Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

मुंबई की क्रिकेट सुधार समिति को भंग किया गया

लालचंद राजपूत
लालचंद राजपूत
ANALYST
Modified 19 Feb 2021
न्यूज़
Advertisement

मुंबई क्रिकेट में गुरुवार (18 फरवरी) को आश्चर्यजनक रूप से कुछ चीजें घटित हुई। मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन (MCA) ने भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज और कोच लालचंद राजपूत की अध्यक्षता वाली महत्वपूर्ण क्रिकेट सुधार समिति को भंग कर दिया। यह कदम संघ के पदाधिकारियों और पूर्व अध्यक्ष शरद पवार के बीच दिन में हुई बैठक के बाद आया है। राजू कुलकर्णी और समीर दीघे, दोनों पूर्व भारतीय खिलाड़ी सीआईसी के अन्य सदस्य हैं जो एसोसिएशन के क्रिकेटिंग फैसलों को देखते हैं। तीन अन्य पूर्व भारतीय खिलाड़ी विनोद कांबली, जतिन परांजपे और नीलेश कुलकर्णी को नए पैनल की दौड़ में माना जा रहा है।

क्रिकबज की रिपोर्ट के अनुसार एक ऑर्डर में कहा गया कि पदाधिकारियों ने मुंबई क्रिकेट के प्रति आपके अपार योगदान और अथक प्रयासों को मान्यता दी। हालांकि, उपरोक्त (हितों में टकराव) के लिए, पदाधिकारियों ने फैसला किया कि क्रिकेट सुधार समिति (सीआईसी) तत्काल प्रभाव से भंग की जाती है।

MCA के पदाधिकारी और राजपूत के पैनल के बीच मतभेद काफी समय से रहे हैं और यह मुख्य कोच की हालिया नियुक्ति के बाद से मतभेद ठीक होने की कोई आशंका नहीं थी। जहां कुछ पदाधिकारी अमोल मजूमदार को इस (कोच) पद के लिए जोर दे रहे थे, वहीं सीआईसी ने भारत के पूर्व स्पिनर रमेश पोवार पर जोर दिया।

आखिरकार सीआईसी की पसंद पवार के साथ रही और गतिरोध का हल निकालने के लिए हस्तक्षेप करना पड़ा। लेकिन यह माना जा रहा है कि इस विवाद के कारण एसोसिएशन के प्रशासनिक और क्रिकेटिंग विंग पर मतभेद पैदा हो गए थे। अंत में गुरुवार को पदाधिकारियों ने समिति को भंग करने का बड़ा कदम उठाया।

माना जा रहा है कि एमसीए के अध्यक्ष विजय पाटिल, सचिव संजय नाइक, उपाध्यक्ष अमोल काले और कार्यकारी सचिव सीएस नाइक पवार से मिले थे। पवार मुंबई क्रिकेट में एक बड़ा नाम माने जाते हैं।

Published 19 Feb 2021, 18:00 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now