Create
Notifications

मैं टीम में बिना किसी बात के दखलंदाजी नहीं करता हूँ: रवि शास्त्री

Rahul
SENIOR ANALYST
Modified 21 Sep 2018
भारतीय टीम के नए कोच रवि शास्त्री ने हाल ही में दिए गए एक इंटरव्यू में अपनी कोच की भूमिका को मानते हुए, अपने और भारतीय खिलाड़ियों के बीच के रिश्ते को एक अलग नजरिये से पेश किया है। भारतीय टीम के कोच बनने के बाद रवि शास्त्री अपने पहले पड़ाव श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज 3-0 से जीतकर कोच की परीक्षा में 100 प्रतिशत पास हो गए हैं। टाइम्स ऑफ़ इंडिया को दिए एक इंटरव्यू में रवि शास्त्री ने मौजूदा भारतीय टेस्ट टीम के बारे कहा कि मैं बीते कुछ दिनों के बारे में कुछ नहीं कह सकता कि टीम के अंदर क्या हुआ लेकिन कोच बनने के बाद जो मैंने महसूस किया है, वह यही है कि मैं पहले भी भारतीय टीम के साथ मैनेजर कर रूप में था और अब कोच हूँ तो, मैंने भारतीय टीम में कुछ भी बदलाव नहीं देखा है। सभी खिलाड़ियों को एक दूसरे पर बहुत ज्यादा भरोसा है। कोच रवि शास्त्री ने भारतीय टीम के खिलाड़ियों के साथ अपने रिश्तों को लेकर कहा, "मैं बस इतना कहना चाहता हूँ कि सभी खिलाड़ियों को मालूम है कि उनके पास कोई है, जिससे जाकर वह कुछ भी बातें कर सकते हैं। अगर मैं इन सभी खिलाड़ियों से मैदान में 100% खेल की मांग करता हूँ तो सभी जानते हैं कि वह इस काम को कर सकते हैं और उन्हें पता है कि मैं ये सब क्यों बोल रहा हूँ। उसी समय के दौरान, मैं बिना किसी बात के उनके कार्य में दखलंदाजी भी नहीं दिखता हूँ।" चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान काफी जद्दोजहद के बाद अनिल कुंबले को भारतीय टीम के कोच पद से हटाने के साथ ही रवि शास्त्री को टीम का नया कोच बनाया गया था। कोच की भूमिका में श्रीलंका दौरा रवि शास्त्री का पहला दौरा है, जिसमें उनकी अगुआई वाली भारतीय टीम ने मेहमान टीम का सीरीज में 3-0 से सफाया कर दिया। रवि शास्त्री का भारतीय टीम के खिलाड़ियों के प्रति इस प्रकार का व्यहवार देखने लायक है। साथ ही उनका यह रिश्ता कब तक बना रहता है, यह भी देखना दिलचस्प रहेगा।
Published 16 Aug 2017
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now