विश्व भर में खेली जाने वाली टॉप-5 टी20 लीग की रेटिंग्स

ram-slam-1467890059-800

टी-20 क्रिकेट ने आज के समय में सबको अपना दीवाना बनाया हुआ हैं। इस फॉर्मेट की शुरुआत 2003 में इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने की थी। उसके बाद इसे सिर्फ एक मनोरंजन के रूप में ही देखा जाने लगा। कोई भी खिलाड़ी इस फॉर्मेट के लिए गंभीर नहीं था और वो इसे सिर्फ मस्ती के रूप में खेलते थे। हालांकि 2007 में इस फॉर्मेट में बदलाव की शुरुआत हुई और इसके परिणाम स्वरूप क्रिकेट ही बदल गया। दक्षिण अफ्रीका में हुए पहले वर्ल्ड टी20 ने इस खेल की अहमियत दिखाई और उसी के बाद से खिलाड़ियों का ध्यान इस फॉर्मेट में और बढ़ा और क्रिकेट के स्तर में बदलाव आया। उसके बाद शुरू हुआ इंडियन प्रीमियर लीग, जो कि साल दर साल और मजबूत होता गया। आईपीएल ने मानो क्रिकेट की परिभाषा ही बदल दी। फ्रैंचाइज़ सिस्टम पहली बार आया था और उसी के बाद से बाकी देशों ने भी अपनी टी20 लीग शुरू कर दी। आइये नज़र डालते हैं, वर्ल्ड की टॉप 5 लीग पर

#5 रैम स्लैम टी-20(दक्षिण अफ्रीका)

