Create
Notifications

"लोग भूल गए हैं", स्‍ट्राइक रेट पर ज्‍यादा ध्‍यान देने पर मिताली राज ने निकाली भड़ास

मिताली राज ने कहा कि खिलाड़ी परिस्थिति को देखते हुए खेलता है
मिताली राज ने कहा कि खिलाड़ी परिस्थिति को देखते हुए खेलता है
Vivek Goel
visit

भारतीय महिला क्रिकेट टीम (India Women Cricket team) की वनडे कप्‍तान मिताली राज (Mithali Raj) ने कहा कि उनकी टीम के खिलाड़‍ियों के स्‍ट्राइक रेट को काफी ज्‍यादा महत्‍व दिया जाता है और लोग भूल गए हैं कि कैसे खिलाड़ी मैच के दौरान टीम को खराब स्थिति से उबारता है।

मिताली राज ने वर्चुअल प्रेस कांफ्रेंस में कहा, 'ठीक है, मुझे नहीं लगता कि स्‍ट्राइक रेट को इतना ज्‍यादा महत्‍व देना चाहिए। जब भी बल्‍लेबाजी या बड़ा स्‍कोर खड़ा करने की बात आती है तो स्‍ट्राइक रेट का जिक्र होता है। मैं बस इतना जानना चाहती हूं कि आप सभी भारतीय और दुनियाभर के खिलाड़‍ियों के स्‍ट्राइक रेट फॉलो करते हैं?'

मिताली ने आगे कहा, 'अगर मुझे बताने का मौका दें तो ऑस्‍ट्रेलिया सीरीज को देखिए, जिसमें कंगारू टीम जीती थी। बेथ मूनी ने 80 गेंदों में 50 रन बनाए थे, लेकिन उन्‍होंने अपनी टीम के लिए मैच विजयी पारी खेली थी। मेरी नजर में क्रिकेट ऐसा खेल है जो ग्राउंड पर स्थितियों के अनुसार खेला जाता है।'

राज ने आगे कहा, 'हां, यह जरूरी है कि हम दिमाग में रखें कि हमारा स्‍ट्राइक रेट अच्‍छा हो, लेकिन अंत में यह इस बारे में है कि बल्‍लेबाजी ईकाई किस तरह प्रदर्शन कर रही है। जब हमें 250 या 270 रन बनाने हैं तो हमें दमदार स्‍ट्राइक रेट की जरूरत होती है, लेकिन जैसा कि मैंने कहा, हमारा पूरा ध्‍यान स्‍ट्राइक रेट पर नहीं रहता। जीत के लिए जरूरी है पारी खेलना और साझेदारी बनाना।'

इसी विषय पर आगे बातचीत करते हुए कप्‍तान ने कहा, 'आपको कभी अपनी टीम को बुरी स्थिति से भी उबारना पड़ता है। हमेशा कुछ क्षेत्रों पर ध्‍यान देना होता है, कोई भी टीम परफेक्‍ट नहीं होती। हमारा ध्‍यान लगातार 250 से 270 रन बनाने पर रहता है, और इसमें टॉप ऑर्डर बल्‍लेबाज का निरंतर बेहतर प्रदर्शन करना जरूरी है। निचले क्रम का योगदान भी मदद करता है। इससे बल्‍लेबाजी में गहराई दिखती है।'

आसान नहीं रही यात्रा: मिताली राज

यह पूछने पर कि क्रिकेट में दो दशक लंबी यात्रा कैसी रही तो मिताली ने जवाब दिया, 'मेरे ख्‍याल से यह शानदार यात्रा रही, लेकिन आसान नहीं। संघर्ष रहे, लेकिन साथ ही अच्‍छा समय भी रहा। मेरे ख्‍याल से पूरे घेरे पर आई है। मैंने 2000 में अपना पहला विश्‍व कप न्‍यूजीलैंड में खेला था और अब अपने छठे विश्‍व कप के लिए मैं न्‍यूजीलैंड जा रही हूं। 2000 विश्‍व कप में भारतीय टीम सेमीफाइनल में पहुंचकर हारी थी। इस बार मैं चाहती हूं कि हम फाइनल में पहुंचे और खिताब जीते।'

भारतीय टीम न्‍यूजीलैंड में 9 फरवरी से एक टी20 इंटरनेशनल और पांच वनडे मैच की सीरीज खेलेगी। फिर मिताली राज के नेतृत्‍व वाली टीम 50 ओवर विश्‍व कप में हिस्‍सा लेगी।


Edited by Prashant Kumar
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now