भारतीय अम्पायर नितिन मेनन को लेकर आईसीसी का बड़ा फैसला

नितिन मेनन का कार्यकाल बढ़ा दिया गया है
नितिन मेनन का कार्यकाल बढ़ा दिया गया है

आईसीसी (ICC) ने अपने एलिट पैनल में ग्यारह अम्पायरों को रखा है। इसमें एक भारतीय नाम शामिल किया गया है। भारतीय अम्पायर नितिन मेनन (Nitin Menon) को आईसीसी ने पैनल में रिटेन किया है। अन्य कोई भारतीय इस सूची में शामिल नहीं है। एक रिपोर्ट के अनुसार मेनन के कार्यकाल को एक साल के लिए बढ़ा दिया गया है।

पीटीआई से बातचीत करते हुए बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा कि मेनन पिछले तीन से चार वर्षों के दौरान हमारे बेहतरीन अम्पायर रहे हैं। उनको आईसीसी ने एक साल के लिए एक्सटेंशन दिया है। इस माह के अंत में उनको आप बतौर न्यूट्रल अम्पायर डेब्यू करते हुए भी देख पाएंगे।

कोरोना वायरस के कारण स्थानीय अम्पायरों को ही आईसीसी ने अम्पायरिंग के लिए कहा था। इस नियम के कारण नितिन मेनन भी भारत में ही अम्पायरिंग करते रहे हैं। अब आईसीसी ने पुराने नियम को फिर से लागू कर दिया है। ऑस्ट्रेलिया के पॉल रिफेल के साथ यह सेवा शुरू की गई है। वह इस समय इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच चल रही टेस्ट सीरीज में अम्पायरिंग कर रहे हैं।

फिलहाल नितिन मेनन को घरेलू सीरीज में ही अम्पायरिंग का मौका मिला है। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच चल रही टी20 सीरीज में वह अम्पायरिंग कर रहे हैं। कम समय में ही मेनन ने अपने फैसलों से फैन्स का भी दिल जीता है। बतौर न्यूट्रल अम्पायर के तौर पर वह श्रीलंका जाएंगे। श्रीलंका में ऑस्ट्रेलिया की टीम खेल रही है। वनडे सीरीज के बाद होने वाली टेस्ट सीरीज में नितिन मेनन को अम्पायरिंग करने के लिए जाना है। देखना होगा कि भारत से बाहर उनके फैसले कैसे रहते हैं।