Create

पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज ने टीम के कोच पद के लिए किया आवेदन

पारस म्हाम्ब्रे लम्बे समय तक एनसीए में काम करते रहे हैं
पारस म्हाम्ब्रे लम्बे समय तक एनसीए में काम करते रहे हैं
reaction-emoji
निरंजन

पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज पारस म्हाम्ब्रे ने टीम इंडिया के गेंदबाजी कोच के लिए आवेदन किया है। बीसीसीआई के सूत्रों के अनुसार पारस ने गेंदबाजी कोच बनने के लिए एक कदम आगे बढ़ाया है। एक दशक से ज्यादा समय तक म्हाम्ब्रे बेंगलुरु स्थित नेशनल क्रिकेट एकेडमी में कार्य किया है और उन्हें राहुल द्रविड़ का भरोसेमंद माना जाता है।

पारास म्हाम्ब्रे कई दौरों पर अंडर 19 और भारत ए के साथ मुख्य कोच के रूप में भी गए हैं। अगर द्रविड़ को मुख्य कोच की भूमिका दी जाती है, तो शायद म्हाम्ब्रे को गेंदबाजी कोच की भूमिका में देखा जा सकता है। हालांकि अभी सिर्फ उन्होंने आवेदन किया है।

पीटीआई ने बीसीसीआई के सूत्रों के हवाले से कहा है कि जी हां, पारस ने आज आधिकारिक तौर पर इस पद के लिए आवेदन किया है। आवेदन की अंतिम तिथि मंगलवार, 26 अक्टूबर को समाप्त हो रही है। पारस के पास अपेक्षित अनुभव है, जो पिछले एक दशक से भारतीय क्रिकेट के एलीट कोचिंग सिस्टम का हिस्सा रहे हैं।

पारस म्हाम्ब्रे को द्रविड़ का भरोसेमंद माना जाता है
पारस म्हाम्ब्रे को द्रविड़ का भरोसेमंद माना जाता है

इससे पहले बोर्ड के सूत्रों ने यह भी कहा था कि द्रविड़ को रवि शास्त्री के स्थान पर मुख्य कोच के लिए चुना जा सकता है। टी20 वर्ल्ड कप के बाद रवि शास्त्री का कार्यकाल समाप्त हो जाएगा। बोर्ड ने विभिन्न पदों के लिए आवेदन आमंत्रित किये हैं। इसके लिए अंतिम तिथि मंगलवार है। मुख्य कोच के अलावा गेंदबाजी कोच और बल्लेबाजी कोच के लिए भी आवेदन मांगे गए हैं।

भारतीय टीम के श्रीलंका दौरे पर राहुल द्रविड़ बतौर कोच टीम इंडिया के साथ गए थे। उस समय भी यही मांग उठी थी कि द्रविड़ को पूर्ण कोच बनाया जाए। हालांकि अब चीजें साफ़ हो पाएगी। रवि शास्त्री ने पहले ही कहा है कि वह अपना कार्यकाल आगे बढ़ाने के मूड में नहीं हैं। उन्होंने काफी कुछ हासिल किया है और वे इससे संतुष्ट हैं।


Edited by निरंजन
reaction-emoji

Comments

comments icon

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...