Create
Notifications

भारतीय क्रिकेट इतिहास में नंबर-5 पर खेलते हुए वनडे के 6 सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़

Himanshu Kothari

भारतीय क्रिकेट इतिहास में कई सफल बल्लेबाज हुए हैं। इन बल्लेबाजों ने टीम के लिए काफी योगदान दिया है। इसके अलावा मध्यक्रम में बल्लेबाजी करना किसी भी टीम के लिए काफी अहम रहता है। सलामी बल्लेबाज के आउट होने के बाद मध्यक्रम पर बल्लेबाजी कर टीम के लिए रन बनाना काफी अहम हो जाता है। वहीं किसी भी बल्लेबाजी क्रम के लिए नंबर 5 पर बल्लेबाजी करना काफी खास होता है। नंबर 5 पर बल्लेबाजी करने वाला बल्लेबाज शीर्ष क्रम और निचले क्रम में सामंजस्य बनाने के लिए काम आता है। टेस्ट मैचों में इस नंबर पर बल्लेबाजी करने वाला बल्लेबाज ऑल राउंडर्स के साथ एक साझेदारी के तलाश में होता है तो वहीं वनडे में इस नंबर पर बल्लेबाजी करने वाले बल्लेबाज को टीम के लिए ज्यादा रन स्कोर करने के लिए आक्रामक शॉट लगाने की दरकार रहती है। वहीं कभी-कभी जब हालात गंभीर होते हैं तो समय की मांग के मुताबिक पांच नंबर के बल्लेबाज को अपनी बल्लेबाजी शैली में भी बदलाव लाना होता है। अगर क्रिकेट के इतिहास में जाया जाए तो अर्जुन रणतुंगा, स्टीव वॉ और इंजमाम-उल-हक जैसे खिलाड़ियों ने पांच नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए टीम के लिए कई मैच जिताऊ पारियां खेली हैं। इसके अलावा भारत से भी कई ऐसे बल्लेबाज हुए हैं जिन्होंने 5 नंबर पर बल्लेबाजी कर टीम के लिए खास योगदान दिया है। भारतीय बल्लेबाजों में पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भी पांचवे नंबर पर खूब रन बटोरे हैं। आइए जानते हैं भारत के उन बल्लेबाजों के बारे में जिन्होंने वनडे मैचों में नंबर पांच पर बल्लेबाजी करते हुए टीम के लिए काफी सफल साबित हुए हों।

#6 अजय जडेजा

1990 के दशक में अजय जडेजा भारतीय टीम में फिनिशर के तौर पर जाने जाते थे। एक विश्वसनीय और स्थिर बल्लेबाज के रूप में अजय जडेजा 1990 के दशक के दौरान भारत के स्थायी सदस्य थे। हालांकि अपने करियर के दौरान उन्होंने सलामी बल्लेबाज के तौर पर भी बल्लेबाजी की थी। इसके अलावा उन्होंने 5 और 6 नंबर पर भी बल्लेबाजी की है। लेकिन टीम में कभी उनका बल्लेबाजी क्रम फिक्स नहीं रहा। पांच नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए अजय जडेजा ने 55 वनडे पारियां खेली हैं। इस दौरान उन्होंने 35.62 की औसत और 76 की सम्मानजनक स्ट्राइक रेट से 1496 रन बनाए। अपने करियर के 6 शतकों में से दो शतक उन्होंने इस नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए बनाए हैं। सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली, राहुव द्रविड़ और मोहम्मद अजहरुद्दीन के रूप में शीर्ष चार बल्लेबाजों के बाद पांचवे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए अंतिम ओवरों में अजय जडेजा ने टीम के लिए कई बार मैच जिताऊ योगदान भी दिया है।

#5 मोहम्मद अज़हरुद्दीन

मोहम्मद अज़हरुद्दीन फ्लिक शॉट खेलने में माहिर थे। मोहम्मद अजहरुद्दीन ने अपने वनडे करियर में कई बल्लेबाजी क्रम पर बल्लेबाजी की है। इनमें नंबर 3, 4, 5 और 6 शामिल हैं। अजहरुद्दीन किसी भी स्थिति में किसी भी बल्लेबाजी क्रम पर बल्लेबाजी करने के लिए तैयार रहते थे। नंहर चार पर बल्लेबाजी करना उनके लिए करियर के लिए काफी अहम रहा। अपने वनडे करियर में 308 पारियों में से पांचवे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए मोहम्मद अजहरुद्दीन ने 83 पारियां खेली हैं। इन पारियों में उन्होंने 30 की औसत से 2108 रन बनाए हैं। हालांकि, अन्य खिलाड़ियों की तुलना में उनका औसत काफी कम है, लेकिन भारतीय बल्लेबाजी लाइनअप में सीमित बल्लेबाज होने के कारण उन्होंने इस स्थिति में शानदार प्रदर्शन किया।

