Create

IPL: 5 महंगे खिलाड़ी जो रक़म के मुताबिक़ प्रदर्शन नहीं कर पाए

Himanshu Kothari

पैसों के जरिए हमेशा ही सफलता हासिल हो जाए, ऐसा जरूरी नहीं है। इंडियन प्रीमीयर लीग अपने ग्लिट्ज, ग्लैमर, प्रतिस्पर्धात्मकता, बॉलीवुड-क्रिकेट के मिक्सचर और इसमें लगाए जाने वाले पैसा के लिए जाना जाता है। आईपीएल में फ्रैंचाइज़ी खिलाड़ियों पर जमकर पैसा खर्च करती है। इस क्रिकेट लीग ने अपने दस सालों के इतिहास में कई खिलाड़ियों को करोड़पति बनते देखा है। आईपीएल की नीलामी प्रक्रिया हमेशा से आकर्षण का केंद्र रही है। इस नीलामी प्रक्रिया में कई खिलाड़ियों पर हुई धन वर्षा ने तो सुर्खियों भी बटोरी हैं। इस लीग में कई बार ऐसा भी देखा गया है कि स्थापित खिलाड़ी की तुलना में अनजान खिलाड़ियों पर भी आईपीएल फ्रैंचाइजियों ने जमकर पैसा बहाया हो। हालांकि आईपीएल में होने वाली एक अनिश्चितता यह भी है कि किसी खिलाड़ी को भले कितनी ही महंगी रकम देकर क्यों न खरीद लिया जाए, ये रकम उस खिलाड़ी के प्रदर्शन की भविष्यवाणी नहीं कर सकती है। आईपीएल में काफी बार ऐसा देखा गया है कि कई खिलाड़ी तो अपने मूल्य को उचित ठहराने में कामयाब हो जाते हैं लेकिन कई खिलाड़ी खुद पर खर्च की गई रकम को सही साबित नहीं कर पाते हैं। हो सकता है कि इन खिलाड़ियों पर खर्च की गई रकम के चलते खिलाड़ियों पर काफी दबाव बन जाता है, जिसके कारण खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन करने में नाकाम हो जाते हैं। आइए उन 5 खिलाड़ियों पर एक नजर डालते हैं जो आईपीएल में खुद पर खर्च की गई रकम को सही साबित नहीं कर पाए।

#1 युवराज सिंह (दिल्ली डेयरडेविल्स) - 2015

आईपीएल के 2014 के सीजन में आरसीबी के लिए खेलते हुए युवराज सिंह ने शानदार प्रदर्शन किया था। इसके बावजूद अगले संस्करण के लिए उन्हें आरसीबी ने अपनी टीम में शामिल नहीं किया। 2014 के सीजन में खेलते हुए युवराज सिंह ने 14 मैचों में 376 रन बनाए, जिसमें तीन अर्धशतक भी शामिल हैं। इसके बाद 2015 के सीजन के लिए युवराज को दिल्ली डेयरडेविल्स ने शानदार बोली लगाकर अपनी टीम में शामिल किया। इस सीजन की आईपीएल नीलामी में उन्हें 16 करोड़ रुपये की एक बड़ी रकम पर खरीदा गया था। इस बोली के चलते युवराज सिंह सीजन के सबसे महंगे खिलाड़ी के तौर पर भी सामने आए। 16 करोड़ रुपये खर्च करने के बावजूद दिल्ली के लिए युवराज सिंह का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा। युवराज सिंह ने दिल्ली के लिए इस सीजन में 14 मैच खेले और महज 248 रन ही स्कोर किए। इसके साथ ही उनकी औसत 19.07 की रही और उनका इस सीजन में उच्चतम स्कोर 57 रन रहा। इसके अलावा गेंदबाजी में भी युवराज सिंह कुछ कमाल नहीं दिखा पाए और 14 मैचों में 8 की इकॉनमी रेट से महज 1 विकेट ही अपने नाम कर पाए। साल 2014 के अपने प्रदर्शन को साल 2015 में दोहराने में युवराज सिंह नाकाम रहे। टी20 विश्व कप में शानदार प्रदर्शन कर एक ओवर में 6 छक्के लगाने वाले युवराज सिंह के लिए ये अनुभव कभी न भुलने वाला रहा होगा। इसके साथ ही साल 2015 के सीजन में दिल्ली डेयरडेविल्स ने अंकतालिका में सातवें स्थान पर रहकर अपना सफर पूरा किया।

आंकड़े:

बल्लेबाजी- मैच: 14, रन: 248, स्ट्राइक रेट: 118.09, उच्चतम स्कोर: 57 गेंदबाजी- मैच: 14, विकेट: 1, इकोनॉमी: 7.67, सर्वश्रेष्ठ आंकड़ा: 1/14

#2 टाइमल मिल्स (रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर)- 2017

इंग्लैंड के बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज टाइमल मिल्स को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने साल 2017 की आईपीएल नीलामी में 12 करोड़ रुपये की बड़ी रकम पर खरीदा था। इस सीजन में टाइमल मिल्स दूसरे सबसे ज्यादा महंगे खिलाड़ी थे। साल 2017 की आईपीएल नीलामी से पहले मिल्स ने इंग्लैंड के भारत दौरे के दौरान टी20 सीरीज में अपनी शानदार गेंदबाजी से सभी को प्रभावित किया था। टी20 सीरीज के दौरान किए गए अपने प्रदर्शन का साफ तौर पर फायदा उन्हें इंडियन प्रीमियर लीग की नीलामी में देखने को मिला। हालांकि आईपीएल के दसवें सीजन में टाइमल मिल्स ने निराशाजनक प्रदर्शन किया। साल 2017 के आईपीएल सीजन में मिल्स ने आरसीबी के लिए 5 मैच खेले और इस दौरान उन्होंने 8.57 की इकॉनमी रेट से सिर्फ पांच विकेट हासिल किए। इसके साथ ही उनका बेस्ट फीगर 2/31 का रहा। वहीं अब एक साल बाद 2018 की आईपीएल नीलामी के दौरान उनकी किस्मत ने पटली मार दी और वो बिना बिके ही रह गए।

