Create

एम एस धोनी जितना सपोर्ट अगर दूसरे प्लेयर्स को बीसीसीआई से मिलता तो वो भी महान बन सकते थे, हरभजन सिंह का बयान

हरभजन सिंह और पूर्व कप्तान एम एस धोनी
हरभजन सिंह और पूर्व कप्तान एम एस धोनी

अपने रिटायरमेंट के बाद हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) लगातार बड़े बयान दे रहे हैं। इसी कड़ी में उन्होंने एक और बड़ी प्रतिक्रिया दी है। हरभजन सिंह ने कहा है कि जिस तरह का सपोर्ट एम एस धोनी (MS Dhoni) को बीसीसीआई से मिला अगर उसी तरह का सपोर्ट दूसरे प्लेयर्स को भी मिलता तो वो भी महान खिलाड़ी बन सकते थे।

हरभजन सिंह के मुताबिक एम एस धोनी को बीसीसीआई की तरफ से पूरा सपोर्ट मिला, जबकि दूसरे प्लेयर्स को इतना सपोर्ट नहीं मिल पाया। उन्होंने कहा कि अगर उन्हें लंबे समय तक खेलने का मौका मिलता तो वो और भी विकेट चटका सकते थे। जी न्यूज से बातचीत में हरभजन सिंह ने कहा,

एम एस धोनी को दूसरे खिलाड़ियों से ज्यादा सपोर्ट मिला। अगर दूसरे प्लेयर्स को भी इसी तरह का सपोर्ट बोर्ड की तरफ से मिला होता तो वो भी अच्छा प्रदर्शन करते। ऐसा नहीं है कि दूसरे खिलाड़ी अपना बल्ला घुमाना भूल गए थे या फिर अचानक से गेंदबाजी करना भूल गए।

एम एस धोनी की कप्तानी में भारत ने जीते आईसीसी के तीनों टाइटल

आपको बता दें कि एम एस धोनी ने अपनी कप्तानी में भारतीय टीम को आईसीसी का तीनों टाइटल जिताया और लंबे समय तक टीम के लिए खेला। वहीं हरभजन सिंह को उनके खराब परफॉर्मेंस के कारण टीम से बाहर कर दिया गया था।

गौरतलब है कि हरभजन सिंह ने भारतीय टीम के लिए तीनों प्रारूप में खेले हैं। टेस्ट क्रिकेट में भज्जी ने भारतीय टीम के लिए 103 मुकाबलों में 417 विकेट अपने नाम किये। इसके अलावा एकदिवसीय क्रिकेट में 236 मैचों में उन्होंने 269 विकेट अपने नाम किये। टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में हरभजन सिंह ने 28 मुकाबले खेलकर 25 विकेट अपने नाम किये। इन आंकड़ों को देखकर कहा जा सकता है कि वह किस स्तर के खिलाड़ी रहे हैं। टेस्ट क्रिकेट में भज्जी ने 2 शतकीय पारियां भी खेली हैं।

Quick Links

Edited by सावन गुप्ता
1 comment