 2008 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे मैच में किया था। इसके बाद 2011 में इंग्लैंड के खिलाफ उन्होंने अपना टी20 इंटरनेशनल डेब्यू किया। उन्होंने आईपीएल में भी कई सालों तक खेला।

मनोज तिवारी ने अपने वनडे करियर में 12 मैच खेले जिसमें 287 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने एक शतक और एक अर्धशतक लगाया। वहीं तीन टी20 इंटरनेशनल मुकाबलों में उन्होंने 15 रन बनाए। आईपीएल करियर की बात करें तो मनोज तिवारी ने 98 मैचों में 1695 रन बनाए। उन्होंने अपना आखिरी आईपीएल मुकाबला साल 2018 में खेला था। मनोज तिवारी अपनी बैटिंग के अलावा फील्डिंग के लिए भी काफी मशहूर थे। वो भारत के जबरदस्त फील्डर्स में से एक थे।

Quick Links

Edited by सावन गुप्ता
App download animated image Get the free App now