ब्रेंडन टेलर ने किये नए खुलासे, ड्रग टेस्ट में फेल होने से लेकर घंटो तक कमरे में रहे बंद

Rahul
35 वर्षीय ब्रेंडन टेलर ने ड्रग परीक्षण में असफल होने के दुखद क्षणों को याद किया
35 वर्षीय ब्रेंडन टेलर ने ड्रग परीक्षण में असफल होने के दुखद क्षणों को याद किया

जिम्बाब्वे (Zimbabwe) के पूर्व कप्तान ब्रेंडन टेलर (Brendan Taylor) ने सोमवार को अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट के जरिए कुछ चौंकाने वाले खुलासे किए थे। उन्होंने इस बात पर भी प्रकाश डाला कि कैसे एक भारतीय बिजनेसमैन ने उन्हें कोकीन का उपयोग करने और उनका वीडियो बनाने के बाद उन्हें स्पॉट फिक्स करने के लिए ब्लैकमेल किया था। टेलर ने फिर से कई और खुलासा किये है कि वह अपने अंतिम अंतरराष्ट्रीय मैच के बाद सितंबर 2021 में ड्रग टेस्ट में फेल हो गए थे। पूर्व विकेटकीपर ने यह भी स्वीकार किया है कि आखिरी ड्रग टेस्ट में फेल होने से पहले उन्होंने कई बार इसे हराया भी था।

आयरलैंड के खिलाफ अपना अंतिम अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले 35 वर्षीय ब्रेंडन टेलर ने ड्रग परीक्षण में असफल होने के दुखद क्षणों को याद किया और ESPNCricinfo से कहा कि, 'अपने आखिरी मैच तक मैंने क्रिकेट खेलने की उम्मीद छोड़ दी थी। मैंने कई घंटों के लिए खुद को कमरों में बंद कर लिया और किसी तरह बिना नींद के भी ट्रेनिंग कर लेने में कामयाब रहा। पिछले ढाई साल में मैंने भले ही कुछ परीक्षणों को हराया हो, लेकिन यह मुझे तब मिला जब मैं अपने विनाश की ओर बढ़ रहा था।'

अपनी सुरक्षा को लेकर ब्रेंडन टेलर ने आगे बताया कि, 'दो बड़े आदमी हमेशा मुझे घेरे रहते थे। मैं अपनी सुरक्षा के लिए डरा हुआ था। मैं खुद की इच्छा से ऐसी स्थिति में चला गया जिसने मेरे जीवन को हमेशा के लिए बदल दिया। मुझे छह महीनों तक कोई वेतन नहीं मिला और अफवाहें थीं कि हमें दो साल तक खेलने की अनुमति नहीं दी जाएगी। मैं बस इतना करने की कोशिश कर रहा था कि मेरी मेज पर खाना रखा जाए और खेलने के बाद अपने जीवन को अच्छे से तैयार करू।

2004 में डेब्यू करने वाले विकेटकीपर-बल्लेबाज जिम्बाब्वे के महानतम क्रिकेटरों में से एक हैं। वह एकदिवसीय मैचों में जिम्बाब्वे के लिए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे और टेस्ट में चौथे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं।

Quick Links