Create
Notifications

अगर हम कुछ अलग करते हैं तो कुछ मैच हारने के लिए तैयार हैं: विराट कोहली

SENIOR ANALYST
Modified 21 Sep 2018
लगभग 9 साल हो गए हैं जब दांबुला के मैदान से ही विराट कोहली ने एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा था। आज एक बार फिर से वो उसी मैदान पर श्रीलंका के खिलाफ कप्तान के तौर पर उतरेंगे। कप्तान कोहली टेस्ट की ही तरह वनडे सीरीज में भी शानदार जीत दर्ज करना चाहेंगे और 2019 वर्ल्ड कप की तैयारियों को पुख्ता करने की कोशिश करेंगे। श्रीलंका और भारत के बीच 5 मैचों की वनडे सीरीज का पहला मैच आज दांबुला में खेला जाएगा। 2019 वर्ल्ड कप में सीधे क्वालीफाई करने के लिए श्रीलंका को सीरीज के 2 मैच जीतने हर हाल में जरुरी हैं। वहीं दूसरी तरफ भारतीय कप्तान विराट कोहली वर्ल्ड कप की टीम का खाका तैयार करने की कोशिश करेंगे। पहले वनडे मैच से पहले उन्होंने कहा कि ' ये हमारे लिए एक टाइम फ्रेम है ना कि अपोजीशन। आपको खिलाड़ियों को उनकी भूमिका के लिए समय देना होगा। ताकि वो अच्छे से उस रोल में ढल सकें और ये समझ सकें कि वर्ल्ड कप के लिए क्या जरुरी है। ये तब होता है जब आप एक टीम के साथ प्रयोग करने लगते हैं। आपको हर मैच जीतना जरुरी है क्योंकि हमसे उम्मीदें काफी हैं।' कोहली ने कहा कि' एक ग्रुप के तौर पर आपकी आलोचना होगी जब आप कुछ अलग करने की कोशिश करेंगे और मैच हारेंगे लेकिन हम चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार हैं। हम रिस्क उठाने के लिए तैयार हैं। अगर कुछ अलग करने की कोशिश में हम कुछ मैच हारते भी हैं तो हम उसके लिए तैयार हैं। अब हमें तैयारियों में जुट जाना चाहिए। भारतीय टीम को हालांकि कुछ चीजों पर गौर करना होगा जैसे- केएल राहुल और मनीष पांडेय में से मध्यक्रम का बल्लेबाज कौन होगा। चोटिल होने से पहले के एल राहुल काफी अच्छी फॉर्म में थे। मनीष पांडेय भी अच्छी फॉर्म में हैं। इंडिया A के लिए उन्होंने साउथ अफ्रीका दौरे पर काफी रन बनाए। उन्होंने 3 अर्धशतकीय पारियां खेली। अगर मनीष पांडेय टीम में शामिल होते हैं तो फिर केदार जाधव को नंबर 6 पर बल्लेबाजी के लिए आना पड़ सकता है। वहीं के एल राहुल के बारे में कप्तान कोहली ने कहा कि' के एल राहुल एक जबरदस्त खिलाड़ी हैं। चोटिल होने से पहले तीनों ही फॉर्मेट में उन्होंने लगातार रन बनाए। दुर्भाग्यवश वो चोटिल हो गए और मनीष पांड्ये के मौका मिला। निश्चित तौर पर के एल राहुल मध्यक्रम में खेलेंगे।' कोहली ने कहा कि हमने वनडे और टी-20 के लिए कोई पैटर्न नहीं सेट किया है कोई भी बल्लेबाज किसी भी क्रम पर खेल सकता है। मनीष पांडेय जैसे प्लेयरों ने मौके को अच्छी तरह से भुनाया है। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में शानदार शतक जड़ा और हमें उनके टैलेंट पर पूरा विश्वास है। तीनों ही बल्लेबाजों को 2 स्पॉट के लिए मुकाबला करना होगा। किसी भी खिलाड़ी के जगह के लिए कोई गारंटी नहीं है। उन्होंने कहा कि जितनी ज्यादा प्रतिस्पर्धा होगी उतना ही टीम के लिए बेहतर होगा। एक और चीज के बारे में कोहली ने बताया कि शिखर धवन और रोहित शर्मा फर्स्ट च्वॉइस ओपनर होंगे। हालांकि वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज में अजिंक्या रहाणे ने ओपनिंग करते हुए टीम के लिए सबसे ज्यादा रन बनाए थे लेकिन उन्हे अभी इंतजार करना पड़ सकता है। कोहली ने स्पष्ट किया कि वो टीम के बैकअप ओपनर होंगे। कोहली ने कहा कि' शिखर धवन कुछ महीने पहले अच्छी फॉर्म में नहीं थे लेकिन जब उन्होंने वापसी की तो आपने देखा किवो क्या कर सकते हैं। ये समझना मुश्किल हो जाता है कि उस स्थिति में आप क्या कर सकते हैं। उसने वापसी की और चैंपियंस ट्रॉफी में सबसे ज्यादा रन बनाकर गोल्डन बैट जीता। उसने टेस्ट मैचो में भी रन बनाए। हमे पता है कि शिखर धवन और रोहित शर्मा की जोड़ी ने कई मैचो में शानदार शुरुआत दी है। हमे अजिंक्या रहाणे की काबिलियत भी पता है और उसे भी पता है। इस समय वो तीसरे ओपनर के तौर पर है। कोहली ने कहा कि हम यहां पर अंजिक्या रहाणे का पूरा साथ देंगे। उसके बल्लेबाजी क्रम में काफी बदलाव हुए हैं। जो कि उसके लिए सही नहीं है क्योंकि छोटे फॉर्मेट में वो ओपनिंग करता है। हालांकि वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज में उसने मौके का पूरा फायदा उठाया और मैन ऑफ द् सीरीज का अवॉर्ड जीता। इसलिए वो लगातार टीम में है।
Published 20 Aug 2017
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now