सचिन तेंदुलकर के संन्यास के बाद ये 5 बल्लेबाज़ बने टेस्ट में बेस्ट

VK

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने अपने क्रिकेट करियर में कई रिकॉर्ड कायम किए। जिन्हें तोड़ पाना किसी बल्लेबाज के लिए आसान नहीं होगा। अपने दमदार खेल और शानदार प्रदर्शन के कारण ही सचिन को क्रिकेट को भगवान कहा जाता है। पाकिस्तान के खिलाफ 15 नवंबर, 1989 को अपने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर की शुरुआत करने के बाद सचिन ने भारत के लिए कई अहम पारियां खेली। इसके बाद 16 नवंबर, 2013 को मुंबई में वानखेड़े के मैदान पर उन्होंने अपना आखिरी मुकाबला खेला और अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया। अपने 24 साल के लंबे करियर में सचिन ने 200 टेस्ट मैच खेले। इनमें सचिन ने 51 शतक और 68 अर्धशतक बनाए। इसके साथ ही सचिन ने टेस्ट में 15, 921 रन बनाए। सचिन के संन्यास लेने के बाद इन पांच बल्लेबाजों ने टेस्ट में सबसे ज्यादा रन बनाए हैं: (आंकड़े 16 नवंबर 2013 से 16 नवंबर 2017 के बीच के हैं) विराट कोहली सचिन तेंदुलकर के बाद अगर किसी खिलाड़ी को तेंदुलकर के रिकॉर्ड को तोड़ने में सक्षम माना जाता है तो वो हैं टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली। विराट ने अपने शानदार खेल से हर किसी को प्रभावित किया है। विराट अपने खेल में लगातार निखार ला रहे हैं और नए रिकॉर्ड भी स्थापित करते जा रहे हैं। सचिन तेंदुलकर के संन्यास लेने के बाद विराट कोहली ने टेस्ट क्रिकेट में 41 मैच खेले हैं। इनमें उन्होंने 54.26 की औसत से 3527 रन बनाए हैं। इस दौरान पांच दिवसीय क्रिकेट में उनका सर्वोच्च स्कोर भी आया था। इंग्लैंड के खिलाफ 2016 टेस्ट में, कोहली ने 235 रन बनाकर मेजबान टीम को एक पारी और 36 रन से हरा दिया। अपने 18 टेस्ट शतकों में से 14 शतक उन्होंने इस दौरान ही बनाए। इसके साथ ही कोहली संयुक्त रूप से हाशिम अमला के साथ 50 अंतर्राष्ट्रीय शतक बनाने वाले सबसे तेज खिलाड़ी भी बन गए हैं। साथ ही इस अवधि के दौरान विराट कोहली ने 4 बार टेस्ट क्रिकेट में 200+ का स्कोर भी बनाया। एलिस्टेयर कुक COOK इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एलिस्टेयर कुक के प्रदर्शन में हाल में काफी गिरावट देखने को मिली है लेकिन पिछले चार सालों में एलिस्टेयर कुक टेस्ट क्रिकेट में सबसे सफल बल्लेबाज़ों में से एक थे। कुक ने नवंबर 2013 और 2017 के बीच दो दोहरे शतक और चार शतक बनाए हैं। 50 टेस्ट मैचों में उन्होंने 43.50 के औसत से 3828 रन बनाए हैं। तेंदुलकर के संन्यास लेने के बाद उनका सर्वोच्च स्कोर अबू धाबी में आया, जब उन्होंने 2015 में पाकिस्तान के खिलाफ मैच को बचाने के लिए 263 रन बनाए। नवंबर 2016 राजकोट में, कुक 30 टेस्ट शतक के आकंड़े को पूरा करने वाले 13 वें खिलाड़ी बने, जब उन्होंने पहली टेस्ट की दूसरी पारी में 130 रन बनाये थ। यह भारत में उनका पांचवां शतक था। डेविड वॉर्नर WARNER जब डेविड वॉर्नर गाबा में पहले 2017/18 एशेज टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया की बल्लेबाजी को ओपन करने के लिए आए, तब वह पहली बार कैमरन बैनकॉफ्ट के साथ थे। बैनक्रॉफ्ट पिछले 6 सालों में वॉर्नर के साथ ऑपनिंग करने वाले 10 वें खिलाड़ी हैं। जिससे पता चलता है कि टेस्ट क्रिकेट में ओपनर के रूप में वॉर्नर क्षमताओं से भरे हुए हैं। वॉर्नर ने पिछले 4 सालों में 44 टेस्ट मैचों में 53.13 के औसत से 4304 रन बनाए हैं। तेंदुलकर के संन्यास लेने के बाद वॉर्नर ने 17 शतक और 16 अर्धशतक लगाए हैं। इसके अलावा 2015 में पांच दिवसीय क्रिकेट में न्यूजीलैंड के खिलाफ 253 के साथ अपना सर्वोच्च स्कोर भी खड़ा कर दिया। जो रूट ROOT सिर्फ 6 इंग्लैंड के कप्तान- इवो ब्लाग, डगलस जार्डाइन, रेमंड इलिंगवर्थ, माइक बैरली, माइकल वॉन और एंड्रयू स्ट्रॉस- ने पिछले 135 सालों में एशेज डाउन अंडर जीतने में कामयाबी हासिल की है और अब जो रूट इन कप्तानों की सूची में एंट्री मारने की फिराक़ में हैं। एलिस्टेयर कुक से इंग्लिश क्रिकेट की कमान संभालने वाले जो रूट ने, 49 मैचों में 4560 रन बनाए। तेंदुलकर के संन्यास के बाद उन्होंने 11 शतक और 29 अर्धशतकों लगाए हैं। इसके साथ ही उनका सर्वोच्च टेस्ट स्कोर 254 के भी इसी दौरान आया है। 2016 के एक मैच में पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट में 254 रन रूट ने बनाए। स्टीवन स्मिथ SMITH भारतीय कप्तान विराट कोहली भले ही वनडे क्रिकेट में तहलका मचाए हुए हों और नए रिकॉर्ड बना रहे हों लेकिन जब बात टेस्ट क्रिकेट की आती है तो ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीवन स्मिथ की बराबरी कोई नहीं कर सकता है। सचिन के संन्यास के बाद स्मिथ ने 44 टेस्ट में 67.72 के औसत से 4605 रन बनाए हैं। तेंदुलकर के संन्यास के बाद स्मिथ ने टेस्ट क्रिकेट में 19 शतक और 16 अर्धशतक बनाये हैं, 2015 में इंग्लैंड के खिलाफ एशेज में बनाए 215 रन उनका उच्चतम स्कोर हैं। आईसीसी क्रिकेटर ऑफ द ईयर 2015 में नामित होने के बाद स्मिथ ने प्रतिष्ठित सर गारफील्ड सोबर्स ट्रॉफी जीती। उन्हें आईसीसी टेस्ट क्रिकेटर ऑफ़ द इयर भी चुना गया। इसके साथ एक ही साल में 2 प्रतिष्ठित पुरस्कार पाने वालों के लिस्ट में वे सातवें क्रिकेटर बन गए।

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment