'अभी विराट कोहली और सचिन तेंदुलकर में तुलना नहीं की जा सकती'

टेस्ट और वनडे मैचों में सबसे ज्यादा विकेट अपने नाम करने वाले श्रीलंकाई स्पिनर मुथैया मुरलीधरन का मानना है कि अभी विराट कोहली और सचिन तेंदुलकर के बीच कोई तुलना नहीं करनी चाहिए।

विराट कोहली इस साल शानदार फॉर्म में है और वो पिछले काफी समय में सभी फॉर्मेट में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। मुरलीधरन का मानना है कि इतनी जल्दी कोहली और सचिन की तुलना नहीं की जा सकती। सचिन को दुनिया का सबसे कम्पलीट बल्लेबाज माना जाता है।

मुरलीधरन ने कहा, "सचिन क्रिकेट के लेजेंड रहे हैं। इतनी जल्दी विराट और सचिन की तुलना नहीं की जा सकती। विराट कोहली को कम से कम 15 साल खेलने दिया जाए उसके बाद ही चर्चा की जा सकती है"।

सचिन का 24 साल लंबा अंतरराष्ट्रीय करियर 2013 में खत्म हुआ। उन्होंने 100 सैंचुरी के साथ 34 हजार रन बनाए। सचिन के नाम वनडे और टेस्ट मैचों में सबसे ज्यादा रन है। वो पहले क्रिकेट खिलाड़ी थे, जिसने वनडे में 200 रन का आंकड़ा पार किया। सचिन ने 1989 में अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत की थी।

विराट कोहली साल 2011 में वर्ल्ड कप विजेता टीम का हिस्सा थे। विराट कोहली ने 2008 में डैब्यू करने के बाद से बल्ले से खूब कमाल दिखाया है। कोहली के नाम अभी 25 शतक हैं और वो सबसे तेज 7 हजार रन बनाने वाले बैट्समेन है।

भारत के टेस्ट कप्तान विराट कोहली की तारीफ करते हुए मुरलीधरन ने कहा, "विराट कोहली अपनी ड्रीम फॉर्म मे हैं। वो पिछले 2 सालों से आईपीएल के अलावा इंटरनेशनल क्रिकेट में भी काफी अच्छा परफॉर्म कर रहे हैं। वो भारत और आईपीएल टीम के लिए रन बना रहे हैं। उन्हें इस मौके पर कोई भी नहीं रोक पा रहा है"। मुरलीधरन ने कहा कि अगर उन्हें कोहली को गेंदबाजी करनी पडती तो काफी सोच विचार करना होता"।

हाल ही में वीरेंदर सहवाग ने भी कुछ ऐसा ही कहा था कि दो अलग-अलग युग के खिलाडियों की तुलना नहीं की जा सकती। विराट कोहली और सचिन में तुलना नहीं की जानी चाहिए।

मुथैया मुरलीधरन 2012-14 तक आरसीबी में खेले हैं। अभी वो सनराइजर्स हैदराबाद टीम के कोचिंग स्टाफ का हिस्सा हैं।

Edited by Staff Editor