#4 सुरेश रैना

भारतीय क्रिकेट टीम में वनडे में रहते हुए सुरेश रैना ने भी पांचवे नंबर पर जबरदस्त बल्लेबाजी कर टीम के लिए रन बटोरे हैं। अपनी शानदार बल्लेबाजी के दम पर सुरेश रैना ने कई बार टीम के लिए मुश्किल हालात में टीम को संभाला है। इस दौरान उन्होंने नंबर पांच पर बल्लेबाजी करते हुए 81 मैच खेले हैं और 35.32 की औसत और करीब 95 की स्ट्राइक रेट से 2402 रन स्कोर किए हैं। इसके अलावा सुरेश रैना ने अपने वनडे करियर में 5 शतक लगाए हैं। जिनमें से 3 शतक उन्होंने नंबर 5 पर बल्लेबाजी करते हुए लगाए हैं। नंबर पांच के स्लॉट पर बल्लेबाजी करते हुए रैना ने भारत के लिए कई मैचों में जीत में भी अहम योगदान दिया है।

#3 राहुल द्रविड़

टीम इंडिया की दीवार कहे जाने वाले राहुल द्रविड़ ने भी नंबर पांच पर बल्लेबाजी करते हुए टीम के लिए रन स्कोर किए हैं। अपनी सधी हुई बल्लेबाजी के लिए पहचाने जाने वाले राहुल द्रविड़ ने गंभीर परिस्थितियों में भी पांचवे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए टीम का साथ नहीं छोड़ा और कई मैचों में टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई। नंबर पांच पर बल्लेबाजी करते हुए राहुल द्रविड़ ने 69 पारियों खेली हैं। इस दौरान उन्होंने करीब 44 की औसत 2495 रन बनाए हैं। आमतौर पर राहुल की स्ट्राइक रेट 68 के आसपास रहती थी लेकिन नंबर पांच पर बल्लेबाजी करते हुए उनकी स्ट्राइक रेट 74 के करीब रही।

#2 महेंद्र सिंह धोनी

टीम इंडिया के सफल कप्तानों में से एक महेंद्र सिंह धोनी ने भी नंबर पांच पर बल्लेबाजी करते हुए टीम के लिए काफी योगदान दिया है। विकेटकीपर और बल्लेबाज के तौर पर अपनी पहचान बनाने वाले महेंद्र सिंह भारतीय टीम में एक बढ़िया मैच फीनिशर के तौर पर भी महत्व रखते हैं। अपने पॉवरफुल शॉट के कारण महेंद्र सिंह धोनी ने पांचवे क्रम पर बल्लेबाजी करते हुए टीम के लिए काफी रन स्कोर किए हैं और साथ ही टीम की ढ़ाल के रूप में भी कई बार सामने आए हैं। नंबर पांच पर बल्लेबाजी करते हुए महेंद्र सिंह धोनी ने 68 पारियां खेली हैं। इस दौरान उन्होंने 53 की औसत और 90 की स्ट्राइक रेट से 2718 रन बना डाले। महेंद्र सिंह धोनी ने इस क्रम पर बल्लेबाजी करते हुए कई शतकिया पारियां भी खेली। महेंद्र सिंह धोनी ने अपने करियर में 10 शतक लगाए हैं, जिनमें से 4 शतक उन्होंने पांच नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए बनाए हैं।

#1 युवराज सिंह

युवराज सिंह ने अपने वनडे करियर की शुरुआत ही नंबर पांच पर बल्लेबाजी करते हुए की है। नंबर पांच पर बल्लेबाजी करते हुए युवराज सिंह ने कई यादगार पारियां खेली है। साल 2011 क्रिकेट विश्व कप का खिताब भारतीय क्रिकेट टीम के नाम रहा था और इस टूर्नामेंट में युवराज सिंह ने अपने बल्ले से रनों की बरसात ही कर डाली थी। अपने बल्ले से इस टूर्नामेंट में रन बरसाने के चलते युवराज सिंह मैन ऑफ द टूर्नामेंट के रूप में भी सामने आए थे। युवराज सिंह के लिए इस टूर्नामेंट की खास बात ये रही कि इस टूर्नामेंट में भी युवराज सिंह ने नंबर पांच पर बल्लेबाजी की। हालांकि इसके बाद उन्होंने अपने बल्लेबाजी क्रम में बदलाव कर दिया लेकिन अपने करियर में उन्होंने नंबर पांच पर काफी समय तक बल्लेबाजी की. अपने वनडे करियर में नंबर पांच पर बल्लेबाजी करते हुए युवराज सिंह ने 92 पारियां खेली हैं। इस दौरान उन्होंने 40 की औसत और 88 की स्ट्राइक रेट से 3040 रन स्कोर किए हैं। लेखक: कार्तिक सेठ अनुवादक: हिमांशु कोठारी

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...