महेंद्र सिंह धोनी खुद को फिट रखने के लिए दे चुके हैं मनपसंद खाने की कुर्बानी

किसी भी खेल में बने रहने के लिए खिलाड़ी को फिट रहने की आवश्यकता होती है। फिट रहने के लिए ना केवल व्यायाम या एक्सरसाइज जरूरी है बल्कि सही खान पान की भी उतनी ही अहमियत है। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भी इन्हीं बातों से सहमत नज़र आते हैं। उनके अनुसार " फिट रहने में डाइट का योगदान 80 फीसदी होता है, वहीं अच्छी ट्रेनिंग की अहमियत 20 फीसदी ही है। मुंबई में आयोजित एक फिटनेस से संबंधित आयोजन में उन्होंने अपनी फिटनेस से जुड़े हुए कुछ खुलासे भी किये। उन्होंने बताया कि वह खुद को फिट रखने के लिए कई तरह के खाने की कुर्बानी दी चुके हैं। वे बटर चिकन , चॉकलेट , नान , मिल्कशेक, सॉफ्ट ड्रिंक जैसे खाद्य पदार्थों से तौबा कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि जब उन्होंने भारतीय टीम के लिए खेलना शुरू किया था तब वे बड़ी मात्रा में इन सब चीज़ों का सेवन किया करते थे। जब वे 28 वर्ष के हुए तो उन्होंने चॉकलेट छोड़ दी थी। वे खुद की फिटनेस बरकरार रखने के लिए डाइट और जीवनशैली में कई बदलाव कर चुके हैं। यही कारण है कि महेंद्र सिंह धोनी आज भी फिट नज़र आते हैं। धोनी की विकेटों के बीच दौड़ उनके फिट होने का प्रमाण देती है। धोनी से अपनी बात आगे बढ़ाते हुए कहा कि ' हमें अपने शरीर को समझने की आवश्यकता है , शरीर की जरूरतों के अनुसार ही हमें अपने खानपान में बदलाव करने चाहिये। साथ ही खेल और जिम में सामंजस्य बनाये रखना चाहिये। जैसे कि मैं आईपीएल के दौरान जिम जाने से बचता था। लेकिन आईपीएल के बाद फिट रखने के लिए फिर से जिम जाकर पसीना बहाता हूँ।' गौरतलब है कि धोनी टेस्ट क्रिकेट से 2014 में ही सन्यास ले चुके हैं लेकिन सीमित ओवर के क्रिकेट में वे अभी भी बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं आईपीएल के इस सीज़न में भी धोनी ने कई शानदार पारियां खेलीं।

Edited by Staff Editor