Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

ओपिनियन: एम एस धोनी हैं वर्ल्ड कप में नंबर 4 के लिए सही विकल्प !

SENIOR ANALYST
फ़ीचर
Published 20 May 2019, 16:04 IST
20 May 2019, 16:04 IST

Enter caption

अंजिक्य रहाणे, अंबाती रायुडू, सुरेश रैना, विजय शंकर, के एल राहुल, मनीष पांडे और एम एस धोनी। ये खिलाड़ी किसी प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं हैं, बल्कि ये वो नाम हैं जो पिछले कई सालों से भारतीय टीम में नंबर 4 की पोजिशन पर आजमाए गए हैं लेकिन अभी भी टीम मैनेजमेंट को कोई सही विकल्प नहीं मिल पाया है और तलाश अभी भी जारी है। वर्ल्ड कप 2019 का आगाज होने में मात्र 10 दिन बचे हैं और भारतीय टीम नंबर 4 की पहेली का हल नहीं सुलझा पाई है।

पिछले कुछ समय से अंबाती रायुडू को लगातार इस पोजिशन पर मौके दिए गए और लगा कि टीम इंडिया को नंबर 4 के लिए सही बल्लेबाज मिल गया है लेकिन जब टीम का ऐलान हुआ तो रायुडू को 15 खिलाड़ियों में जगह ही नहीं मिली। इसके बाद फिर वही सवाल खड़ा हो गया है कि आखिर नंबर 4 पर बल्लेबाजी करेगा कौन। टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने ये भी कह दिया कि अगर जरूरत पड़ी तो कप्तान विराट कोहली खुद इस पोजिशन पर बैटिंग करेंगे लेकिन सबको पता है कि नंबर 3 का पोजिशन कितना अहम होता है और टीम इंडिया में कोहली की अहमियत को देखते हुए इस नंबर से छेड़छाड़ करना सही नहीं है।

तो फिर कौन हो सकता है नंबर 4 के लिए सही खिलाड़ी। विश्व कप के लिए अगर भारतीय टीम पर नजर डाली जाए तो सिर्फ एक खिलाड़ी इस पोजिशन के लिए फिट बैठता है और वो हैं पूर्व कप्तान एम एस धोनी। अभी तक धोनी टीम के लिए मैच फिनिशर की भूमिका निभाते नजर आए हैं लेकिन अब उन्हें नंबर 4 की जिम्मेदारी खुद उठानी चाहिए। इसका सबसे बड़ा कारण है पिछले कुछ सालों में मैच फिनिशर के तौर पर एम एस धोनी के आंकड़े।

2018 में धोनी ने कुल 20 मैच खेले जिसकी 13 पारियों में 25 की साधारण औसत से मात्र 275 रन बनाए। इस दौरान वो मात्र 2 बार नाट आउट रहे। हालांकि 2019 में उन्होंने जबरदस्त वापसी की और अब तक खेले 9 मैचों की 8 पारियों में 81.75 की शानदार औसत से वो 327 रन बना चुके हैं। इन 8 पारियों में वो 4 बार नाबाद लौटे हैं। 2019 में धोनी भले ही फॉर्म में आ गए हों लेकिन सबको पता है कि शुरूआत में आकर वो थोड़ा समय जरूर लेते हैं। इसके बाद ही वो आक्रामक रुख अख्तियार करते हैं। मैच फिनिशर की भूमिका में कभी-कभी ऐसे भी मौके आते हैं जब आते ही आक्रामक बल्लेबाजी शुरू करनी पड़ती है। खिलाड़ी को उतना समय नहीं मिल पाता है कि वो थोड़ी देर संभलकर खेले। ऐसे में धोनी के लिए नंबर 4 की पोजिशन सबसे सही है। इस पोजिशन पर आकर वो अपना समय भी ले सकते हैं और पूरी पारी को साथ लेकर भी चल सकते हैं। आखिर में जाकर वो आक्रामक बल्लेबाजी भी कर सकते हैं।

देखा जाए तो मैच फिनिश करने के लिए इस वक्त भारतीय टीम के पास हार्दिक पांड्या, केदार जाधव और विजय शंकर जैसे खिलाड़ी हैं जो आखिर के ओवरों में या टीम की जरूरत के हिसाब से धुंआधार बल्लेबाजी करने में सक्षम हैं। भारतीय टीम की सबसे बड़ी मजबूती उसका टॉप ऑर्डर है। रोहित शर्मा, शिखर धवन और विराट कोहली जैसे खिलाड़ी जब लंबी पारी खेलते हैं तो टीम को जीत जरूर मिलती है। अगर इसमें धोनी का भी नाम जोड़ दिया जाए तो भारतीय टीम का टॉप ऑर्डर काफी मजबूत हो जाएगा। अगर रोहित और धवन का विकेट जल्दी गिरता है तो कोहली और धोनी पारी को नए सिरे से बुन सकते हैं। एम एस धोनी के क्रीज पर होने से विराट कोहली पर दबाव भी नहीं रहेगा और वे अपना स्वभाविक गेम खेल सकते हैं। बीच के ओवरों में धोनी के होने से टीम को काफी फायदा होगा, क्योंकि वो तेजी से 1 रन और 2 रन चुराना जानते हैं। विराट कोहली भी इसमें माहिर हैं। इसलिए कुल मिलाकर एम एस धोनी नंबर 4 की पोजिशन के लिए एकदम सही विकल्प साबित हो सकते हैं।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं

Modified 20 Dec 2019, 23:08 IST
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...