पाकिस्तान टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष स्थान हासिल करने का हकदार : मिस्बाह

इंग्लैंड के खिलाफ द ओवल पर चौथे व अंतिम टेस्ट में 10 विकेट से जीत दर्ज करने के बाद पाकिस्तान के कप्तान मिस्बाह उल हक का मानना है कि उनकी टीम आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष स्थान हासिल करने की हकदार है। पाकिस्तान ने पिछले सात वर्षों में घरेलू जमीन पर एक भी टेस्ट नहीं खेला है और उसके बाद भी शीर्ष रैंकिंग वाली टेस्ट टीमों में शुमार रही। टेस्ट रैंकिंग में फिलहाल तीसरे स्थान पर काबिज पाकिस्तान ने इंग्लैंड के खिलाफ चार मैचों की टेस्ट सीरीज 2-2 से बराबर की। युनिस खान के दोहरे शतक की मदद से पाकिस्तान अंतिम टेस्ट जीतने में कामयाब रहा। वैसे पाकिस्तान के पास टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंचने का मौका है अगर श्रीलंका आखिरी टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को हरा दे और भारत आखिरी टेस्ट में वेस्टइंडीज को हराने से चूक जाए। 2003 में आधिकारिक रैंकिंग प्रणाली के परिचय के बाद यह पहला मौका होगा जब पाकिस्तान की टीम शीर्ष स्थान पर होगी। पाकिस्तान ने घर में पिछले सात वर्षों में भी अंतरराष्ट्रीय टेस्ट सीरीज नहीं खेली है। बता दें कि 2009 में श्रीलंका की टीम बस पर आतंकी हमला हुआ था। इस घटना के बाद सभी क्रिकेट खेलने वाले देशों ने पाकिस्तान में खेलने से इंकार कर दिया था। इसके बाद से पाकिस्तान ने अपने सभी मैच संयुक्त अरब अमीरात में खेले। पाकिस्तान टीम के कप्तान मिस्बाह उल हक मैच के बाद भावनात्मक हो गए और कहा, 'यह टीम शीर्ष पर पहुंचने की हकदार है क्योंकि पिछले छह वर्ष में उसने घरेलू जमीन पर टेस्ट नहीं खेला है। कुछ लोग सोचते हैं संयुक्त अरब अमीरात की परिस्थिति हमें रास आती है क्योंकि हम वहां जीतते हैं। मगर देश के बाहर खेलना हमेशा कठिन होता है। मानसिक तौर पर यह काफी मुश्किल होता हैं। उन्होंने कहा, 'हमें हमेशा देश के बाहर खेलना पड़ रहा है। हम कई विदेशी दौरों पर गए और घरेलू सीरीज यूएई में खेली। यह आसान नहीं नहीं। मगर फिर भी टीम जीती। टीम ने प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेला।'

Edited by Staff Editor