Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

बॉल टैंपरिंग विवाद पर मिचेल स्टार्क ने तोड़ी चुप्पी, दिया बड़ा बयान

SENIOR ANALYST
09 Jun 2018, 13:13 IST

ऑस्ट्रेलियाई टीम द्वारा दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दौरान हुए बॉल टैंपरिंग (गेंद से छेड़छाड़) विवाद को काफी समय बीत चुके हैं, लेकिन अब भी इसको लेकर समय-समय पर बयान आते रहते हैं। ताजा बयान आया है टीम के तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क की तरफ से जो उस टेस्ट मैच का हिस्सा थे। उन्होंने पहली बार इस मामले पर चुप्पी तोड़ी है और पूरे घटनाक्रम में अपना नाम घसीटे जाने पर नाराजगी व्यक्त की है।

सिडनी में एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि जिस तरह प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस मुद्दे को मीडिया के सामने रखा गया वो सही नहीं था। स्टार्क ने कहा कि मीडिया के सामने पूरी सच्चाई नहीं बताई गई, इससे दूसरे खिलाड़ियों के सम्मान पर असर पड़ा। प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये आरोप लगाया गया कि इसमें पूरा लीडरशिप ग्रुप भी शामिल था लेकिन उन्होंने बिल्कुल भी नहीं सोचा कि इस बयान का कितना बड़ा असर पड़ेगा। इससे दूसरे खिलाड़ियों के गरिमा पर फर्क पड़ा। हालांकि इन सबके बावजूद स्टार्क ने कहा कि उनके मन में अब भी स्टीव स्मिथ के लिए काफी इज्जत है। उन्होंने डेविड वॉर्नर और कैमरन बैनक्रोफ्ट के लिए भी यही बात कही। स्टार्क ने कहा कि इन तीनों खिलाड़ियों को मैदान पर एक बार फिर से देखना काफी अच्छा होगा। हालांकि लोगों का विश्वास जीतने में अभी समय लगेगा लेकिन अपने खेल और व्यवहार से हम सभी क्रिकेट फैंस का दिल जीत कर रहेंगे। अभी हमारा पूरा ध्यान क्रिकेट पर है।

गौरतलब है दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच के दौरान ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी कैमरन बैनक्रोफ्ट को गेंद से छेड़छाड़ करते हुए पाया गया था। इसके बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कप्तान स्टीव स्मिथ ने कहा था कि इसकी जानकारी टीम के दिग्गज खिलाड़ियों को थी। इसके बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने तीन खिलाड़ियों को प्रतिबंधित किया था। इसमें डेविड वॉर्नर और स्टीव स्मिथ पर 1-1 साल और कैमरन बैंक्रोफ्ट पर 9 महीने का प्रतिबंध लगा हुआ है। यह भी स्पष्ट किया गया है कि आने वाले समय में डेविड वॉर्नर को टीम का कप्तान नहीं बनाया जाएगा। वहीं टीम के कोच डेरेन लेहमैन ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।



Advertisement
Advertisement
Fetching more content...