आकंड़े:

मैच: 5, विकेट: 5, इकोनॉमी: 8.57, सर्वश्रेष्ठ आंकड़ा: 2/31

#3 पवन नेगी (दिल्ली डेयरडेविल्स)- 2016

पवन नेगी को दिल्ली डेयरडेविल्स ने 2016 की आईपीएल नीलामी में 8.6 करोड़ रुपये देकर खरीदा। इसके साथ ही पवन नेगी आईपीएल के नौवें सीजन के लिए सबसे महंगे भारतीय खिलाड़ी रहे। हालांकि इस आईपीएल सीजन में उनका प्रदर्शन काफी प्रभाव नहीं डाल पाया साल 2016 के आईपीएल सीजन में पवन नेगी ने दिल्ली फ्रेंचाइजी के लिए सिर्फ आठ मैच खेले और जिनमें वो खुद पर खर्च की गई रकम के मुताबिक प्रदर्शन करने में नाकाम रहे। पवन नेगी ने इस सीजन में दिल्ली के लिए आठ मैचों में खेलते हुए कुल 57 रन बनाए। इस दौरान उनका सर्वोच्च स्कोर नाबाद 19 रन रहा था। इसके साथ ही उनकी स्ट्राइक रेट 96.61 की रही। वहीं गेंदबाजी में भी वो कोई प्रभाव नहीं डाल पाए और पूरे टूर्नामेंट में उन्होंने 9.33 की इकॉनमी रेट से एक विकेट हासिल किया। उनका सर्वश्रेष्ठ आंकड़ा 1/19 था। वहीं इस सीजन के लिए दिल्ली अंकतालिक में छठे स्थान पर रही।

आंकड़े:

बल्लेबाजी- मैच: 8, रन: 57, स्ट्राइक रेट: 96.61, हाई स्कोर: 19* गेंदबाजी- मैच: 8, विकेट: 1, इकोनॉमी: 9.33, सर्वश्रेष्ठ आंकड़े: 1/19

#4 शेन बॉन्ड (कोलकाता नाइट राइडर्स)- 2010

2010 की आईपीएल नीलामी के दौरान कोलकाता नाइट राइडर्स ने कीवी पेसर शेन बॉन्ड को 750,000 डॉलर से ज्यादा की एक बड़ी राशि पर खरीदा था। इसके चलते शेन बॉन्ड इस सीजन में सबसे महंगे खिलाड़ियों में काइरोन पोलार्ड (मुंबई इंडियंस) के साथ संयुक्त रकम पर रहे। बॉन्ड ने अपने संपूर्ण आईपीएल करियर में कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए सिर्फ 8 मैच खेले। इनमें उन्होंने 7.23 की इकॉनमी रेट से कोलकाता फ्रेंचाइजी के लिए 9 विकेट हासिल किए हैं। इसके साथ ही उनका सर्वश्रेष्ठ 2/24 रहा। बॉन्ड ने आईपीएल 2010 के दो हफ्ते बाद ही वेस्टइंडीज में न्यूजीलैंड के असफल टी20 विश्वकप के बाद मई 2010 में क्रिकेट के सभी प्रारूपों से अपने संन्यास की घोषणा कर दी। इसके साथ ही उनका आईपीएल करियर भी खत्म हो गया।

आंकड़े:

मैच: 8, विकेट: 9, इकोनॉमी: 7.23, सर्वश्रेष्ठ आंकड़े: 2/24

#5 एंड्रयू फ्लिंटॉफ (चेन्नई सुपर किंग्स)- 2009

2009 के आईपीएल नीलामी के दौरान पूर्व इंग्लिश ऑलराउंडर एंड्रयू फ्लिंटॉफ को चेन्नई सुपर किंग्स के जरिए 1.55 मिलियन डॉलर में खरीदा गया था। इसके साथ ही एंड्रयू फ्लिंटॉफ इस सीजन के लिए संयुक्त रूप से सबसे महंगे खिलाड़ी बने। उनका आईपीएल करियर कुछ खास नहीं रहा और वो चेन्नई फ्रेंचाइजी के लिए सिर्फ तीन मैच ही खेल सके। मुंबई इंडियंस के खिलाफ अपने पहले मैच में फ्लिंटॉफ ने 24 (23) और चार ओवर में 1/44 के आंकड़े से गेंदबाजी की। इस मुकाबले में फ्लिंटॉफ के एक ओवर में मुंबई के ऑलराउंडर खिलाड़ी अभिषेक नायर ने चार गेंदों में तीन छक्के लगाए थे। अगले दो मैचों में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर और दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ भी उनका खराब प्रदर्शन जारी रहा। इसके बाद घुटने की चोट के चलते उन्होंने बीच में ही आईपीएल को छोड़ दिया। इसके बाद एंड्रयू फ्लिंटॉफ आईपीएल में कभी नहीं खेले।

आंकड़े

बल्लेबाजी- मैच: 3, रन: 62, स्ट्राइक रेट: 116.98, उच्चतम स्कोर: 24 गेंदबाजी- मैच: 3, विकेट: 2, इकोनॉमी: 9.55, सर्वश्रेष्ठ आंकड़ा: 1/11

लेखक: अश्वन रॉव अनुवादक: हिमांशु कोठारी

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...