अजिंक्य रहाणे ने टी20 टीम से बाहर होने के बाद पहली प्रतिक्रिया दी

भारतीय बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे को 7 अक्टूबर से शुरू होने वाली 3 मैचों की टी20 सीरीज में नहीं चुना गया, इसके बात करते हुए रहाणे ने कहा कि वो टीम मैनेजमेंट और चयनकर्ताओं के फैसले का सम्मान करते हैं। रहाणे ने पत्रकारों को कहा, "हम बहुत सारी क्रिकेट खेलते हैं। टीम मैनेजमेंट और चयनकर्ता कुछ फैसला लेते हैं, हमें उनकी इज्जत करनी चाहिए। जब भी प्रतिस्पर्धा होती है, तो हमेशा ही अच्छा करने के लिए प्रेरणा मिलती है। जिस भी खिलाड़ी को मौका मिला है, वो टीम के लिए अच्छा करें। मुझे प्रतिस्पर्धा पसंद है।" हाल ही मे ऑस्ट्रेलिया के साथ खत्म हुई 5 मैचों की सीरीज में दाएं हाथ के बल्लेबाज ने काफी रन बनाए और 5वें मैच में उन्होंने इस सीरीज की लगातार चौथा अर्धशतक भी जमाया। भारत ने आखिरी मैच नागपुर में 7 विकेट से अपने नाम किया। अपनी निजी फॉर्म के बारे में बात हुए रहाणे बोले कि उन्हें जो भी जिम्मेदारी दी गई और जिस तरह से वो उस मौकों को फायदा उठाने में कामयाब उठाए, वो उससे काफी खुश हैं। वेस्ट इंडीज सीरीज में शानदार प्रदर्शन करने वाले रहाणे ने इस सीरीज में अपनी फॉर्म को अच्छा उदारहण पेश किया और इस सीरीज में 4 अर्धशतक लगाए। हालांकि अर्धशतक को शतक में न तब्दील करने के बारे में पूछे जाने पर रहाणे ने कहा, "मैं फिफ्टी को सेंचुरी में बदल सकता था, लेकिन मैं उस शुरूआत को बड़ी पारी में तब्दील नहीं कर सका। रोहित के साथ मैंने तीन शतकीय साझेदारी की और हम टीम को अच्छी शुरूआत दिलाने में कामयाब हुए। रहाणे ने इस बात को कबूला कि टीम का सबसे बड़ा लक्ष्य 2019 विश्व कप है और उसके लिए टीम एक बारी में एक सीरीज के बारे में ही सोचेगी। अजिंक्य रहाणे महात्मा गांधी के जन्म दिवस के मौके पर स्वचछता अभियान के तहत मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के पास कोंप्लेक्स सेंटर को साफ करने के लिए आए हुए थे।

Edited by Staff Editor