Create
Notifications

टीम इंडिया में पहली बार चुने जाने के बाद युवा बल्‍लेबाज ने दिया बड़ा बयान

रुतुराज गायकवाड़
रुतुराज गायकवाड़
Vivek Goel
FEATURED WRITER

आईपीएल 2021 में चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स का प्रतिनिधित्‍व करने वाले महाराष्‍ट्र के युवा बल्‍लेबाज रुतुराज गायकवाड़ को पहली बार भारतीय टीम में शामिल किया गया है। श्रीलंका दौरे के लिए टीम इंडिया में पहली बार चुने जाने के बाद गायकवाड़ ने कहा कि वह राहुल द्रविड़ के साथ दोबारा जुड़ने को लेकर काफी उत्‍सुक हैं। गायकवाड़ भारतीय टीम में शामिल नए चेहरों में से एक हैं, जिसके कोच राहुल द्रविड़ होंगे।

शिखर धवन श्रीलंका दौरे पर भारतीय टीम के कप्‍तान बनाए गए हैं। याद हो कि टीम इंडिया का प्रमुख स्‍क्‍वाड इस समय इंग्‍लैंड के लंबे दौरे पर है। विराट कोहली के नेतृत्‍व वाली भारतीय टीम पहले विश्‍व टेस्‍ट चैंपियनशिप फाइनल और फिर इंग्‍लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्‍ट सीरीज खेलेगी।

पीटीआई से बातचीत करते हुए रुतुराज गायकवाड़ ने कहा कि उनका ध्‍यान द्रविड़ के साथ दोबारा जुड़ने पर है। 24 साल के गायकवाड़ भारत ए में द्रविड़ के मार्गदर्शन में खेल चुके हैं।

रुतुराज गायकवाड़ ने कहा, 'मौके सीमित होंगे, लेकिन मैं इस यात्रा में ज्‍यादा से ज्‍यादा सीखने पर ध्‍यान दूंगा। ग्रुप में कुछ अनुभवी खिलाड़ी हैं और एक बार फिर मुझे राहुल द्रविड़ सर के साथ जुड़ने का मौका मिल रहा है। करीब एक से डेढ़ साल पहले भारत ए का आखिरी दौरा हुआ था, तो अब द्रविड़ सर से दोबारा मिलकर खेल के बारे में बातचीत करने का मौका मिलेगा। तो यहां बात प्रदर्शन और स्‍कोर बनाने से ज्‍यादा की है।'

दाएं हाथ के बल्‍लेबाज ने कहा कि भारत का प्रतिनिधित्‍व करने का मौका मिलना काफी भावनात्‍मक एहसास है। पहली बार टीम इंडिया में चुने जाने के बाद रुतुराज गायकवाड़ ने कहा, 'मैं बस खुश हूं। मुझे जब से पता लगा है, तब से बहुत खुश हूं। आपके सामने पूरी यात्रा आ जाती है कि आपने कहां से शुरूआत की थी और आप कहां पहुंचना चाहते हैं। यह काफी भावनात्‍मक एहसास है।'

मेरी ताकत है परिस्थितियों में ढलना: रुतुराज गायकवाड़

रुतुराज गायकवाड़ ने 21 फर्स्‍ट क्‍लास मैच और 59 लिस्‍ट मैच खेले हैं। इसके अलावा उन्‍होंने 46 टी20 मैच खेले हैं। आईपीएल 2021 में रुतुराज गायकवाड़ ने 124.61 के स्‍ट्राइक रेट से रन बनाए, जिसमें पांच अर्धशतक शामिल हैं।

रुतुराज गायकवाड़ के मुताबिक परिस्थितियों में खुद को ढालना बल्‍लेबाज के रूप में उनकी सबसे बड़ी ताकत है। उन्‍होंने समझाया, 'चाहे आक्रामक अंदाज हो या फिर स्थिति के मुताबिक खेलना, कुछ समय लेना और यह सुनिश्चित करना कि आपकी टीम दमदार स्थिति में पहुंचे।'

उन्‍होंने आगे कहा, 'मैं दोनों स्थिति में जिस तरह ढलता हूं, मेरे ख्‍याल से वो ही मेरी ताकत है। मेरे सबसे बड़े लक्ष्‍य में से एक है भारतीय टीम और अपने देश को जीत दिलाना।' रुतुराज गायकवाड़ ने बताया कि चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स में फाफ डु प्‍लेसी और एमएस धोनी के साथ खेलने से उन्‍हें बहुत कुछ सीखने को मिला।

गायकवाड़ ने कहा, 'जब धोनी को लगता है कि मैं दबाव में हूं तो वो पहले व्‍यक्ति होते हैं, जो आकर पूछते हैं कि क्‍या तुम कुछ महसूस कर रहे हो, चिंता मत करो सब सही हो जाएगा। उन्‍होंने मुझे सिर्फ क्रिकेट ही नहीं, लेकिन जिंदगी के बारे में भी कई चीजें सिखाई हैं।'

Edited by Vivek Goel
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now