Create
Notifications

5 खिलाड़ी जो टेस्ट में क्रिकेट में वीरेंदर सहवाग बनने की रखते हैं क्षमता

Himanshu Kothari
visit

भारतीय क्रिकेट टीम में शुरुआत में वीरेंदर सहवाग कभी भी सलामी बल्लेबाज नहीं रहे लेकिन सौरव गांगुली ने सहवाग को पारी की शुरुआत करने के मौका दिया। इसके बाद सहवाग ने सलामी बल्लेबाज के तौर पर खुद के नाम के झंड़े ही गाड़ दिए। अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के दम पर सहवाग टीम इंडिया को एक शानदार शुरुआत देने के लिए जाने जाते हैं। ऐसे में आइए जानते हैं उन पांच वर्तमान भारतीय क्रिकेटर्स के बारे में जो टेस्ट क्रिकेट में अगले सहवाग के रूप में सामने आ सकते हैं... रोहित शर्मा रोहित शर्मा ने भारतीय वनडे क्रिकेट टीम में मध्य क्रम के बल्लेबाज के तौर पर शुरुआत की थी। लेकिन साल 2013 में धोनी ने उन्हें सलामी बल्लेबाज के तौर पर पेश किया। धोनी का यह फैसला मास्टर स्ट्रोक साबित हुआ क्योंकि रोहित वनडे क्रिकेट में अभी तक तीन बार दोहरे शतक लगा चुके हैं और कई दूसरे रिकॉर्ड भी उनके नाम दर्ज हैं। वहीं टेस्ट क्रिकेट में रोहित शर्मा का इस्तेमाल कई बल्लेबाजी क्रम में किया गया लेकिन उसका असर देखने को नहीं मिला। ऐसे में विराट कोहली को रोहित शर्मा को सलामी बल्लेबाज के तौर पर टेस्ट मैच में उतार कर प्रयोग करना चाहिए।केएल राहुल केएल राहुल एक सलामी बल्लेबाज हैं लेकिन उनकी टीम में पोजिशन को लेकर हमेशा से ही एक असमंजस की स्थिति बनी रही है। टेस्ट में जहां उन्हें नंबर तीन पर उतारा जाता है तो एकदिवसीय क्रिकेट में उन्हें नंबर चार पर बल्लेबाजी करने के लिए भेजा जाता है। केएल राहुल एक विस्फोटक बल्लेबाज हैं और ऐसे में विराट कोहली को टेस्ट क्रिकेट में केएल राहुल को पारी की शुरुआत करने के लिए जरूर मौका देना चाहिए।मयंक अग्रवाल मयंक अग्रवाल का नाम उबरते हुए भारतीय क्रिकेट खिलाड़ियों के तौर पर लिया जाता है। मयंक अग्रवाल एक विनाशकारी बल्लेबाज हैं और यह भी वीरेंद्र सहवाग की तरह पारी का आगाज करने की क्षमता रखते हैं। मयंक अग्रवाल का एक शानदार रणजी सीजन रहा है, जहां इन्होंने 105 की औसत से बल्लेबाजी करते हुए 1160 रन स्कोर किए। कर्नाटक का यह खिलाड़ी इंडिया ए के साथ नियमित तौर पर जुड़ा हुआ है और ऐसे में भारतीय टेस्ट टीम के लिए भी अपनी दावेदारी पेश कर रहा है।पृथ्वी शॉ जब साल 2018 में पृथ्वी शॉ ने अपनी कप्तानी में भारतीय टीम को अंडर-19 विश्व कप खिताब जितवाया तो वह एकाएक सुर्खियों में आ गए। वहीं 19 साल के इस खिलाड़ी ने घरेलू स्तर पर भी अपनी छाप छोड़ी है। अपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट के 14 मैचों में पृथ्वी शॉ ने 56 की औसत से बल्लेबाजी की है। पृथ्वी शॉ भारत ए टीम का हिस्सा हैं और सलामी बल्लेबाज के तौर पर काफी सफल भी हैं।ऋषभ पंत ऋषभ पंत जैसा युवा खिलाड़ी भी टीम में अपनी दावेदारी पेश कर रहा है। ऋषभ पंत टीम को अच्छी शुरुआत देने में सफल साबित हो सकते हैं, वहीं ऋषभ पंत एक ऐसे बल्लेबाज के तौर पर जाने जाते हैं जो तेजी से रन बटोरने में माहिर हैं। ऋषभ पंत गेंदबाजों से बिना डरे बल्लेबाजी करने वाले और रन बटोरने वाले खिलाड़ी के तौर पर जाने जाते हैं। इसके अलावा तेज गेंदबाजों के आगे बल्लेबाजी करना उन्हें खूब पसंद है। ऐसे में भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम में अगर उन्हें पारी की शुरुआत करने का मौका दिया गया तो ऋषभ पंत निश्चित ही अगले सहवाग के तौर पर खुद को साबित कर सकते हैं। लेखक: अभिषेक अनुवादक: हिमांशु कोठारी

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now