इस टूर्नामेंट की शुरुआत 2003 -04 में हुई थी और इसमें 6 टीमें हिस्सा लेती हैं। यह एक बहुत ही पुराना टूर्नामेंट है, लेकिन इतने साल के बावजूद यह अब तक कोई ज्यादा छाप नहीं छोड़ पाया है। हालांकि दक्षिण अफ्रीका के दर्शक भी इस टूर्नामेंट से दूरी बनाए रखते हैं, जिसका कारण इन टीमों में कोई भी बड़ा अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी शामिल नहीं होता। इसके अलावा कुछ बड़े दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटर्स भी व्यस्त होने के कारण पूरा टूर्नामेंट नहीं खेल पाते। अगर वो खेलते भी हैं, तो बहुत ही कम मैच। इसलिए जब भी रैम स्लैम टूर्नामेंट चल रहा होता है तो, इसकी ज्यादा कोई पब्लिसिटी नहीं होती और इसमें किसी को भी कोई दिलचस्पी नहीं होती कि कौन जीता, या कौन सा रिकॉर्ड बना। आने वाले समय में यह टूर्नामेंट और बड़ा हो सकता है, लेकिन अभी के लिए यह बहुत ही खराब हालत से गुजर रहा है। #4 नेटवेस्ट टी20 ब्लास्ट ( इंग्लैंड) blast-1467890156-800 (1) इंग्लैंड जिसने की टी20 फॉर्मेट की शुरुआत की, उसका खुद का डोमेस्टिक टी20 फॉर्मेट का स्तर लगातार नीचे गिरता जा रहा है। उसके पीछे बहुत से कारण हैं, लेकिन फिर भी अथॉरिटी अपने फॉर्मेट में कोई भी बदलाव नहीं लाना चाहती। शुरुआत से यह फॉर्मेट काफी लंबा हैं और इसमें कोई भी फ़्रैंचाइजी सिस्टम नहीं है। इस टूर्नामेंट में 18 टीमें हिस्सा लेती हैं और यह बीबीएल और आईपीएल में हिस्सा ले रही टीमों से तीन गुना ज्यादा हैं। इस लंबे फॉर्मेट से फैंस के लिए मुश्किल हो जाता है, अपनी टीम के बारें में सारी जानकारी रखने के लिए। इसके प्रसारण को लेकर भी काफी बातें होती रहीं है। सारे टी-20 मैच सिर्फ वीकेंड्स पर ही खेले जाते हैं और इस चक्कर में खिलाड़ियों के लिए खुद को तैयार रखना काफी मुश्किल हो जाता है, क्योंकि वो इसके अलावा काउंटी चैंपियनशिप और डोमेस्टिक वनडे टूर्नामेंट भी खेलते रहते हैं। हालांकि क्रिकेट की गुणवत्ता को देखते हुए ही रैंकिंग की जाती हैं, इसलिए नेटवेस्ट टी20 ब्लास्ट को रैम स्लैम से ऊपर रखा गया है। #3 बिग बैश लीग( ऑस्ट्रेलिया) bbl-1467890316-800 मॉडर्न क्रिकेट देखने हमेशा ही दर्शक पहुँचते है और जिस तरह का माहौल ऑस्ट्रेलिया में है, उसी के कारण बिग बैश लीग इतनी सफल हो पाई है। आईपीएल शुरू होने के बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया यह बात जल्द समझ गया कि अब स्टेट वाइस टी-20 टूर्नामेंट कराकर कोई फायदा नहीं हैं। उन्होंने रणनीति तैयार की और उसपर अमल किया और अब वो इसका फायदा उठा रहे है। उनकी सफलता का मुख्य कारण है कि जिस टाइम पर वो यह टूर्नामेंट कराते हैं, वो इसे क्रिसमस और नए साल की छुट्टियों के समय कराते है, जिससे लोग अपनी फैमिली के साथ मैच देखने आ सके। इस लीग में उनके पार्टनर है वॉर्नर ब्रदर्स और उनकी टार्गेट दर्शक हैं, यूथ और स्कूल जाने वाले बच्चें। इन्हीं वजहों के कारण पिछले 5 सालों में बीबीएल एक ब्रैंड के रूप में उभरा है। #2 कैरेबियन प्रीमिएर लीग(वेस्टइंडीज़) cpl-1467890446-800 इस लिस्ट में एक नाम और जुड़ा हैं और वो है कैरेबियन प्रीमियर लीग का, इस लीग ने 3 साल में ही काफी बड़ा नाम कमा लिया है। इस लीग की सफलता के पीछे बहुत से कारण हैं। उसके पीछे का सबसे कारण इसमें वेस्टइंडीज़ के स्टार प्लेयर्स खेलते हैं और दूसरे देशों के प्रसिद्ध क्रिकेटर भी इस लीग में हिस्सा लेते हैं। इसके अलावा यह चीज़ भी इस लीग को सफल बनती है कि वेस्टइंडीज़ की टीम इस समय वर्ल्ड टी20 चैम्पियंस हैं। इसमें फ़्रैंचाइजी अपनी टीम में कई इंटरनेश्नल स्टार्स को अपने साथ जोड़ती हैं, जिससे इसमें काफी रोमांच आ जाता है। वेस्टइंडीज में टी-20 क्रिकेट काफी लोकप्रिय है। वहाँ के क्राउड और सीपीएल के दौरान लोगों के जज़्बे को देखते हुए ऐसा लगता है कि उनका गोल्डन एरा वापस आ गया है। सीपीएल में सबका जज़्बा, खेल में दिलचस्पी और म्यूजिक के कारण यह काफी प्रसिद्ध है। इसकी लोकप्रियता का अंदाज़ा आप इसी बात से लगा सकते है कि शाहरुख खान और विजय माल्या अलग-अलग टीमों में अपना पैसा लगा रहे हैं। #1 इंडियन प्रीमीयर लीग mumbai-indians-1467890679-800 यह बात हमेशा ही कही जाती है कि इंडियन प्रीमीयर लीग ने इस फॉर्मेट को एक पहचान दी और तब से लेकर इसें बनाकर भी रखा हैं। इस लीग के साथ हमेशा विवाद जुड़े रहे हैं, लेकिन इससे इसकी लोकप्रियता में कोई असर नहीं आया। बीसीसीआई आईपीएल को ऐसे समय कराती है, जब को इंटरनेशनल गेम्स नहीं चल रहे होते और इससे कई बड़े खिलाड़ी इस लीग का हिस्सा बन जाते हैं। भारत जैसे देश में जहां लोग क्रिकेट के लिए दीवाने हैं और उन्हें बस बहाना चाहिए क्रिकेट देखने का, इसलिए आईपीएल इतना सफल हो पाया है। आईपीएल एक ऐसा टूर्नामेंट है, जिसे देखकर दूसरे देशों को सीखने की ज़रूरत है। लेखक- मनीष पाठक, अनुवादक- मयंक महता

App download animated image Get the free App now