‘घरेलू क्रिकेट छोड़ा तो भुगतने होंगे परिणाम..’, जय शाह ने खिलाड़ियों को दी चेतावनी 

(Photo Courtesy: BCCI Twitter)
(Photo Courtesy: BCCI Twitter)

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानि बीसीसीआई (BCCI) के सचिव जय शाह (Jay Shah) ने कॉन्ट्रैक्टेड खिलाड़ियों को चेतावनी देते हुए सीधे तौर पर कहा कि अगर उन्हें भारत के लिए खेलना है तो खुद को घरेलू क्रिकेट में साबित करना होगा। घरेलू क्रिकेट में भाग न लेने वाले खिलाड़ियों को गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। ईएसपीएनक्रिकइंफो के अनुसार बीसीसीआई सचिव जय शाह ने खिलाड़ियों को इस हफ्ते एक पत्र लिखते हुए घरेलू क्रिकेट की जगह आईपीएल को तव्ज्जों देने पर चिंता व्यक्त की थी।

शाह ने अपने पत्र में लिखा कि ‘हाल ही में यह देखने को मिला है कि कुछ खिलाड़ी घरेलू क्रिकेट की जगह आईपीएल को ज्यादा प्राथमिकता दे रहे हैं। यह एक ऐसा बदलाव है जिसकी उम्मीद नहीं थी। घरेलू क्रिकेट हमेशा भारतीय क्रिकेट के आधार के रूप में रहा है और खेल के प्रति हमारे दृष्टिकोण में इसे कभी भी कम महत्व नहीं दिया गया है।’

जय शाह ने अपने पत्र में आगे कहा कि ‘घरेलू क्रिकेट हमेशा से भारतीय क्रिकट का रीढ़ की हड्डी रहा है। भारतीय टीम में शामिल होने के इच्छुक हर क्रिकेटर को घरेलू क्रिकेट में खुद को साबित करना होगा। घरेलू क्रिकेट में प्रदर्शन चयन का एक बड़ा पैमान बना हुआ है। इसमें हिस्सा न लेने के गंभीर परिणाम हो सकते हैं। आईपीएल की लोकप्रियता और सफलता पर हमें गर्व है लेकिन खिलाड़ियों को घरेलू रेड बॉल क्रिकेट को प्राथमिकता देनी चाहिए।’

जय शाह का यह पत्र इशान किशन, श्रेयस अय्यर, दीपक चाहर जैसे उन खिलाड़ियों से जोड़कर देखा जा रहा है। जो इस समय भारतीय टीम का हिस्सा नहीं है और उसके बाद भी वह रणजी ट्रॉफी के अंतिम दौर के मुकाबलों में हिस्सा नहीं ले रहे हैं। इसमें श्रेयस अय्यर ग्रेड बी कॉन्ट्रैक्ट के खिलाड़ी हैं तो इशान किशन ग्रेड सी कॉन्ट्रैक्ट के खिलाड़ी हैं।

इशान किशन दक्षिका दौरे से अपना नाम वापस लिया था। इसके बाद से वह भारतीय टीम में शामिल नहीं हुए हैं। किशन रणजी ट्रॉफी में अपनी टीम झारखंड से भी खेलते हुए नजर नहीं आए हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार वह बड़ौदा में हार्दिक और क्रुणाल पांड्या के साथ ट्रेनिंग कर रहे हैं।

दूसरी ओर श्रेयस अय्यर इंग्लैंड के खिलाफ पहले दो टेस्ट मैच के बाह भारतीय टीम से बाहर हुए हैं। टीम से बाहर होने के बाद भी अय्यर रणजी ट्रॉफी खेलने नहीं गए हैं। हालांकि अय्यर रणजी ट्रॉफी के पहले दौर में खेलते हुए नजर आए थे।

दीपक चाहर की बात करें तो चोट ठीक होने के बाद वह व्यक्तिगत कारणों से भारतीय टीम से नहीं जुड़ पाए। वह मौजूदा रणजी ट्रॉफी में भी अपनी टीम राजस्थान के लिए खेलते हुए नजर नहीं आए हैं।

Quick Links

Edited by Rahul