Create
Notifications

सनराइजर्स हैदराबाद के नए तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज का आईपीएल तक का सफ़र

Naveen Sharma
visit

हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी इन्डियन प्रीमियर लीग 2017 की नीलामी में कुछ दिलचस्प और प्रेरणादायी चीजें देखने को मिली। इसमें सभी की नजरें अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में बड़े स्तर के खिलाड़ियों पर होने के बावजूद कुछ उभरते हुए भारतीय खिलाड़ी भी बड़ी राशि के साथ बिकते हुए दिखे। घरेलू क्रिकेट में अधिक अनुभव नहीं होने के बावजूद तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज को सनराइजर्स हैदराबाद ने 2.6 करोड़ रूपये में खरीदा। 20 लाख आधार मूल्य वाले इस खिलाड़ी के लिए रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच बिड वॉर हुआ। लेकिन 13 बार ऐसा होने के बाद पिछले वर्ष की चैम्पियन टीम ने इसमें बाजी मार ली। आइए इस उभरते हुए तेज गेंदबाज के बारे में सब कुछ जानते हैं। करियर की शुरुआत एक बल्लेबाज के रूप में हुई slide 1 बहुत लोग नहीं जानते होंगे कि सिराज का ध्यान एक तेज गेंदबाज बनने की तरफ नहीं था। शुरुआत में उन्होंने एक बल्लेबाज के तौर पर खेलना चालू किया, जो थोड़ी गेंदबाजी भी कर लेता था। उन्होंने टेनिस बॉल से प्रारंभिक वर्षों में अच्छा खेल दर्शाया। सिराज के एक मित्र ने उन्हें एक लीग टूर्नामेंट में खिलाया और प्रोफेशनल क्रिकेट में उनका प्रवेश कराया। चार मिनार क्रिकेट क्लब ने गेंदबाजी को मजबूत आधार प्रदान करने के लिए उन्हें टेनिस गेंद से टूर्नामेंट में खिलाने के लिए अपनी टीम का हिस्सा बनाया। रैंक के आधार पर बढ़े 22 सिराज ने हैदराबाद की ओर से सेना के खिलाफ वर्ष 2015/16 के एक ग्रुप सी मैच से प्रथम श्रेणी क्रिकेट में पदार्पण किया। इस टूर्नामेंट में उन्होंने कोई अन्य मैच नहीं खेला। सत्र की विजय हजारे ट्रॉफी के दो मैचों में उन्हें मौका मिला। दाएं हाथ के तेज गेंदबाज इसके बाद हैदराबाद की अंडर 19 टीम में आए, जहां कप्तान अर्जुन यादव ने उनकी गेंदबाजी कौशल में मदद की। कठिन मेहनत के बाद वे एक बेहतर गेंदबाज बनकर निकले और 2016/17 के रणजी टूर्नामेंट में प्रभावित करने वाला प्रदर्शन किया। मेहनत का इनाम मिला 33 हाल ही में समाप्त हुए रणजी संस्करण में सिराज ने 9 मैच खेलकर 41 विकेट झटके, इसमें उनका 18.92 का शानदार औसत रहा, हालाँकि इसमें उनका सिर्फ एक ही पांच विकेट होल था, उनकी निरंतरता उनके लिए मददगार रही और टूर्नामेंट का संयुक्त रूप से तीसरा सबसे अधिक विकेट लेने वाला गेंदबाज बने। रणजी ट्रॉफी चैम्पियन गुजरात के खिलाफ हुई ईरानी ट्रॉफी के लिए चुना जाना उनकी मेहनत का ही फल था। पहली पारी में शानदार 16 ओवर डालने के बाद उन्हें विकेट नहीं मिला, लेकिन दूसरी पारी में उन्होंने २ विकेट लेकर अपनी टीम को 6 विकेट से विजय प्राप्त करने में अपना योगदान दिया। परिवार के लिए एक नई शुरुआत 2 सिराज के पिता मोहम्मद घोस हैदराबाद में एक ऑटो रिक्शा चलाते हैं। वर्ष दर वर्ष कड़ी मेहनत कर वे इस क्रिकेटर का सपना पूरा करने में समर्थ हुए। 2 सत्रों में हैदराबाद की ओर से 10 लाख रूपये प्राप्त करने के बाद सिराज ने अपने परिवार के लिए एक नया घर खरीदने की इच्छा जाहिर की। मिड डे से बात करते हुए पिछले महीने सिराज ने कहा "पिछले 30 वर्षों से मेरे पिता ऑटो रिक्शा चला रहे हैं। मैंने उन्हें इसे बंद करने का निवेदन किया लेकिन उन्होंने मेरी बात पर ध्यान नहीं दिया। मैं उन्हें मना लूँगा, ऐसा मुझे विश्वास है। उन्हें आराम की जरुरत है। मैं एक छोटा घर खरीद सकता हूं। कई सालों तक मैंने अपने माता-पिता को आर्थिक समस्या से गुजरते हुए देखा है।" सुर्ख़ियों में 3 2.6 करोड़ में नीलामी होने के बाद अब 2017 आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद के लिए फिल्ड पर उतरने पर सभी की नजरें इस खिलाड़ी पर होगी। भुवनेश्वर कुमार, आशीष नेहरा और मुस्त्फिजुर रहमान के साथ वे इस टीम के तेज गेंदबाजी आक्रमण को धार प्रदान करेंगे। दर्शकों से भरे हुए स्टेडियम में अपने कौशल का प्रदर्शन करने के अलावा उन्हें भारतीय और अन्तर्राष्ट्रीय स्टार खिलाड़ियों के साथ खेलकर और अधिक मजबूत बनने मौका भी मिलेगा। फ्रेंचाइजी में हैदराबादी चेहरा होने के कारण फैन्स से भी भावनात्मक लगाव रहेगा।

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now