Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

5 ऐसे संन्यास जिन्होंने क्रिकेट की दुनिया को सकते में डाल दिया

  • एबी डीविलियर्स के संन्यास ने सभी को हैरान कर दिया है लेकिन उनके अलावा इन खिलाड़ियों को भी ज़रा याद कीजिए
Modified 20 Dec 2019, 18:40 IST

संन्यास कई बार क्रिकेट की दुनिया और प्रशंसकों की भावनाओं में एक खालीपन छोड़ जाता है। ऐसा हाल ही में देखने को मिला जब दक्षिण अफ्रीका के महान खिलाड़ी एबी डीविलियर्स के संन्यास ने क्रिकेट की दुनिया भर को हैरत में डाल दिया। 114 टेस्ट और 228 एकदिवसीय और 78 टी-20 अंतर्राष्ट्रीय के अनुभवी डीविलियर्स ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से तत्काल प्रभाव से सेवानिवृत्ति की घोषणा कर दी। आधुनिक युग के सबसे महान एंटरटेनर में से एक के रूप में जाने जाने वाले डीविलियर्स का कौशल उम्मीदों से परे है और वह वनडे में सबसे तेज 50, 100 और 150 के लिए रिकॉर्ड अपने नाम किए हुए है। दक्षिण अफ्रीका के लिए भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज़ जीतने में अहम भूमिका निभाने वाले एबी डिविलियर्स का संन्यास ऐसे समय में आया है जब हर कोई उनसे 50 ओवरों के विश्वकप में जीत दिलाने की उम्मीद कर रहा था, जो कि उनका लंबे समय से एक सपना रहा है। हालांकि, डीविलियर्स एकमात्र क्रिकेटर नहीं हैं, जिन्होंने अपनी अचानक संन्यास के साथ विश्व क्रिकेट को सकते में डाल दिया है। आज इस आर्टिकल में हम उन प्रसिद्ध क्रिकेटरों पर एक नज़र डालेंगे जिनके अचानक रिटायर होने के निर्णय ने क्रिकेटिंग दुनिया को चौंका दिया।

#5 महेन्द्र सिंह धोनी



  भारत बॉक्सिंग डे टेस्ट में ड्रॉ के लिए जूझ रहा था जब उनके कप्तान एमएस धोनी ने 24 रनों पर टीम की नैय्या को किनारे पहुंचा रहे थे तभी 4 ओवर शेष रहते हुए मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में मैच को ड्रॉ पर समाप्त कर दिया गया। धोनी ने अपने ट्रेडमार्क स्टाइल में एक स्टंप को उखाड़ फेंक दिया जैसा कि वह हमेशा किया करते थे और मैच के बाद के कप्तान की प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने अपने संन्यास के बारे में कोई आशंका व्यक्त नहीं जताई। इस बात का खुलासा बीसीसीआई ने एक विज्ञप्ति जारी करते हुए किया, जिसमें ‘सभी प्रारूपों में खेलने का तनाव’ को टेस्ट क्रिकेट से सेवानिवृत्त होने का कारण बताया। धोनी भारत के सबसे सफल कप्तान में से एक रहे हैं। उन्होंने 60 टेस्ट कार्यकाल में 27 से अधिक जीत में टीम इंडिया का नेतृत्व किया। हालांकि विदेशी दौरे के साथ भारत ने 2011 से 22 टेस्ट मैचों में से केवल दो जीते और 13 से हार गए।
1 / 5 NEXT
Published 30 May 2018, 13:05 IST
Advertisement
Fetching more content...