Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

5 खिलाड़ी जो 2019 विश्व कप में युवराज सिंह की जगह ले सकते हैं

CONTRIBUTOR
Modified 01 Jul 2017, 18:48 IST
Advertisement

2000 में भारत के लिए डेब्यू करने वाले युवराज सिंह ने इतने वर्षों में सीमित ओवर प्रारूप में निरंतर बेहतर प्रदर्शन करके खुद को मैच विजयी साबित किया है। वो भारत के 2007 वर्ल्ड टी20 और 2011 विश्व कप में खिताबी जीत के बड़े कारण रहे। 2011 विश्व कप के बाद युवराज ने अपने करियर की सबसे बड़ी लड़ाई लड़ी। उन्होंने कैंसर को मात दी और फिर मैदान पर वापसी की। हालांकि, मैदान पर खिलाड़ियों की जैसी मांग थी, वो युवी पूरा नहीं करते दिखे। युवराज टीम से अंदर-बाहर होते रहे और जब भी भारतीय टीम में उन्हें मौका मिला तब प्रदर्शन करने में संघर्षरत दिखे। इस वर्ष की शुरुआत में भी युवराज को खेलने का मौका मिला और इंग्लैंड के खिलाफ 150 रन की आकर्षक पारी खेलकर चैंपियंस ट्रॉफी के लिए टीम में अपनी जगह पक्की की। आईसीसी इवेंट में युवी ने पाकिस्तान के खिलाफ मैच विजयी अर्धशतक जमाया, लेकिन इसके बाद उनका संघर्ष शुरू हुआ। पाकिस्तान और श्रीलंका के खिलाफ वो जल्दी-जल्दी आउट हुए। युवी की बल्लेबाजी में शक्ति तो खोई हुई नजर ही आई और इस दौरान उन्हें गेंदबाजी करने का मौका भी नहीं मिला। इसके साथ ही फील्डिंग में उनका प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा, जो युवराज से कभी उम्मीद नहीं की जा सकती थी। असली बात ये है कि युवराज 35 वर्ष के हो चुके हैं और उनसे तेजतर्रार फील्डिंग की उम्मीद नहीं की जा सकती। ये कहना भी गलत नहीं होगा कि उम्र का असर उनकी बल्लेबाजी पर भी पड़ा है। इन सबके बावजूद क्या टीम प्रबंधन को 2019 विश्व कप के लिए युवी को बरक़रार रखना चाहिए, जो कि सिर्फ दो वर्ष दूर है? अगर वो सोचते हैं कि युवराज को तब तक टीम में बरक़रार रखा जाए तो भारतीय टीम की 2019 विश्व कप में उम्मीदें जल्द ही समाप्त हो सकती हैं। अब समय आ गया है जब चयनकर्ताओं और टीम प्रबंधन को बड़ा फैसला लेते हुए युवराज की जगह उपयुक्त विकल्प खोजने की जरुरत है। चलिए उन पांच क्रिकेटरों पर गौर करते हैं, जो युवराज सिंह की जगह भारतीय टीम में मध्यक्रम की जिम्मेदारी संभाल सकते हैं : नोट : जिन नामों का हम ब्यौरा दे रहे हैं, उनका फ़िलहाल चैंपियंस ट्रॉफी या वेस्टइंडीज दौरे पर शामिल अंतिम एकादश से कोई लेना देना नहीं हैं।


#5 सुरेश रैना suresh-raina-1438254178-800 2008 में वापसी करने के बाद से सुरेश रैना भारतीय टीम के प्रमुख सदस्य रहे हैं, लेकिन पिछले दो वर्षों में उनकी यात्रा सुखद नहीं रही है। 2015 विश्व कप के बाद रैना के फॉर्म में गिरावट आई और पिछले वर्ष दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ उन्हें भारतीय टीम में नहीं चुना गया। इसके बाद से रैना को टी20 विशेषज्ञ माना जाने लगा है और उन्होंने कई मौको पर टी20 अंतर्राष्ट्रीय में टीम का प्रतिनिधित्व किया है। रैना भले ही ख़राब फॉर्म में हो या फिर उछाल भरी गेंदें खेलने में तकलीफ होती हो, लेकिन वो हर मामले में इस समय युवराज से बेहतर विकल्प हैं। बल्लेबाजी में आप रैना पर निर्भर रह सकते हैं क्योंकि वो आधुनिक क्रिकेट की मांग को पहचानते हैं। गेंदबाजी में वो कप्तान को अपनी ऑफ़स्पिन से काफी प्रभावित कर सकते हैं व फील्डिंग के मामले में वो काफी चुस्त हैं। वन-डे टीम में रैना की वापसी जरा भी आश्चर्यजनक नहीं होगी क्योंकि चयनकर्ताओं ने युवराज सिंह को इस वर्ष की शुरुआत में जीवनदान दिया था।
1 / 5 NEXT
Published 01 Jul 2017, 18:48 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit