Create
Notifications

SAvIND: द्विपक्षीय एकदिवसीय श्रृंखला में सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी

Rahul Pandey

एकदिवसीय क्रिकेट इतिहास में केवल 8 बल्लेबाजों ने द्विपक्षीय एकदिवसीय श्रृंखला में 450 से अधिक रन बनाए हैं। यहाँ तक कि सचिन तेंदुलकर और विवियन रिचर्ड्स से लेकर रिकी पॉन्टिंग और ब्रायन लारा जैसे बेहतरीन बल्लेबाजों ने भी कभी इस मील के पत्थर को पार नही किया है। उन 8 खिलाड़ियों में से केवल एक ने ही 500 से अधिक रन बनाए हैं जबकि कई खिलाड़ी विश्व कप में ही ऐसा कर पाये हैं, किसी द्विपक्षीय एकदिवसीय श्रृंखला में ऐसा करने के लिए जिसमें सात से अधिक मैच शामिल नहीं होते हैं, उसके लिए एक बेहतरीन फार्म की जरुरत होती है। यहाँ हम नज़र डाल रहे हैं द्विपक्षीय एकदिवसीय श्रृंखला में सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची पर:

# 5 क्रिस गेल, मैच 7, रन 455

हालाँकि हाल के समय में एकदिवसीय क्रिकेट में उनका फॉर्म अच्छा नही रहा है, लेकिन इस प्रारूप में क्रिस गेल की क्षमता पर कोई संदेह नहीं है। 275 मैचों से 9,000 से अधिक एकदिवसीय रन के आंकड़े इस बात का प्रमाण है कि वह एक बेहतरीन खिलाड़ी हैं और द्विपक्षीय एकदिवसीय श्रृंखला में वनडे खिलाड़ी के रूप में उनके बेहतरीन फॉर्म का शिकार भारत बना था। भारत के ख़िलाफ़ 7 मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला की शुरूआत जमैका के सलामी बल्लेबाज के लिये सकारात्मक ढंग से नही रही थी और अंत भी वैसा ही रहा। लेकिन बीच में चार बेहतरीन पारियाँ खेली, जिसने वेस्टइंडीज को श्रृंखला जीतने में मदद की। दूसरे और चौथे एकदिवसीय मैचों के बीच, गेल ने 3 शतक और 1 अर्धशतक जड़ा और 7 मैचों की श्रृंखला 455 रनों के साथ खत्म की। उनके अविश्वसनीय प्रदर्शन ने वेस्टइंडीज को श्रृंखला जीतने में मदद की।

# 4 हैमिल्टन मसाकादज़ा, मैच 5, रन 467

ज़िम्बाब्वे के सलामी बल्लेबाज का करियर भी या तो उत्थान पर रहा या फिर बिलकुल ख़राब रहा है। दाएं हाथ के बल्लेबाज ने हमेशा क्रीज़ पर खेलते समय खेल को आसान दिखाया, मगर वह वह लगातार ऐसा नहीं कर पाए हैं। वह एक बार ऐसा हासिल करने में कामयाब रहे, जब 2009 में केनिया के खिलाफ पांच मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला में ऐसा हुआ था। मसाकादज़ा ने 116 की अविश्वसनीय औसत और 97 की स्ट्राइक रेट से 5 मैचों में 467 रन बनाये। उन्होंने एक अर्धशतक शतक और दो शतक लगाए, और केन्याई गेंदबाजी पर हावी रहे, और केन्याई गेंदबाज़ों के पास इस बात का कोई तोड़ नही था कि वो किस प्रकार इस बल्लेबाज़ को रोक सके। हालांकि इस श्रृंखला को हुए लगभग एक दशक हो चुके है, लेकिन इतिहास में केवल तीन अन्य खिलाड़ी ही किसी द्विपक्षीय एकदिवसीय सीरीज़ में मसाकादज़ा से अधिक स्कोर कर पाए हैं और 2009 से 2013 के बीच चार वर्षों के दौरान यह रिकॉर्ड जिम्बाब्वे के बल्लेबाज के नाम था।

