Create

नितिन मेनन करेंगे विदेश में अंपायरिंग डेब्यू, आईसीसी की तरफ से हुआ ऐलान 

नितिन मेनन ने अंपायर के तौर पर काफी प्रभावित किया है
नितिन मेनन ने अंपायर के तौर पर काफी प्रभावित किया है

भारतीय अंपायर नितिन मेनन (Nitin Menon) पिछले कुछ सालों में अपनी अंपायरिंग को लेकर काफी चर्चा में रहे हैं। मेनन ने लगातार अंपायरिंग में अच्छा काम करके इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) की एलीट पैनल में जगह बनाई थी। अब आईसीसी ने उन्हें एक और साल के लिए मौका दिया है। आईसीसी ने मेनन के एलीट पैनल सदस्य के रूप में स्टेटस को एक साल के लिए बढ़ा दिया है। गौरतलब है कि 2020 में ही एलीट पैनल में शामिल होने के बावजूद अब तक मेनन न्यूट्रल अंपायर के रूप में काम नहीं कर सके हैं।

मेनन के एलीट पैनल में शामिल होने के बाद कोरोना महामारी शुरु हो गई थी और आईसीसी ने अंपायरों की यात्रा पर रोक लगा दी थी। आईसीसी ने घरेलू अंपायर्स के इस्तेमाल की छूट दे दी थी, लेकिन न्यूट्रल अंपायर्स के इस्तेमाल को हरी झंडी दे दी गई है। इस महीने के अंत में श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाली दो मैचों की टेस्ट सीरीज के साथ मेनन न्यूट्रल अंपायर के रूप में अपना डेब्यू करेंगे। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच चल रही टी20 सीरीज समाप्त होने के बाद वह श्रीलंका के लिए निकलेंगे।

आईसीसी एलीट पैनल में शामिल होने वाले तीसरे भारतीय अंपायर हैं मेनन

आईसीसी की एलीट पैनल में शामिल होने वाले मेनन तीसरे भारतीय अंपायर हैं। एस. वेंकटराघवन और एस. रवि ने मेनन से पहले यह सफलता हासिल की है। 26 जनवरी, 2017 को मेनन ने पहली बार इंटरनेशनल क्रिकेट में अंपायरिंग की थी। उन्होंने भारत और इंग्लैंड के बीच कानपुर में खेले गए मैच में अंपायरिंग डेब्यू किया था। अब तक वह 11 टेस्ट, 30 वनडे और 27 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में अंपायरिंग कर चुके हैं।

इसके अलावा उन्होंने 10 महिला टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में भी अंपायरिंग की है। अब तक 22 इंटरनेशनल मैचों में वह टीवी अंपायर की भी भूमिका निभा चुके हैं।

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment