Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

राहुल द्रविड़ ने किया डे-नाईट टेस्ट का समर्थन

EXPERT COLUMNIST
Modified 11 Oct 2018, 13:24 IST
Advertisement
भारतीय टीम के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ ने ESPNCricinfo को दिए गए हालिया बयान में कहा है कि गुलाबी गेंद से हो रहे डे-नाईट टेस्ट के कारण अगर टेस्ट क्रिकेट का भला हो रहा है तो ये क्रिकेट के लिए अच्छा है। उन्होंने कहा कि अगर इसके कारण दर्शक मैदान में अधिक संख्या में टेस्ट क्रिकेट खेलने आ आरहे हैं तो खिलाड़ियों को परिस्थितियों का बहाना नही बनाना चाहिए। "मुझे पता है कि शुरू-शुरू में चीज़ों के हिसाब से ढलने में थोड़ी दिक्कतें आती है लेकिन आपको ज्यादा से ज्यादा मैच खेलकर इसको बढ़ावा देना चाहिए। एडिलेड में हुए टेस्ट की सफलता को देखते हुए ऐसे मैच और होने चाहिए। हालाँकि डे-नाईट टेस्ट को लेकर काफी बातें हो रही हैं लेकिन अगर आप लगातार गुलाबी गेंद से खेलना शुरू कर देंगे तो फिर परिस्थितियां मायने नही रखेगी। अगर इसकी आदत लग जाएगी तो फिर खेल एकदम से नही बदल पाएगा।" "जब मैच सुबह में शुरू होता है तो गेंदबाजों को मदद मिलती है लेकिन डे-नाईट टेस्ट में ये मदद खेल के शुरुआत में नही मिलेगी। हर देश के टेस्ट क्रिकेट में कुछ न कुछ अलग होते ही रहता है और इसीलिए अगर गुलाबी गेंद से भी कुछ अलग चीज़ हो तो उसे गलत तरीके से नही लेना चाहिए।" द्रविड़ ने ये भी कहा कि मुझे काफी ख़ुशी होगी जब भारत में डे-नाईट टेस्ट होगा क्योंकि भारत में कई ग्राउंड्स ऐसे हैं जहाँ लोग टेस्ट क्रिकेट देखने नही आते हैं। एडिलेड में मिली सफलता को देखते हुए मुझे उम्मीद है कि भारत में भी डे-नाईट टेस्ट को सफलता मिलेगी। और ये अच्छी बात है कि मैच ईडन गार्डन्स में होगा। हमें गुलाबी गेंद को सफल होने का एक मौका देना चाहिए। गौरतलब है कि अभी कोलकाता के ईडन गार्डन्स में बंगाल सुपर लीग का फाइनल मैच गुलाबी गेंद से ही खेला गया और भारत में इसका आगमन हो चुका है।     Published 22 Jun 2016, 00:21 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit