Create
Notifications

वर्नन फिलैन्डर सबसे कठिन गेंदबाज: पोंटिंग

Naveen Sharma

ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन टेस्ट मैचों कि सीरीज़ का दूसरा टेस्ट मैच होबार्ट में खेला जा रहा है। इस मैच के पहले दिन ऑस्ट्रेलिया की बल्लेबाजी 85 रन बनाकर ताश के पत्तों की तरह ढह गई थी। दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज वर्नन फिलैन्डर ने कहर बरपाते हुए 5 विकेट झटके। इस पर पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए फिलैन्डर को अपने करियर में सामना करने वाला सबसे मुश्किल गेंदबाज बताया है। BT स्पोर्ट से बातचीत में 41 वर्षीय पोंटिंग ने कहा "फिलैन्डर एक ऐसे गेंदबाज है जिनकी स्विंग के बारे में आपको कोई क्लू नजर नहीं आता। मेरे लिए वे एक सबसे मुश्किल गेंदबाज रहे हैं। अन्य गेंदबाजों की हवा में स्विंग होने वाली गेंद से आपको कुछ अनुमान लग जाता है कि गेंद किस ओर जा रही है। उनकी गेंद स्विंग न होकर हाथ के पीछे से आती है जिससे गेंद की दिशा ठीक तरह से नजर नहीं आती।" पोंटिंग ने कहा कि फिलैंडर की गेंद किस तरफ जा रही है इसका पता लगाना मुश्किल हो जाता है। हमने उनकी दो एक जैसी गेंदें रीप्ले में देखी, जो एक ही जगह पर पड़ने के बाद अलग-अलग दिशाओं में चली गई। होबार्ट टेस्ट मैच में महत्वपूर्ण टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरी कंगारू टीम दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाजी के सामने टिक नहीं सकी और मात्र 85 रनों पर ऑल आउट हो गई। कप्तान स्मिथ के अलावा किसी भी बल्लेबाज ने पिच पर खड़े होकर संघर्ष नहीं किया। स्मिथ ने नाबाद 48 रन बनाए। पोंटिंग ने इसके बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम को सहानुभूति प्रदान की। रिकी पोंटिंग द्वारा फिलैन्डर के लिए यह एक आश्चर्यजनक बयान है। पोंटिंग ने फिलैन्डर के साथ खेलने वाली दक्षिण अफ्रीकी टीम के खिलाफ 4 टेस्ट मैचों में 11.71 की औसत से 82 रन बनाए हैं। इसके अलावा पोंटिंग और भारतीय ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह के बीच भी मुक़ाबला देखने को मिलता था। इसके अलावा भारतीय तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा ने भी पोंटिंग को खासा परेशान किया है।


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...