Create

"हम सभी झूलन और मिताली का समर्थन करेंगे", सचिन तेंदुलकर ने वर्ल्‍ड कप से पहले भारतीय टीम को बधाई दी

झूलन गोस्‍वामी और मिताली राज के लिए यह आखिरी विश्‍व कप होगा
झूलन गोस्‍वामी और मिताली राज के लिए यह आखिरी विश्‍व कप होगा

इस साल महिलाओं का वर्ल्‍ड कप (ICC Women World Cup) मार्च में न्‍यूजीलैंड में होगा। महान बल्‍लेबाज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने आगामी टूर्नामेंट से पहले भारतीय महिला क्रिकेट टीम (India Women Cricket team) को शुभकामनाएं दी।

भारत की दो सबसे अनुभवी खिलाड़ी मिताली राज और झूलन गोस्‍वामी का यह आखिरी विश्‍व कप होगा। दोनों का करियर शानदार रहा, लेकिन अब तक विश्‍व कप की ट्रॉफी अपने हाथों में नहीं उठा सके हैं। इस साल का विश्‍व कप उनके करियर का आखिरी होगा।

विमेंस क्रिकजोन और रेवस्‍पोर्ट्स के लिए बोरिया मजूमदार से बातचीत करते हुए सचिन तेंदुलकर ने कहा, 'हम सभी झूलन और मिताली का समर्थन करेंगे। मुझे पता है कि यह उनका आखिरी विश्‍व कप होगा। शेष टीम के पास काफी समय बचा है। तो मैं उन्‍हें शुभकामनाएं देना चाहता हूं।'

भारतीय महिला क्रिकेट टीम में स्‍मृति मंधाना, हरमनप्रीत कौर और शैफाली वर्मा जैसी बेहतरीन बल्‍लेबाज मौजूद हैं। तेंदुलकर का मानना है कि भारतीय महिला क्रिकेट टीम में टूर्नामेंट जीतने की क्षमता है। उन्‍होंने ध्‍यान दिलाया कि मिताली राज और झूलन गोस्‍वामी को 22 साल इंतजार के बाद विश्‍व कप जीतने की उम्‍मीद नहीं छोड़ना चाहिए।

तेंदुलकर ने कहा, '22 साल लंबा समय है। मगर कभी उम्‍मीद नहीं हारना चाहिए। हमेशा नया टूर्नामेंट, नया दिन और नया मैच होगा। अगर आप उम्‍मीद नहीं हारें तो एक समय आप इसे जीत जाते हैं। और यह उनका पल है।'

As the team reaches NZ for Mission World Cup, no better occasion than Republic Day to get behind @BCCIWomen and launch our world cup programming. Here is Bharat Ratna @sachin_rt wishing @M_Raj03 @JhulanG10 and the entire team the best for the campaign. Full show 5pm. https://t.co/KIEvt4qEKr

भारतीय फैंस के बारे में सचिन तेंदुलकर की राय

सचिन तेंदुलकर ने 2011 विश्‍व कप के अपने अनुभव और भारतीय टीम के फैंस के बारे में अनुभव साझा किए। 2011 में भारत के लिए घरेलू टूर्नामेंट था और दर्शकों ने भारतीय टीम को शुभकामनाएं देने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी।

तेंदुलकर ने कहा, 'वो घरेलू विश्‍व कप था। हम मेजबान थे। जहां भी हम जाते, वहां काफी लोग पीछा करते थे। यह सिर्फ मैदान ही नहीं बल्कि होटल, प्‍लेन और बस ड्राइव सब जगह थे। बस ड्राइवर भी आपसे कहता था, आज जीतना है।'

उन्‍होंने आगे कहा, 'इसका हल यह था कि आपको हमेशा विश्‍वास होता था कि ये लोग आपके साथ हैं। ये आपके सिर पर नहीं बैठे हैं। 1.3 बिलियन लोग आपके साथ फोर्स के रूप में हैं।'

तेंदुलकर ने साथ ही कहा कि बड़े टूर्नामेंट में उतार-चढ़ाव आते हैं। उन्‍होंने आगे कहा, 'टूर्नामेंट में उतार-चढ़ाव आते हैं। 2011 विश्‍व कप में भी उतार-चढ़ाव थे। मगर एक टीम के रूप में हमारा विश्‍वास था हम ट्रॉफी जीतेंगे। और यही मेरा संदेश महिला टीम के लिए भी है।'

भारत विश्‍व कप में अपने अभियान की शुरूआत 6 मार्च को चिर-प्रतिद्वंद्वी पाकिस्‍तान के खिलाफ करेगी। हालांकि, फरवरी में भारतीय टीम न्‍यूजीलैंड के खिलाफ पांच मैचों की वनडे सीरीज खेलेगी।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment