"मेरे दरवाजे पर न्यूज़ पेपर मत रखना" - दिग्गज ने अपने खेलने के दिनों में मीडिया स्क्रूटनी से बचने के बारे में किया बड़ा खुलासा 

सौरव गांगुली ने एक खास इंटरव्यू में कई दिलचस्प चीजें साझा की
सौरव गांगुली ने एक खास इंटरव्यू में कई दिलचस्प चीजें साझा की

भारतीय क्रिकेट टीम के लिए जब भी कोई खिलाड़ी खेलता है तो वह हमेशा मीडिया की नजरों में होता है। जब वह खिलाड़ी कोई बड़ा नाम होता तो उसके हर एक प्रदर्शन पर मीडिया नजर गढ़ाए होता है और खराब प्रदर्शन पर आलोचना भी होती है। भारत के ऐसे कई खिलाड़ी रहे जो मीडिया में काफी चर्चित रहे और उन्हीं में से एक नाम पूर्व कप्तान और मौजूदा बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) का है। गांगुली के करियर में ऐसे कई मौके आये जब उन्हें मीडिया स्क्रूटनी से गुजरना पड़ा है। हालाँकि, हाल ही में उन्होंने खुलासा किया कि वह किस तरह से इससे बचते थे।

भारत के सबसे सफल कप्तानों में से एक गांगुली ने कहा कि मीडिया स्क्रूटनी से बचने के लिए न्यूज़ पेपर नहीं पढ़ते थे। उन्होंने आगे कहा कि सभी खिलाड़ी मीडिया स्क्रूटनी के दायरे में आते हैं, लेकिन उन्हें इससे खास फर्क नहीं पड़ेगा क्योंकि वह इस बात से बेखबर होंगे कि उनके बारे में क्या कहा जा रहा है।

हाल ही में गांगुली यूट्यूब पर 'द रणवीर शो' पर नजर आये थे। शो के होस्ट ने उनसे पूछा कि वह विराट कोहली जैसे किसी व्यक्ति को क्या सलाह देंगे, जो हाल ही में एक लंबे खराब दौर के लिए काफी ज्यादा चर्चा में रहे थे। इस पर पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा,

हर कोई मीडिया स्क्रूटनी के घेरे में है। बस नाम समय के साथ बदलते रहते हैं।

गांगुली ने मीडिया स्क्रूटनी से बचने के बारे में किया खुलासा

होस्ट ने उनसे पूछा कि वह खुद किस तरह इससे बचते थे। इस पर उन्होंने कहा,

इसका आधा भी मुझे नहीं पता चलता था क्योंकि मैं ज्यादा नहीं पढ़ता था। मैं होटलों में प्रवेश करते ही रिसेप्शन में सबसे पहले मैं यही कहता था, 'बॉस, सुबह मेरे दरवाजे के नीचे न्यूज़ पेपर मत रखना।
लेकिन अब यह स्पष्ट रूप से बहुत अधिक है। सोशल मीडिया, सब कुछ आपके कंप्यूटर पर, आपके फोन पर है। लेकिन मुझे लगता है कि क्रिकेटर्स ने इसे बंद करने का एक तरीका ढूंढ लिया है।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar