Create
Notifications

एमएस धोनी और रोहित शर्मा की लीडरशिप शैली में समानता बताते हुए पूर्व खिलाड़ी ने दी बड़ी प्रतिक्रिया 

प्रज्ञान ओझा ने दोनों दिग्गज खिलाड़ियों के लीडरशिप में समानता बताई है
प्रज्ञान ओझा ने दोनों दिग्गज खिलाड़ियों के लीडरशिप में समानता बताई है
Prashant Kumar

पूर्व भारतीय स्पिनर प्रज्ञान ओझा ने स्वीकार किया कि भारत के मौजूदा कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) और पूर्व कप्तान एमएस धोनी (MS Dhoni) के कप्तानी के अंदाज में कुछ समानता है। ओझा ने उल्लेख किया रोहित और धोनी दोनों ही गेंदबाजों का समर्थन करने के लिए जाने जाते हैं और इसी वजह से गेंदबाजों को बेहतर प्रदर्शन करने के आत्मविश्वास मिलता है।

भारत ने रोहित शर्मा की अगुवाई में इंग्लैंड को मैनचेस्टर में हराकर 2-1 से वनडे सीरीज अपने नाम की। इससे पहले 2014 में एमएस धोनी की कप्तानी में भारतीय टीम ने इंग्लैंड को उसके घर पर वनडे सीरीज हराई थी इस तरह रोहित ने धोनी की उपलब्धि की बराबरी की।

इंग्लैंड पर भारत की सीरीज जीत के बाद, ओझा से पूछा गया कि क्या वह धोनी और रोहित की कप्तानी के बीच कोई समानता देखते हैं। क्रिकबज पर चर्चा के दौरान उन्होंने स्वीकार करते हुए कहा,

धोनी और रोहित की नेतृत्व शैली में कुछ समानता है। एक गेंदबाज अच्छा करता है अगर उसे कप्तान से आत्मविश्वास मिलता है। यदि कप्तान गेंदबाज का समर्थन नहीं करता है, तो वह कभी-कभी बीच में खोया हुआ दिखता है। कुलदीप (यादव) और (युजवेंद्र) चहल ने अक्सर कहा है कि रोहित उन्हें समर्थन और आत्मविश्वास देते हैं। हार्दिक (पांड्या) ने रोहित को उनका समर्थन करने और उन्हें आत्मविश्वास की भावना देने का श्रेय भी दिया। यह सभी सफल लीडर्स के बीच एक समानता है।

मैदान पर समर्थन से काफी आत्मविश्वास मिलता है - प्रज्ञान ओझा

प्रज्ञान ओझा ने आगे बताया कि बल्लेबाजों की तुलना में गेंदबाजों का समर्थन करने पर उनके प्रदर्शन पर क्या प्रभाव पड़ता है। उन्होंने कहा,

बल्लेबाज अपनी किस्मत खुद लिखते हैं। लेकिन जब गेंदबाजों की बात आती है तो उनकी किस्मत कप्तान के हाथ में होती है। जब कोई सीनियर खिलाड़ी या कप्तान मैदान पर आपका साथ देता है तो आपको काफी आत्मविश्वास मिलता है।

Edited by Prashant Kumar

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...