# 3 जॉर्ज बेली, मैच 6, रन 478

यह कुछ आश्चर्यजनक लगता है कि द्विपक्षीय एकदिवसीय श्रृंखला में सबसे अधिक रनों के लिए ऑस्ट्रेलिया का रिकॉर्ड डीन जोन्स, रिकी पॉन्टिंग, मैथ्यू हेडन, एडम गिलक्रिस्ट, माइकल क्लार्क या माइक हसी के नाम नही है। इसके बजाय, यह जॉर्ज बेली के नाम है, जिन्होंने 2013 में भारत में भारत के खिलाफ एकदिवसीय श्रृंखला में 478 रन बनाए थे। एक उच्च स्कोरिंग श्रृंखला में 300 रन का स्कोर एक सामान्य बात हो गयी थी, वहाँ बेली ने मेहमानों के लिए बल्ले से लगातार प्रदर्शन किया और वह लगातार रन बनाते रहे थे। 6 एकदिवसीय मैचों में 478 रनों बनाने में उनका औसत 95 का और स्ट्राइक रेट 116 की रही। हालांकि उन्होंने उस श्रृंखला में केवल सिर्फ एक शतक बनाया, जबकि उनके नाम 3 अर्धशतक भी थे, क्योंकि उन्होंने मध्य-क्रम में मेहमानों के लिए पारी को दिशा प्रदान करते हुए सामने से नेतृत्व किया। उनके लिये इस श्रृंखला को और अधिक खास ये बात बनाती है कि सारे स्कोर नंबर 4 पर बल्लेबाज़ी करते हुए आये। नागपुर में 156 रनों के अलावा, उन्होंने 85, नाबाद92 और 98 के स्कोर भी हासिल किए थे और श्रृंखला में सिर्फ एक बार विफल रहे।

# 2 रोहित शर्मा, मैच 6, रन 491

जब आप एक किसी एकदिवसीय मैच में दोहरा शतक बनाते हैं, तो आप निश्चित रूप से उस सीरीज़ में सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी के रूप में खत्म करने की संभावनाओं को बढ़ा देते हैं। रोहित शर्मा ने 2013 में घर पर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ऐसा किया था और उन्होंने द्विपक्षीय एकदिवसीय श्रृंखला में 6 मैच में 491 रनों के साथ सबसे अधिक रन बनाने का रिकॉर्ड बनाया। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एकदिवसीय श्रृंखला में रोहित ने अपनी पसंदीदा विपक्षी टीम के खिलाफ लगातार हमले किये और इस भारतीय सलामी बल्लेबाज ने श्रृंखला को 2 शतक और एक अर्धशतक लगाते हुए 122.75 की औसत के साथ समाप्त कर दिया। उन्होंने किसी भी गेंदबाज बख्शा नहीं और न ही मैदान का कोई ऐसा कोना था, जहाँ इस स्टाइलिश दाएं हाथ के बल्लेबाज़ ने गेंद को पहुँचाया न हो।

# 1 विराट कोहली, मैच 6, रन 558

रन स्कोरिंग आसान नहीं है यह सभी बल्लेबाजों के लिए सच है जब तक कि आपका नाम विराट कोहली नहीं होता है और आप गेंदबाजों, पिच या किसी भी स्थिति में भरोसा कर सकते हैं। यह बात फ़िलहाल दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाजों से पूछ कर देखिये, जिन्होंने विश्व के नंबर एक एकदिवसीय बल्लेबाज को रोकने के लिये अपने पास मौजूद हर तरकीब अपना ली मगर इस बल्लेबाज़ को रोक न सके। विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ एकदिवसीय श्रृंखला में 6 मैचों में 186 की औसत से 558 रन बनाए और उनकी स्ट्राइक रेट 99 की रही। यह एक ऐसी श्रृंखला थी जहाँ भारतीय कप्तान ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 0 एकदिवसीय शतकों के आंकड़े से शुरुआत की और अंत दक्षिण अफ्रीका में सबसे शतक लगाने वाले बल्लेबाज़ (केविन पीटरसन के साथ 3 की बराबरी) पर ख़त्म की। ऐसा करते हुए वह किसी द्विपक्षीय एकदिवसीय श्रृंखला में 500 से अधिक रन बनाने वाले इतिहास के पहले बल्लेबाज बन गये और ऐसा करने से वह इस सूची में अपने साथी रोहित शर्मा को पछाड़ते हुए शीर्ष स्थान पर चले गए। यह देखते हुए कि कुछ ही टीमें इन दिनों पांच से ज्यादा एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला खेलती हैं, यह अविश्वसनीय होगा अगर कोई इस रिकॉर्ड के करीब भी पहुँचने में सफल हो पाए। लेकिन फिर भी जिस तरह कोहली इस समय खेल रहे हैं, यह भी सोचना गलत नही होगा कि कोहली खुद भविष्य में इस रिकॉर्ड को तोड़ डालें। लेखक: श्रीहरी अनुवादक: राहुल पांडे

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...