Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

वनडे क्रिकेट इतिहास में टीम इंडिया के सबसे क़ामयाब नंबर-4 बल्लेबाज़

Modified 13 Feb 2018, 17:47 IST
Advertisement

50 ओवर के खेल में नंबर 4 क्रम पर बल्लेबाज़ी करना काफ़ी दिलचस्प होता है। इस पोज़ीशन के बल्लेबाज़ों का खेल इस बात पर निर्भर करता है कि टॉप ऑर्डर बल्लेबाज़ों ने कैसा प्रदर्शन किया है, उन्हें इस हिसाब से ख़ुद को ढालना होता है। कुछ मौक़े ऐसे आते हैं जब इन बल्लेबाज़ों को संभलकर खेलना पड़ता है, तो कई बार आक्रामक बल्लेबाज़ी भी करनी पड़ती है। वनडे के कुछ महानतम बल्लेबाज़ जैसे, एबी डिविलियर्स, महेला जयवर्धने, अरविंद डिसिल्वा, रॉस टेलर ने अपने करियर में हर ज़रूरी पोज़ीशन पर बल्लेबाज़ी की है। पिछले कुछ वक़्त से टीम इंडिया नंबर-4 बल्लेबाज़ की समस्या से जूझ रही रही है। अंजिंक्य रहाणे जो कभी ओपनिंग किया करते थे वो साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ सीरीज़ में टीम के 2 विकेट गिरने पर बल्लेबाज़ी करने आ रहे हैं। हम यहां उन बल्लेबाज़ों के बारे में बता रहे हैं जिन्होंने नंबर-4 पर बल्लेबाज़ी करते हुए कामयाबी हासिल की है।

सचिन तेंदुलकर

  दुनिया में बल्लेबाज़ी की शायद ऐसी कोई लिस्ट ही नहीं है जिसमें मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर शामिल न हों। सचिन को दुनिया का महानतम बल्लेबाज़ माना जाता है। उन्होंने अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर में ज़्यादातर टीम इंडिया के लिए ओपनिंग की है। इस बात में कोई शक नहीं कि जब वो ओपनिंग करने पिच पर आते थे तो अच्छे-अच्छे गेंदबाज़ों के पसीने छूट जाते थे। हांलाकि जब सचिन ने अपना वनडे करियर शुरू किया था तब वो मध्य क्रम में ही बल्लेबाज़ी करते थे, कभी 2 विकेट गिरने पर तो कभी 3 विकेट गिरने पर। साल 1994 में वो टीम इंडिया के टॉप ऑर्डर बल्लेबाज़ बन गए थे। उन्होंने 61 वनडे मैच में नंबर-4 पोज़ीशन पर बल्लेबाज़ी की है जिसमें उन्होंने 2059 रन बनाए हैं, इस दौरान उनका औसत 38.85 रहा है। हांलाकि ये आंकड़े सचिन की महानता को साबित करने के लिए नाकाफ़ी हैं। जब तक सचिन टीम इंडिया के सदस्य रहे हैं टीम को नई ऊंचाई हासिल हुई है। सचिन ने अपनी बल्लेबाज़ी से युवा खिलाड़ियों को प्रेरणा दी है।
1 / 5 NEXT
Published 13 Feb 2018, 17:47 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit