Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

2011 वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम में 7-8 खिलाड़ी ऐसे थे, जिन्होंने मेरी कप्तानी के अंदर करियर की शुरुआत की थी - सौरव गांगुली

  • सौरव गांगुली की कप्तानी में भारत 2003 वर्ल्ड कप के फाइनल तक पहुंचा था
  • 2011 में एम एस धोनी की अगुवाई में भारतीय टीम ने वर्ल्ड कप का खिताब जीता था
SENIOR ANALYST
न्यूज़
Modified 15 Jun 2020, 15:04 IST
सौरव गांगुली
सौरव गांगुली

पूर्व भारतीय कप्तान और अब बीसीसीआई प्रेसिडेंट सौरव गांगुली ने अपनी कप्तानी की लीजेसी को लेकर बड़ा बयान दिया है। सौरव गांगुली ने कहा है कि जब भारत ने एम एस धोनी की कप्तानी में 2011 का वर्ल्ड कप जीता था तो उसमें 7-8 ऐसे खिलाड़ी थे जिन्होंने मेरी कप्तानी के अंदर अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत की थी। सौरव गांगुली ने ये भी कहा कि जब धोनी की अगुवाई में भारत ने वर्ल्ड कप का खिताब अपने नाम किया था वो भारतीय क्रिकेट का सबसे बड़ा दिन था।

सौरव गांगुली ने अनअकेडमी के लिए एक ऑनलाइन वीडियो लेक्चर में कहा कि मेरे लिए सबसे बड़ा दिन वो था जब भारत ने 2011 का वर्ल्ड कप अपने नाम किया था। एम एस धोनी का वो शॉट, आखिरी गेंद पर छक्का लगाना, वो भारतीय क्रिकेट इतिहास में हमेशा अमर रहेगा और वो वाकई क्या शानदार पल था।

सौरव गांगुली ने बताया क्यों वो अपनी कप्तानी से काफी खुश हैं

सौरव गांगुली ने भारतीय क्रिकेट में अपनी लीजेसी को लेकर कहा कि 2011 वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम में 7-8 खिलाड़ी ऐसे थे, जिन्होंने मेरी कप्तानी के अंदर अपने करियर की शुरुआत की थी। वीरेंदर सहवाग, एम एस धोनी खुद, युवराज सिंह, जहीर खान, हरभजन सिंह, आशीष नेहरा कई खिलाड़ी थे। इसलिए मैं काफी खुश हूं कि एक कप्तान के तौर पर मैंने ये लीजेसी छोड़ी। वो मेरी सबसे बड़ी लीजेसी थी कि मैंने एक ऐसी टीम बनाई थी जो घर में और बाहर दोनों जगहों पर जीतने में सक्षम थी।

ये भी पढ़ें: हरभजन सिंह ने भारतीय खिलाड़ियों के विदेशी लीग में खेलने को लेकर दिया बड़ा बयान

आपको बता दें कि सचिन तेंदुलकर, वीरेंदर सहवाग, युवराज सिंह, हरभजन सिंह और जहीर खान ये 5 खिलाड़ी ऐसे थे जिन्होंने सौरव गांगुली की कप्तानी में 2003 के वर्ल्ड कप फाइनल में भी हिस्सा लिया था और 2011 के वर्ल्ड कप फाइनल का भी हिस्सा थे। भारत ने एम एस धोनी की अगुवाई में 28 साल बाद वर्ल्ड कप का खिताब अपने नाम किया था। उससे पहले 2003 में भारतीय टीम सेमीफाइनल तक पहुंची थी।

ये भी पढ़ें: पहले मैं सिर्फ अपने लिए खेलना चाहता था- के एल राहुल

Published 15 Jun 2020, 10:42 IST
Advertisement
Fetching more content...
Get the free App now
❤️ Favorites Edit