Create
Notifications

हनुमा विहारी ने अपनी सफलता का श्रेय राहुल द्रविड़ को दिया

SENIOR ANALYST
Modified 21 Sep 2018
भारतीय टीम के लिए अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे मध्यक्रम के बल्लेबाज हनुमा विहारी ने अपनी सफलता का श्रेय इंडिया ए के कोच और पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ को दिया है। विहारी ने कहा है कि द्रविड़ की वजह से ही वो इतने अच्छे खिलाड़ी बन पाए। हनुमा विहारी ने कहा कि डेब्यू से एक दिन पहले मैंने उनको फोन किया था और उनसे कहा कि मैं अपना टेस्ट डेब्यू करने वाला हूं। उन्होंने मुझसे कुछ देर तक बात की और कई अहम सलाह दी। उसकी वजह से मेरे ऊपर जो दबाव था वो कम हो गया। इतने बड़े बल्लेबाज से टिप्स मिलना काफी बड़ी बात है। उन्होंने मुझसे कहा कि तुम्हारे पास स्किल है और  टेंपरामेंट भी है, बस तुम्हें वहां जाकर अपने खेल का लुत्फ उठाना है। विहारी ने कहा कि इसके लिए मैं उनको काफी सारा श्रेय देना चाहुंगा क्योंकि उनकी वजह से इंडिया ए के लिए मेरा सफर काफी अच्छा रहा। वहां पर अच्छे प्रदर्शन की वजह से ही मेरा चयन भारतीय टेस्ट टीम में हो पाया। राहुल द्रविड़ ने जिस तरह की कोचिंग मुझे दी उससे मुझे एक बेहतर खिलाड़ी बनने में मदद मिली। गौरतलब है इंग्लैंड के खिलाफ पांचवे और आखिरी टेस्ट मैच में हनुमा विहारी को भारतीय टीम में शामिल किया गया और अपने डेब्यू मैच में ही शानदार अर्धशतकीय पारी खेलकर उन्होंने बता दिया कि वो कितने बेहतरीन प्लेयर हैं। उन्होंने रविंद्र जडेजा के साथ सातवें विकेट के लिए 77 रनों की साझेदारी कर टीम को मुश्किल से निकाला। हालांकि शुरुआत में उन्हें जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड ने काफी परेशान किया और वो आउट होने से बाल-बाल बचे लेकिन एक बार सेट हो जाने के बाद विहारी ने जबरदस्त पारी खेली। विहारी ने 124 गेंदों का सामना किया और 7 चौके और 1 छक्के की मदद से 56 रनों की अहम पारी खेली। रविंद्र जडेजा (86) के बाद वो भारतीय पारी के दूसरे सबसे बड़े स्कोरर रहे।
Published 10 Sep 2018
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now