मयंक अग्रवाल की टीम को जीत की स्थिति से मिली चौंकाने वाली हार, विजय शंकर की बेहतरीन पारी, रियान पराग के नेतृत्व वाली असम ने बचाया मैच 

सिद्धार्थ देसाई के सामने कर्नाटक की बल्लेबाजी ढेर हो गई (Screengrab/BCCI)
सिद्धार्थ देसाई के सामने कर्नाटक की बल्लेबाजी ढेर हो गई (Screengrab/BCCI)

Ranji Trophy 2023-24 के दूसरे राउंड का आज अंतिम दिन रहा। इस राउंड के पहले तीन दिनों में पांच मुकाबलों का नतीजा आ गया था, वहीं चौथे दिन कुछ का नतीजा निकला, जबकि कुछ ड्रॉ रहे। आज गुजरात के सिद्धार्थ देसाई ने घातक गेंदबाजी की और कर्नाटक के खिलाफ अपनी टीम को जबरदस्त जीत दिलाई। वहीं, तमिलनाडु के विजय शंकर ने नाबाद अर्धशतक लगाया। फॉलोऑन खेलते हुए असम भी मैच बचाने में कामयाब रही।

आइये नज़र डालते हैं रणजी ट्रॉफी के चौथे दिन के राउंड अप पर:

एलिट, ग्रुप ए

झारखंड के पहली पारी के 403 के जवाब में महाराष्ट्र ने अपनी पहली पारी 601/5 के स्कोर पर घोषित की और 198 रनों की बढ़त हासिल की, जिसमें चौथे दिन अंकित बावने 131 के निजी स्कोर पर आउट हुए। अपनी दूसरी पारी में झारखंड ने 167/2 का स्कोर बनाया और मुकाबला ड्रॉ रहा। महाराष्ट्र के हितेश वालनुज (6/91 और 1/47) को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

सर्विसेज के खिलाफ राजस्थान की पहली पारी 153 पर सिमट गई और 313 रनों से पिछड़ गई। फॉलोऑन खेलते हुए अपनी दूसरी पारी में राजस्थान ने 130/0 का स्कोर बनाया और मुकाबला ड्रॉ कराने में कामयाब रही। सर्विसेज के अंशुल गुप्ता (149) को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

एलिट, ग्रुप बी

केरल के 419 के जवाब में असम ने अपनी पहली पारी में 248 का स्कोर बनाया और उसे फॉलोऑन खेलने पर मजबूर होना पड़ा। हालाँकि, अपनी दूसरी पारी में असम ने बेहतर बल्लेबाजी की और 212/3 का स्कोर बनाया, जिसमें राहुल हज़ारिका का शतक भी शामिल रहा। केरल के सचिन बेबी (131) को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

छत्तीसगढ़ के खिलाफ अपनी दूसरी पारी में बिहार ने 226/7 का स्कोर बनाया, जिससे मुकाबला ड्रॉ रहा। छत्तीसगढ़ के रवि किरण (5/21) को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

उत्तर प्रदेश और बंगाल के बीच चौथे दिन खराब रोशनी के कारण खेल नहीं हुआ और मुकाबला ड्रॉ रहा। बंगाल के मोहम्मद कैफ (4/14, 45* और 3/72) को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

फॉलोऑन खेलते हुए आंध्रा की दूसरी पारी 244 पर सिमट गई और मुंबई को जीत के लिए सिर्फ 34 रनों का लक्ष्य मिला, जिसे उसने बिना किसी नुकसान के हासिल कर लिया। मुंबई के शम्स मुलानी (38, 6/65 और 4/96) को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

एलिट, ग्रुप सी

त्रिपुरा के खिलाफ तमिलनाडु ने अपनी पहली पारी में 143/2 का स्कोर बनाया। बाबा इंद्रजीत 58 और विजय शंकर 55 रन बनाकर नाबाद थे। खराब रोशनी के कारण इस मैच में सिर्फ 51 ओवर का ही खेल हुआ।

कर्नाटक के खिलाफ गुजरात ने अपनी दूसरी पारी में 219 का स्कोर बनाया और जीत के लिए 110 रनों का लक्ष्य दिया। लक्ष्य का पीछा करते हुए कर्नाटक ने एक समय बिना किसी नुकसान के 50 रन बना लिए थे लेकिन यहाँ से अगले 53 रनों पर अपने सभी विकेट गंवा दिए और 6 रनों से हार झेलनी पड़ी। गुजरात के सिद्दार्थ देसाई ने 7 विकेट झटके। उन्हें मुकाबले में 9 विकेट लेने के लिए प्लेयर ऑफ द मैच भी चुना गया।

रेलवे की पहली पारी के जवाब में पंजाब 178 का ही स्कोर बना पाई और उसे फॉलोऑन खेलना पड़ा। अपनी दूसरी पारी में पंजाब ने 53/1 का स्कोर बनाया और मुकाबला ड्रॉ रहा। रेलवे के हिमांशु सांगवान (4/58 और 1/13) को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

चंडीगढ़ की पहली पारी 479 के स्कोर पर सिमटी और चौथे दिन कुणाल महाजन 147 रनों की पारी खेलकर आउट हुए, वहीं राज बावा ने भी 90 रनों का योगदान दिया। अपनी दूसरी पारी में गोवा ने 25/0 का स्कोर बना लिया था और मुकाबला ड्रॉ रहा। गोवा के दर्शन मिसाल (46 और 5/110) प्लेयर ऑफ द मैच बने।

एलिट, ग्रुप डी

मध्य प्रदेश ने अपनी पहली पारी में हर्ष गवली के 167 रनों के बावजूद 318 का ही स्कोर बनाया और उसे फॉलोऑन खेलना पड़ा। फॉलोऑन खेलते हुए मध्य प्रदेश ने अपनी दूसरी पारी 291/4 के स्कोर पर घोषित की और 112 का लक्ष्य रखा, जिसमें हिमांशु मंत्री के 119 और यश दुबे के 91 रन शामिल रहे। ओडिशा ने लक्ष्य का पीछा करते हुए 38/1 का स्कोर बनाया। ओडिशा के सुभ्रांशु सेनापति (277) को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

उत्तराखंड के खिलाफ 195 के लक्ष्य का पीछा करते हुए हिमाचल प्रदेश सिर्फ 106 का स्कोर बनाकर सिमट गई और 88 रनों से मुकाबला गंवा दिया। कप्तान ऋषि धवन ने 51 रनों की नाबाद पारी खेली। वहीं, दीपक धपोला ने 5 विकेट लिए। उत्तराखंड के आदित्य तारे (100, 79 और 6 कैच) को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

जम्मू एंड कश्मीर के खिलाफ दिल्ली ने अपनी पहली पारी में 134/6 का स्कोर बनाया। इस मुकाबले में भी खराब रोशनी का प्रभाव रहा और चार दिनों में सिर्फ 42 ओवरों का ही खेल हुआ।

प्लेट ग्रुप

नागालैंड ने अपनी दूसरी पारी 463/7 के स्कोर पर घोषित की और मिजोरम को 319 रनों का लक्ष्य दिया। लक्ष्य का पीछा करते हुए मिजोरम की टीम ने 221/8 का स्कोर बनाया और मुकाबला बचाने में कामयाब रही।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar