‘शिवमय’ होगा वाराणसी का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, त्रिशूल और डमरू की दिखेगी छवि

वाराणसी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम
वाराणसी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम का काल्पनिक चित्र

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) 23 सितंबर को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी (Varanasi) के दौरे पर जाने वाले हैं। यहां वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम (International Cricket Stadium) का शिलान्यास करेंगे। काशी विश्वनाथ के शहर में बन रहा यह स्टेडियम का रूप पूरा शिवमय रहेगा। जिला प्रशासन ने स्टेडियम के डिजाइन मंगलवार को जारी की है। इस स्टेडियम में त्रिशूल, बेलपत्र, और गंगा घाट की छवी देखने को मिलेगी।

त्रिशूल और बेलपत्र की दिखेगी स्टेडियम में छवि

ख़बरों के अनुसार वाराणसी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम की छत अर्धचंद्राकार होगी। वहीं यहां लगने वाले फ्लड लाइट्स त्रिशूल के आकार के होंगे। इस क्रिकेट स्टेडियम में भगवान शिव के डमरू का स्वरुप दिखेगा। वहीं इसके प्रवेश द्वार का डिजाइज बेलपत्र के जैसा होगा। फैंस को इस स्टेडियम में मैच देखना का मजा दोगुना करने के लिए यहां गंगा घाट की सीढ़ियों के जैसे बैठने की व्यवस्था होगी। इन बातों से यह साफ है कि फैंस को इस स्टेडियम में काशी की सांस्कृतिक झलक देखने को मिलेगी।

वाराणसी के गंजारी में बन रहे इस स्टेडियम के लिए पहले ही 30.6 एकड़ भूमि आवंटित कर दी गई है। वाराणसी के इस स्टेडियम में 30,000 दर्शकों के बैठने की क्षमता होगी, जिसमें सात पिच होगी, प्रैक्टिस नेट, खेल मैदान, लाउंज़, कमेंटेटर बॉक्स, प्रेस गैलरी और मुख्य मैदान के बाहर एक अतिरिक्त छोटा ग्राउंड और पार्किंग की भी सुविधा उपलब्ध होगी। इस स्टेडियम को बनाने में करीब 325 करोड़ रुपये खर्च होंगे। पीएम मोदी के तरफ से यह उनके संसदीय क्षेत्र के लोगों के लिए बड़ी सौगात होगी। स्टेडियम बनने से यहां के व्यापारियों और स्थानीय लोगों को रोजगार भी मिल सकेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब इस स्टेडियम का शिलान्यास करने आएंगे तो उनके साथ सचिन तेंदुलकर, सुनील गावस्कर, रवि शास्त्री जैसे दिग्गज क्रिकेटर भी उपस्थित रहेंगे। बीसीसीआई अध्यक्ष रोजर बिन्नी, उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला, सचिव जय शाह भी आएंगे। इसके अलावा इस कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के भी आने की संभावना है।

Edited by Rahul