Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

प्रज्ञान ओझा ने चयनकर्ताओं पर साधा निशाना, कहा टीम से ड्रॉप करने के बारे में बताया नहीं जाता है

  • प्रज्ञान ओझा ने भारतीय टीम से बाहर किए जाने को लेकर निराशा जाहिर की
  • ओझा ने कहा कि चयनकर्ता खिलाड़ी से बात नहीं करते हैं
SENIOR ANALYST
न्यूज़
Modified 12 May 2020, 14:04 IST
प्रज्ञान ओझा
प्रज्ञान ओझा

पूर्व दिग्गज स्पिनर प्रज्ञान ओझा ने चयनकर्ताओं पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि आपको भारतीय टीम से ड्रॉप कर दिया जाएगा और उसके बारे में आपको बताया भी नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि चयनकर्ताओं और खिलाड़ियों के बीच आपसी तालमेल की काफी कमी है।

स्पोर्ट्सकीड़ा के साथ लाइव इंस्टाग्राम सेशन के दौरान प्रज्ञान ओझा से पूछा गया कि 2013 में वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट मैच में 10 विकेट लेने के बावजूद उन्हें ड्रॉप कर दिया गया, इस पर वो क्या कहना चाहेंगे। इसके जवाब में ओझा ने बताया कि टीम से ड्रॉप करने के बारे में आपसे कोई बातचीत नहीं की जाती है।

ये भी पढ़ें: रोहित शर्मा ने अपनी गेंदबाजी को लेकर दिया बड़ा बयान, कहा टेस्ट मैच में 10 ओवर बॉलिंग के लिए रहता हूं तैयार

ओझा ने कहा ' आपसे कोई बात नहीं की जाती है। टीम का ऐलान होता है और अगर उस लिस्ट में आप नहीं हैं तो फिर नहीं हैं।

View this post on Instagram

SK Live with Pragyan Ojha

A post shared by Sportskeeda India (@sportskeeda) on

ये भी पढ़ें: भारतीय क्रिकेटर्स को विदेशी टी20 लीग में खेलने की अनुमति मिलनी चाहिए - आकाश चोपड़ा

आपको बता दें कि इससे पहले युवराज सिंह ने भी चयनकर्ताओं पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि सेलेक्टर्स मॉर्डन डे क्रिकेट के हिसाब से नहीं सोचते हैं। इसके अलावा इरफान पठान और सुरेश रैना जैसे दिग्गजों ने भारतीय चयनकर्ताओं की आलोचना की है।

कोई गारंटी नहीं कि आपको भारतीय टीम में चुन लिया जाएगा

Advertisement

प्रज्ञान ओझा ने अपना आखिरी टेस्ट मैच 2013 में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था। उसमें उन्होंने 10 विकेट चटकाए थे और वो मैच सचिन तेंदुलकर का 200वां टेस्ट मैच भी था। 10 विकेट लेने के बावजूद ओझा को दोबारा भारतीय टीम में जगह नहीं मिली। इस बारे में भी उन्होंने निराशा जाहिर की।

ये भी पढ़ें: एबी डीविलियर्स ने विराट कोहली की तुलना रोजर फेडरर और स्टीव स्मिथ की तुलना राफेल नडाल से की

प्रज्ञान ओझा ने कहा कि इसकी कोई गारंटी नहीं है कि अगर आप अच्छा प्रदर्शन करेंगे तो आपको टीम में चुन लिया जाएगा। चाहे वो नेशनल टीम हो या फिर आपकी स्टेट टीम हो। आपका काम है सिर्फ अच्छा प्रदर्शन करना और चयन आपके हाथ में नहीं है। आपको सिर्फ अपनी स्किल पर ही फोकस करना चाहिए।

Published 12 May 2020, 14:04 IST
Advertisement
Fetching more content...
Get the free App now
❤️ Favorites Edit